Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > खाड़ीनाला में फिर होता मिला अवैध खनन

खाड़ीनाला में फिर होता मिला अवैध खनन

सात घनमीटर फर्शी पत्थर सहित कई औजार जब्त

खाड़ीनाला में फिर होता मिला अवैध खनन
X

ग्वालियर/स्वदेश वेब डेस्क। ग्रामीणों द्वारा फैलाई गई अफवाह पर वन कर्मचारी विलुप्त हो चुके दुर्लभ पक्षी सोनचिरैया की तलाश में बसौटा के जंगल में भटक रहे हैं। इस मौके का फायदा उठाकर खनन माफिया सोनचिरैया अभयारण्य में पत्थर खोदने में जुट गए हैं। अभयारण्य की घाटीगांव गैमरेंज के अंतर्गत खाड़ीनाला वन क्षेत्र में गुजरे बुधवार को पांच घनमीटर फर्शी पत्थर जब्त किया गया था। शुक्रवार को भी इसी वन क्षेत्र में अवैध खनन होता पाया गया और करीब सात घनमीटर फर्शी पत्थर सहित अवैध खनन में प्रयुक्त कई औजार भी जब्त किए गए।

यहां बता दें कि बसौटा के ग्रामीणों ने गांव के आसपास हू-हू की आवाज सुनी थी। इस प्रकार की आवाज सोनचिरैया करती है। यह बात जब वन विभाग के अधिकारियों को पता चली तो घाटीगांव गैमरेंज का पूरा अमला सोनचिरैया की खोज में बसौटा के जंगल में लगा दिया गया। मोबाइल व टैप कैमरों के साथ पिछले पांच दिनों से लगभग 20 वन कर्मचारी सुबह-शाम बसौटा के जंगल में निगरानी कर रहे हैं, लेकिन वहां सोनचिरैया तो क्या, उसकी मौजूदगी के कोई प्रमाण तक नहीं मिले हैं। अब तक वहां वन कर्मचारियों को गिद्ध, बटेर के अण्डे, बया पक्षी के घौंसले, चार-पांच की संख्या में सियार आदि जरूर नजर आए, जिनके फोटो खींचकर वन कर्मियों ने वन मंडल अधिकारियों को भेज दिए हैं।

इधर बसौटा के जंगल में वनकर्मी सोनचिरैया की खोज में व्यस्त हैं और उधर घाटीगांव गैमरेंज में खनन माफिया अवैध खनन में जुटे हुए हैं। सूत्रों के अनुसार शुक्रवार को सुबह बसौटा के जंगल में सोनचिरैया की खोजबीन करने के बाद दोपहर में वन अमला खाड़ीनाला वन क्षेत्र में पहुंचा तो वहां कुछ मजदूर अवैध खनन कर रहे थे, जो वन कर्मियों को देखते ही फरार हो गए। मौके से करीब सात घनमीटर फर्शी पत्थर सहित घन, हथौड़ा, सब्बल, टांकी आदि औजार जब्त किए गए। जब्त फर्शी पत्थर को मौके पर ही तोड़-फोड़कर नष्ट कर उसी गड्ढे में भर दिया गया, जहां से निकाला गया था। वन विभाग ने इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ वन अपराध दर्ज किया है।

घाटीगांव में जब्त की अवैध लकड़ी

घाटीगांव के जंगलों में केवल खनन माफिया ही नहीं बल्कि लकड़ी माफिया भी सक्रिय हैं। बताया गया है कि अभयारण्य अधीक्षक जी.एल. जोनवार शुक्रवार को दोपहर में जब घाटीगांव उत्तर रेंज का भ्रमण करने के बाद वन अमले के साथ वापस लौट रहे थे। इसी दौरान उन्होंने घाटीगांव में साइकिल से लकड़ी लेकर आ रहे दो लोगों को पकड़ा। पकड़े गए संदीप पुत्र नारायण सिंह गुर्जर निवासी धुआं एवं बुद्धा पुत्र फेरन सिंह बघेल निवासी दुरसेड़ी से साइकिल सहित करीब 50 किलो खैर की लकड़ी जब्त की गई। बताया गया है कि दोनों आरोपी घाटीगांव में संचालित महरामपुरा सरपंच साहब सिंह गुर्जर के होटल पर काम करते हैं और उन्हीं के कहने पर होटल के लिए जंगल से लकड़ी काटकर लाते थे। शुक्रवार को भी दोनों आरोपी राई का पुरा के जंगल से लकड़ी काटकर लाए थे। वन विभाग ने वन अपराध दर्ज कर दोनों आरोपियों को जमानत पर छोड़ दिया है, जबकि लकड़ी व साइकिल जब्त कर ली है।

Updated : 2018-09-22T19:21:35+05:30

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top