Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > जल्दी ही भरेगा जलविहार, बोट क्लब और बैजाताल में साफ पानी

जल्दी ही भरेगा जलविहार, बोट क्लब और बैजाताल में साफ पानी

महापौर ने किया इटालियन गार्डन में सीवर ट्रीटमेंट प्लांट का निरीक्षण, प्लांट को जल्दी शुरू करने के निर्देश, प्लांट के आस पास की खाली भूमि पर पार्क विकसित करने के निर्देश

जल्दी ही भरेगा जलविहार, बोट क्लब और बैजाताल में साफ पानी
X

ग्वालियर। जलविहार, बोट क्लब एवं बैजाताल में साफ पानी भरने के लिए इटालियन गार्डन के पीछे वाले स्थान पर बनाये गए 1 एमएलडी क्षमता के सीवर ट्रीटमेंट प्लांट को शीघ्र प्रारंभ करने के निर्देश महापौर विवेक नारायण शेजवलकर ने गुरुवार को दिए। प्लांट का निरीक्षण करते हुए महापौर श्री शेजवलकर ने नगर निगम अधिकारियों से कहा कि जितना जल्दी हो सके इसे चालू करवाएं जिससे बैजाताल, जल विहार एवं बोट क्लब में साफ पानी भरा जा सके और फूलबाग क्षेत्र में आने वाले सैलानी इसका आनंद उठा सकें। महापौर ने निर्देश दिए कि प्लांट के चारों ओर ग्रीनवाल बनायी जाए जिससे इस क्षेत्र की सुन्दरता बढ़ेगी । वहीं इसी परिसर में खाली पड़ी भूमि पर गार्डन विकसित करें तथा अच्छे प्लांट लगाएं। इसके साथ ही इटालियन गार्डन परिसर में बनी पुरानी बावड़ी के भवन को संधारित कर व्यवस्थित करें।

उल्लेखनीय है कि ग्वालियर नगर निगम द्वारा बैजाताल, जल विहार एवं बोट क्लब (स्वर्णरेखा) में साफ पानी बहाने के लिए जल विहार में 1 करोड 47 लाख रुपए की लागत से 1 एमएलडी क्षमता का सीवर ट्रीटमेंट प्लांट लगाया गया है। नोडल अधिकारी शिशिर श्रीवास्तव के अनुसार प्लांट में प्रतिदिन 10 लाख लीटर पानी का ट्रीटमेंट होगा। यह प्लांट एमबीबीआर तकनीक पर लगाया गया है। ये प्लांट मैको टैक्नीकल प्राइवेट बिलासपुर छत्तीसगढ द्वारा लगाया गया है और कंपनी 5 वर्ष तक प्लांट का संचालन एवं संधारण करेगी। शिशिर श्रीवास्तव ने बताया कि प्लांट भरना शुरु कर दिया है, एक दो दिन बाद ही बोट क्लब (स्वर्णरेखा) में ट्रीटेड पानी छोड़ना प्रारंभ कर दिया जाएगा। बोट क्लब में पानी भरने के बाद बैजाताल एवं जलविहार में पानी भरेंगे ।

निरीक्षण के दौरान निगमायुक्त विनोद शर्मा ने बताया कि इस प्लांट द्वारा जो 10 लाख लीटर प्रतिदिन पानी ट्रीट होगा उससे कम पानी बैजाताल, जल विहार एवं बोट क्लब में लगेगा, जिससे प्लांट द्वारा ट्रीट किया हुआ अतिरिक्त पानी चिड़ियाघर, पार्क आदि में सिंचाई आदि के लिए उपयोग किया जाएगा। निरीक्षण के दौरान मेयर इन काउंसिल के सदस्य धर्मेन्द्र राणा, श्रीमती नीलिमा शिन्दे, खेमचंद गुरवानी, लेखा समिति अध्यक्ष धर्मेन्द्र कुशवाह, पार्षद दिनेश दीक्षित, श्रीमती वंदना अजय अरोरा, डा दयाराम पाल, मुकेश परिहार सहित प्रोजेक्ट के नोडल अधिकारी शिशिर श्रीवास्तव उपस्थित रहे।

Updated : 10 Jan 2019 2:05 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top