Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > बेटी को छेडऩे वाले आरोपी की पीट-पीटकर हत्या

बेटी को छेडऩे वाले आरोपी की पीट-पीटकर हत्या

बेटी को छेडऩे वाले आरोपी की पीट-पीटकर हत्या
X

घायल किशोर ने उपचार के दौरान तोड़ा दम

ग्वालियर, न.सं.

दुकान पर सिगरेट लेने आए किशोर ने दुकानदार की बेटी के साथ छेड़छाड़ कर दी। बेटी की चीख-पुकार सुनकर मौके पर पहुंचे पिता-पुत्र और दामाद ने लाठी-डंडों से पीट-पीटकर किशोर को मरणासन्न कर लिया। इसके बाद हमलावर किशोर को मौके पर ही पड़ा छोडक़र फरार हो गए। घायल किशोर ने अस्पताल में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर उनकी सगरर्मी से तलाश प्रारंभ कर दी है।

गिरवाई थाना क्षेत्र स्थित फटाखा मार्केट के सामने अलबेल बघेल निवासी सिद्ध बाबा की पहाड़ी की चाय-नाश्ता की दुकान है। विगत 22 फरवरी को अलबेल की दुकान पर पवन पुत्र प्रीतम परिहार 17 वर्ष निवासी पड़ाव वाले हनुमान पनिहार सिगरेट लेने के लिए गया था। बताया गया है कि सिगरेट पीने के बाद पवन दुकान के पीछे खाली प्लॉट में चला गया, जहां अलबेल की नाबालिग बेटी के साथ उसने छेड़छाड़ कर दी। नाबालिग की चीख-पुकार सुनकर उसके पिता अलबेल, उसका बेटा ब्रजेश और दामाद जयेन्द्र बघेल पहुंच गए। पिता-पुत्र और दामाद ने पवन को मौके पर ही पकडक़र उसकी जमकर मारपीट कर दी। हमलावरों ने पवन को डंडों से पीट-पीटकर मरणासन्न कर दिया और उसे वहीं प्लॉट में पड़ा छोड़ दिया। पवन पर हमले की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और उसे अस्पताल में भर्ती कराया, जहां पवन ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। पवन की मौत का पता चलते ही पुलिस अस्पताल पहुंच गई। बताया गया है कि हमलावर अलबेल, उसके बेटे ब्रजेश व जयेन्द्र बघेल ने सिर में डंडे मारकर पवन को बेसुध कर दिया था। पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

पवन दो दिन पहले भी आया था सिगरेट पीने

पवन 20 फरवरी को भी अलबेल की दुकान पर गया था और सिगरेट पीने के बाद वहां से चुपचाप चला गया था। पुलिस का कहना है कि अलबेल की उस समय बेटी दुकान पर थी, लेकिन उस दिन पवन ने उसके साथ कोई हरकत नहीं की थी। घटना वाले दिन पवन सिगरेट पीने के बाद दुकान से चला गया था, लेकिन वह दुकान के पीछे प्लॉट में कैसे पहुंच गया और लडक़ी के साथ छेड़छाड़ क्यों कर दी? इसकी जांच-पड़ताल की जा रही है। लडक़ी के पिता अलबेल ने छेड़छाड़ की रिपोर्ट दर्ज करा दी थी, जिसमें पवन आरोपी था।

भागने नहीं दिया हमलावरों ने

पवन ने तीनों हमलावरों से जान बचाने के लिए प्लॉट से भागने का काफी प्रयास किया, लेकिन उसको वहां से निकलने नहीं दिया। तीनों ने मिलकर पवन को पटक-पटककर अधमरा कर दिया था। पवन हमलावरों के आगे कोई विरोध नहीं कर सका।

मृतक के नहीं हो सके बयान

पवन परिहार घटना वाले दिन से ही बेहोश था। इस कारण पुलिस उसके बयान दर्ज नहीं कर सकी, जबकि छेड़छाड़ की पीडि़ता के बयान दर्ज कर लिए गए हैं। पुलिस को मामला छेड़छाड़ का नहीं लग रहा है। दिनदहाड़े ही नाबालिग के साथ पवन अश्लील हरकत नहीं कर सकता। पुलिस जांच-पड़ताल के बाद ही हत्या और छेड़छाड़ की वजह बता सकेगी।

इनका कहना है

''पवन को पिता-पुत्र और दामाद ने पीट-पीटकर मरणासन्न कर दिया था, जिसकी उपचार के दौरान मौत हो गई है। पुलिस ने हत्या का प्रकरण दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।''

वीरेन्द्र सिंह ठाकुर

गिरवाई थाना प्रभारी

Updated : 2019-02-25T00:17:47+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top