Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > प्रसव के दौरान जच्चा बच्चा की मौत पर परिजनों ने किया हंगामा

प्रसव के दौरान जच्चा बच्चा की मौत पर परिजनों ने किया हंगामा

प्रसव के दौरान जच्चा बच्चा की मौत पर परिजनों ने किया हंगामा

ग्वालियर/वेब डेस्क। कमलाराजा अस्पताल में प्रसव के दौरान जच्चा और बच्चा की मौत पर शनिवार को परिजनों ने हंगामा करते हुए चिकित्सकों पर लापरवाही के आरोप लगाए। हंगामे की सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और काफी समझाने के बाद परिजन शव लेकर घर लौट गए।


ढोली बुआ का पुल निवासी नरेन्द्र शाक्य की गर्भवती पत्नी प्रीति को प्रसव पीड़ा उठने पर परिजनों ने शुक्रवार की शाम 4 बजे कमलाराजा अस्पताल के गायनिक विभाग में भर्ती कराया था। जहां चिकित्सकों ने परीक्षण कर बताया कि प्रीति के गर्भ में बच्चा मर गया है। इसलिए प्रीति की जान बचाने के लिए बच्चे को बाहर निकालना होगा। प्रीति की सास रामदुलारी का कहना है कि उन्होंने प्रीति के गर्भ से बच्चे के शव को निकालने की सहमती दे दी थी, इसके बाद भी चिकित्सकों ने कोई ध्यान नहीं दिया। जिसके कारण उनकी बहू की शनिवार को मौत हो गई।

रामदुलारी ने आरोप लगाया कि चिकित्सकों की लापरवाही से ही प्रीति की मौत हुई है, अगर चिकित्सक ध्यान देते तो उसकी जान बच जाती। परिजनों ने प्रीति की मौत पर जमकर हंगामा भी किया। हंगामे की सूचना मिलते ही अस्पताल अधीक्षक डॉ. अशोक मिश्रा कम्पू थाना पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे और कहा कि अगर उन्हें यह शक है कि चिकित्सक की लापरवाही से उनकी बहू की मौत हुई तो वह शव विच्छेदन करा सकते हैं, जिस पर परिजन तैयार नहीं हुए और शव को लेकर घर चले गए। वहीं चिकित्सकों का कहना था कि प्रीति को जब भर्ती कराया गया था तब उसका हिमोग्लोबिन 6 के करीब था। परिजन को पूरी स्थिति से अवगत करा दिया गया था। प्रसव के दौरान उसे अटैक आ गया। इसलिए उसकी मौत हुई है।

Updated : 25 Aug 2019 9:22 AM GMT
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top