Top
Latest News
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > गहराता जल संकट : तिघरा में बचा सिर्फ 40 दिन का पानी

गहराता जल संकट : तिघरा में बचा सिर्फ 40 दिन का पानी

ग्वालियर शहर भीषण जलसंकट से गुजर रहा है।

गहराता जल संकट : तिघरा में बचा सिर्फ 40 दिन का पानी

शहर के कई क्षेत्रों में भारी पेयजल संकट, अधिकारी कर रहे बारिश का इंतजार

ग्वालियर । ग्वालियर शहर भीषण जलसंकट से गुजर रहा है। हालत यह है कि अब नगर निगम के अधिकारी पानी को लेकर चिंतित नजर आ रहे हैं। 13 लाख की आबादी वाले शहर की प्यास बुझाने वाले लगभग सभी बांध खाली हो चुके हैं। समय पर अच्छी बारिश नहीं हुई, तो अब पानी के लिए लोग आपस में लड़ते हुए दिखाई देंगे। अच्छी बारिश के लिए अब निगम के अधिकारियों के साथ-साथ जनप्रतिनिधि भी चिंतित नजर आ रहे हैं।

ज्ञात हो कि तिघरा बांध का जलस्तर लगातार घटने के कारण नगर निगम शहर में एक दिन छोड़कर पानी सप्लाई कर रहा है। 13 लाख की आबादी में से करीब 2 लाख लोगों को नलों के जरिए पानी नहीं मिल रहा है। हालात यह हैं कि शहर का एक भी वार्ड जलसंकट से अछूता नहीं है। शहर के सभी 66 वार्डो में 151 टैंकरों से रोज करीब 755 टैंकर पानी बांटा जा रहा है।

शहर के वार्ड 32 के विकास नगर, हिन्द कॉलोनी व द्वारकापुरी में रहने वालों को पानी के लिए भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यहां पर जैसे ही लोगों को टैंकर पहुंचने की जानकारी मिलती है, तो लोग जिस हालात में घरों में बैठ हुए थे, खाली बर्तन व लेजम लेकर दौड़ पड़ते हैं और टैंकर पर ऊपर चढ़ जाते हैं। ताकि पहले अपनी लेजम उसमें डाल दी जाए। यहां पानी की किल्लत इतनी है कि पांच हजार लीटर का टैंकर 20 से 25 मिनट में खाली हो रहा है। उधर पीएचई के अधीक्षण यंत्री आरएलएस मौर्य ने कहा कि तिघरा बांध में सिर्फ 40 दिन का पानी बचा हुआ है।

वार्ड 32 में अभी भी है पानी की किल्लत

शहर के वार्ड 32 में विकास नगर, हिन्द कॉलोनी व द्वारकापुरी में पानी की किल्लत खत्म नहीं हो रही है। पार्षद अनीता राजेन्द्र शर्मा रोज सुबह क्षेत्रों में जाकर लोगों को पानी भरवा रहे है । ज्ञात हो कि बीते दिनों पानी की समस्या को लेकर पार्षद अनीता राजेन्द्र शर्मा ने महापौर कार्यालय में जाकर अपना इस्तीफा सौंप दिया था। लेकिन महापौर के आश्वासन के बाद उन्होंने वापस ले लिया था।

निगमायुक्त खुद नहीं पहुंचे अधिकारियों को भेजा

बीते दिनों जब वार्ड 32 में पानी की समस्या को लेकर पार्षद अनीता राजेन्द्र शर्मा ने अपना इस्तीफा सौंपा था, तो निगमायुक्त ने अपने अधिकारियों को भेजकर पानी की समस्या को सुलझाने को कहा था। लेकिन अधिकारियों ने सिर्फ महलगांव में पानी की समस्या को निपटाकर अपनी खानापूर्ति कर ली।

तीन टैंकर लगा रहे है 20 चक्कर फिर भी पानी नहीं

वार्ड 32 में तीन कॉलोनियों में पानी की भारी समस्या है। जिसको लेकर 3 टैंकरों द्वारा पानी की सप्लाई की जा रही है। यह टैंकर पूरे दिन में 20 चक्कर लगा रहे हंै, लेकिन उसके बाद भी लोग आपस में पानी के लिए झगड़ रहे हैं।



Updated : 2018-06-18T19:24:35+05:30

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top