Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > अब श्रीकृष्ण नगर में दूषित पानी की शिकायत, लोग हो रहे बीमारी के शिकार

अब श्रीकृष्ण नगर में दूषित पानी की शिकायत, लोग हो रहे बीमारी के शिकार

पूर्व कांग्रेस विधायक तोमर पहुंचे जनसुनवाई में, कलेक्टर के निर्देश पर मौके पर पहुंचे अधिकारी, पानी के सेम्पल लिए

ग्वालियर। शहर में पीले, बदबूदार और गंदे पानी की शिकायतों में लगातार वृद्धि हो रही है। ग्वालियर पूर्व विधानसभा की मेहरा कॉलोनी में आई गंदे पानी की समस्या से अभी प्रशासन पूरी तरह उबर भी नहीं पाया था कि ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र के श्रीकृष्ण नगर के लोग दूषित पानी का शिकार हो गए। घरों में लगातार पहुंच रहे गंदे पानी से यहाँ लोग चर्म रोग के शिकार हो रहे हैं। इन लोगों की समस्या और गंदा पानी लेकर पूर्व विधायक तोमर कलेक्ट्रेट जनसुनवाई में पहुँच गए। जिसके बाद कलेक्टर ने प्रशासनिक अमला यहाँ जांच के लिए भेजा।


ग्वालियर शहर में पिछले कई महीनों से लोगों के घरों पर गन्दा, पीला और बदबूदार पानी पहुँच रहा है लेकिन नगर निगम प्रशासन आँख बंद किये बैठा है। मेहरा कॉलोनी की घटना के बाद नगरीय प्रशासन मंत्री माया सिंह की फटकार के बाद नगर निगम अमला वहां हरकत में आया और सफाई के साथ साथ सीवर और पानी की लाइन की जांच में जुट गए। प्रशासन अभी मेहरा कॉलोनी की समस्या से पूरी तरह उबर भी नहीं पाया था कि ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र के गदाईपुरा के श्रीकृष्ण नगर से दूषित पानी की शिकायत पहुँच गई। यहाँ पिछले कई दिनों से पीला बदबूदार गंदा पानी आ रहा है। जिसके कारण लोग बीमार हो रहे हैं किसी की आँख में तकलीफ है तो कोई और रोग से पीड़ित है। ज्यादातर लोग चर्म रोग से पीड़ित हैं और इलाज करवा रहे हैं। लोगों की समस्या लेकर पूर्व विधायक प्रद्युमन सिंह तोमर कलेक्ट्रेट जनसुनवाई में गन्दा पानी लेकर पहुँच गए। श्री तोमर की बात सुनने के बाद कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम नरोत्तम भार्गव, तहसीलदार और पीएचई अमले के साथ मौके पर पहुँच गए। खास बात ये थी कि जिस समय प्रशासनिक अमला पहुंचा उससे कुछ देर पहले ही कर्मचारी चौक पड़े सीवर चेम्बरों को साफ करने पहुँच गए।

प्रशासनिक अफसरों ने यहाँ घर घर जाकर पानी देखा और घर में बीमार लोगों का हाल जाना। यहाँ लोग अपनी समस्या बताते समय थोड़ा उत्तेजित भी हो गए उनका कहना था कि ना तो पार्षद सुनते हैं ना नगर निगम अधिकारी , वे किसके पास समस्या लेकर जाएँ । अधिकारियों के निर्देश पर पीएचई अमले ने गंदे पानी के सेम्पल लिए। एसडीएम भार्गव ने कहा कि पानी गंदा आ रहा है जिसकी जांच करा ली जाएगी जो लोग बीमार हैं उनके इलाज की व्यवस्था भी की जा रही है। उधर पूर्व विधायक तोमर ने चेतावनी दी कि यदि गंदे पानी की समस्या दूर नहीं हुई जनता को लेकर सड़कों पर फिर उतर जायेंगे।

Updated : 2018-08-28T23:35:30+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top