Top
Home > Lead Story > आज देश में होगा 'अभिनंदन'

आज देश में होगा 'अभिनंदन'

आज देश में होगा अभिनंदन
X

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने संसद में पायलट को रिहा करने की घोषणा की

नई दिल्ली, विशेष संवाददाता


अभिनंदन को आज शुक्रवार को रिहा कर दिया जाएगा, शांति की खातिर। देानों देशों के बीच तनाव की लकीरें खिचीं थीं। युद्ध जैसे हालात बन पड़े थे कि अचानक ऐसा क्या हुआ कि पाकिस्तानी संसद में प्रधानमंत्री इमरान खान को झुकना पड़ा और भारतीय पायलट को वापस भेजने का ऐलान करना पड़ा। यह सवाल हर एक के जेहन में है और विश्व समुदाय के बीच भी। कल तक दोनों देश एक दूसरे पर सीमा रेखा लांघने का आरोप लगा रहे थे। इन आरोपों के चलते पाकिस्तान में लोग रात भर जागते रहे थे। जंगी जहाजों की आवाजें उन्हें डराती रहीं थीं। उम्मीद और चिंता के बीच फिजां में सवाल तैरता रहा था कि सूरत कैसे बदलेगी? विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की सूझबूझ और भारत की ओर से पक्ष रखना क्या बड़ा मोड़ माना जाए? जिन्होंने चीन की जमीन से पाकिस्तान को ललकारा। यह ललकार क्या वाशिंगटन और पेरिस तक नहीं जा पहुंची? अगर हां, तो डोनाल्ड ट्रम्प को कहना पड़ा जल्द ही भारत और पाकिस्तान शांति के प्रस्ताव पर विचार करेंगे। ट्रम्प का यह बयान तमाम उम्मीदें लेकर आया। सुषमा स्वराज के बयान को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री ने सकारात्मक लिया। फैसला हुआ कि शुक्रवार को भारतीय पायलट अभिनंदन को रिहा कर दिया जाएगा। इसके साथ ही जंग छिडऩे की आशंका भी दूर हो जाएगी और अशांति के बादल भी छट जाएंगे। हालांकि यह कहना अभी मुश्किल है कि पीपुल टू पीपुल रिलेशन बनने शुरू हो जाएंगे, इसके लिए वक्त चाहिए। क्योंकि वक्त ही घाव भरने वाला सबसे बड़ा मरहम होता है। इधर, भारत में गुरुवार को दिनभर गहमागहमी रही। जब तक शत्रुता खत्म नहीं हो जाएगी तब तक पायलट को नहीं छोड़ा जाएगा, यह तकनीकी बहस का हिस्सा था लेकिन अब सच्चाई यही है कि पायलट अभिनंदन रिहा हो रहे हैं और आज घर वापस आ रहे हैं। इस बीच 1999 के कारगिल युद्ध के दौरान फ्लाइट लेफ्टिनेंट नचिकेता के पाकिस्तान की सीमा में चले जाने के बाद पाकिस्तान ने रिहा कर दिया था तब इस फैसले को अमल में लाते-लाते कोई सप्ताह भर का समय लगा था। जी पार्थसारथी तब उच्चायुक्त थे। पार्थसारथी कहते हैं तब जमीनी हकीकत कुछ आज की स्थिति से अलग थी। तब हम नियंत्रण रेखा के अंदर से लड़ रहे थे। इस बार हमने नियंत्रण रेखा पार करके उन्हें चौंकाया है।

यह पायलट प्रोजेक्ट है रियल अभी बाकी


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विज्ञान भवन में शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार समारोह में इशारों इशारों में कहा कि जिस तरह से आप लोग किसी प्रयोग के लिए पायलट प्रोजेक्ट के तहत काम करते हैं और बाद में रियल काम करते हैं,ठीक वैसे ही अभी तो पायलट प्रोजेक्ट पर काम हुआ है,अभी रियल करना बाकी है। अभी तो ये अभ्यास था। इन शब्दों और बयान के जरिए वो बहुत कुछ गए।

दोनों सिरों से खुला हुआ एक ऐसा बयान जिसकी व्याख्या हर कोई अपने हिसाब से करता है।

तीनों सेनाओं के प्रमुखों ने दिए सबूत

पाक अधिकृत कश्मीर और बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर कार्रवाई के बाद भारतीय वायु सेना,थल सेना और नौसेना की ओर से बुधवार को हुई घटना पर साझा प्रेस वार्ता बुलाई गई और पाकिस्तान के झूठ को बेनकाब किया गया। भारतीय वायुसेना की तरफ से एयर वाइस मार्शल आर जी के कपूर ने कहा कि घटना के बारे में पाकिस्तान की तरफ से लगातार झूठ बोला गया। थल सेना के मेजर जनरल सुरेंदर सिंह महल ने कहा, पाकिस्तान ने 26 फरवरी से 35 बार सीजफायर का उल्लंघन किया। उन्होंने इसी तारीख को रात में भी संघर्षविराम तोड़ा, जिसका जवाब भारतीय सेनाओं ने कठोरता से दिया। 27 को उनकी वायुसेना ने हमारे सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश की। इनमें ब्रिगेड मुख्यालय, बटालियन मुख्यालय और दूसरे सैन्य ठिकाने शामिल थे। नेवी के रियर एडमिरल दलबीर सिंह गुजराल ने कहा, पाकिस्तान अगर समुद्री सीमा में किसी भी तरह की कोई गुस्ताखी करता है तो मैं भरोसा दिलाता हूं कि इसका कठोरता से जवाब दिया जाएगा। हम अपने देश और जनता की सुरक्षा का पूरा भरोसा दिलाते हैं। हम सब एकसाथ मिलकर खड़े हैं।

आतंकी मसूद के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र में प्रस्ताव


संयुक्त राष्ट्र, एजेंसी। पुलवामा हमले की जिम्मेदारी लेने वाले आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने के लिए संयुक्त राष्ट्र (यूएन) की सुरक्षा परिषद में अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने प्रस्ताव पेश किया। मसूद पर प्रतिबंध लगाने के लिए संयुक्त राष्ट्र में पेश किए गए प्रस्ताव पर चीन ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। फ्रांस, अमेरिका और ब्रिटेन ने अपने प्रस्ताव में मसूद की वैश्विक यात्राओं पर प्रतिबंध लगाने और उसकी सभी संपत्ति जब्त करने की मांग भी रखी है। 14 फरवरी को कश्मीर के पुलवामा में हुए फिदायीन हमले में भारतीय सुरक्षाबलों के 40 जवान शहीद हो गए थे। जैश ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी। उल्लेखनीय है कि यह चौथा मौका है जब मसूद के खिलाफ प्रस्ताव लाया गया। इससे पहले भी तीन बार प्रस्ताव पेश किया गया लेकिन हर बार चीन ने अड़ंगा लगाया मसूद पर प्रतिबंध लगाने के लिए पिछले 10 साल में चौथी बार प्रस्ताव लाया गया है। 2009 में भारत ने प्रस्ताव रखा था। 2016 में भारत, अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन के समर्थन से दूसरी बार प्रस्ताव लाया। तीसरी बार 2017 में भी ऐसा ही प्रस्ताव लाया गया। चीन ने हर बार इसे तकनीकी तौर पर गलत बताकर रोक दिया।

जल्द खत्म होगा तनाव : ट्रम्प

ट्रम्प ने कहा- हम भारत और पाकिस्तान की मदद करने के लिए प्रयास कर रहे हैं। हम दोनों को रोकने की कोशिश कर रहे हैं और हमारे पास वहां से अच्छी खबर आ रही है। उम्मीद है कि तनाव जल्द ही खत्म हो जाएगा। यह लंबे समय से चला आ रहा है और अब ये खत्म हो जाएगा।

हटाए पायलट के वीडियो

सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने यूट्यूब से विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान से संबंधित 11 वीडियो लिंक हटाने के लिए कहा है। इस आशय की जानकारी देते हुए सरकारी सूत्रों ने कहा कि लिंक हटा लिया गया है। संपर्क किए जाने पर गूगल के प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी सरकारी अधिकारियों के वैध कानूनी आग्रह का यथासंभव पालन करती है। हमारी दीर्घकालिक नीति त्वरित रूप से ऐसी सामग्री हटाने की है। गूगल ही यूट्यूब का संचालन करती है। गिरफ्तार पायलट का वीडियो इंटरनेट पर रिलीज किया गया जिसे ट्विटर और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया पर लोगों ने साझा किया।




Updated : 2019-03-01T12:47:31+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top