Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > एक हजार बिस्तर के अस्पताल के भूमिपूजन को लेकर टकराव

एक हजार बिस्तर के अस्पताल के भूमिपूजन को लेकर टकराव

एक हजार बिस्तर के अस्पताल के भूमिपूजन को लेकर टकराव
X

सांसद अनूप मिश्रा ने कहा : सडक़ों पर करेंगे घेराव

ग्वालियर, विशेष प्रतिनिधि

जयारोग्य चिकित्सालय समूह के प्रस्तावित एक हजार बिस्तरों के अस्पताल का तीसरी बार कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव एवं सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा 5 मार्च को भूमि पूजन किया जाएगा। इसकी जानकारी मिलने पर विरोध स्वरूप भाजपा सामने आई है। शनिवार को मुरैना सांसद अनूप मिश्रा एवं महापौर विवेक नारायण शेजवलकर ने पत्रकारवार्ता लेकर इस तरह बार-बार भूमि पूजन किए जाने का विरोध किया है। श्री मिश्रा ने चेतावनी दी है कि भूमि पूजन होता है तो वे सडक़ों पर आकर विरोध करेंगे और कार्यक्रम स्थल का घेराव भी करेंगे। भाजपा के इन तेवरों से टकराव की स्थिति बन सकती है।

श्री मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस तानाशाहीपूर्ण रवैया अपना रही है।जिस अस्पताल के लिए 4 नवंबर 2009 को तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं उनके चिकित्सा शिक्षा मंत्री रहते शिलान्यास किया गया था। अब जब काम शुरू हो चुका,तब उसका श्रेय लेने सिंधिया शिलान्यास कैसे कर सकते हैं। उनके समय 116. 80 करोड़ रुपए की डीपीआर मंजूर हुई थी। साथ ही पोटरीज की जमीन उद्योग विभाग से लेकर इसके लिए 30 लाख रुपए का भुगतान किया गया था। तत्पश्चात यह जमीन राजस्व से होकर जयारोग्य समूह को मिली थी। बाद में कैबिनेट ने इस अस्पताल के निर्माण के लिए मंजूरी दी। साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री ने कार्डियक सेंटर, गर्ल्स हॉस्टल, व जीडीए द्वारा निर्मित प्रतिक्षालय का लोकार्पण किया था। उन्होंने आरोप लगाया कि अब यह सरकार कोई नए काम नहीं करना चाहती, बल्कि पुराने पत्थरों को उखाडक़र नए पत्थर लगाना चाह रही है। ऐसे कृत्य की भत्सर्ना की जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि श्री सिंधिया शिलान्यास कर अस्पताल का श्रेय लेना चाहते हैं, जो नहीं होने दिया जाएगा। वे स्वयं मौके पर पहुंचकर इसका पुरजोर विरोध करते हुए घेराव भी करेंगे।

ताजा शिकार करना चाहिए: शेजवलकर

इस मौके पर उपस्थित महापौर विवेक शेजवलकर ने कहा कि जिस कार्य का भूमि पूजन हो चुका उसके लिए दोबारा नहीं आना चाहिए। उन्होंने कहा कि शेर हमेशा ताजा शिकार करता है, बासी मांस नहीं खाता, इसलिए कांग्रेस को भी ताजा शिकार कर शिलान्यास अथवा उद्घाटन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि वे इस समारोह में नहीं जाएंगे।

रोपवे में सिंधिया बन रहे रोड़ा

सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को आड़े हाथों लेते हुए श्री मिश्रा ने कहा कि रोपवे के लिए जैसे ही काम होने की बात आती है तो पुरातत्व की ओर से अनापत्ति का काम सिंधिया द्वारा रुकवा दिया जाता है। इससे रोपवे का काम रुका पड़ा है। श्री मिश्रा ने कहा कि उनके पूर्वजों ने जरूर विकास कार्य कराए हैं,लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया का विकास में कोई योगदान नहीं है। पत्रकारवार्ता में जीडीए के पूर्व अध्यक्ष अभय चौधरी साडा के पूर्व अध्यक्ष राकेश जादौन, पार्षद दिनेश दीक्षित, बलवीर सिंह तोमर आदि मौजूद थे।

Updated : 2019-03-03T12:36:21+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top