Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > जयारोग्य के फिजियोथैरेपिस्ट, प्रसूता सहित पांच को निकला कोरोना संक्रमण

जयारोग्य के फिजियोथैरेपिस्ट, प्रसूता सहित पांच को निकला कोरोना संक्रमण

जयारोग्य के फिजियोथैरेपिस्ट, प्रसूता सहित पांच को निकला कोरोना संक्रमण
X

ग्वालियर, न.सं.। जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इसी के चलते फिर से पांच कोरोना संक्रमित सामने आए हैं। इसमें एक जयारोग्य चिकित्सालय में पदस्थ फिजियोथैरेपिस्ट भी शामिल हैं, जो कई चिकित्सकों सहित मरीजों के भी सम्पर्क में आए हैं। इसलिए अब अस्पताल प्रबंधन फिजियोथेरेपिस्ट की कान्टेक्ट हिस्ट्री खंगाल रहा है। इसी के चलते अब जिले में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 250 पहुंच गया है। इसमें दो की मृत्यु भी हो चुकी है।

गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय की लैब में बुधवार को ३४५ नमूनों की जांच की गई। जांच में कुल 6 मरीजों को कोरोना का संक्रमण निकला है। इसमें पड़ाव निवासी जयारोग्य चिकित्सालय के न्यूरोलॉजी में पदस्थ 38 वर्षीय फिजियोथैरेपिस्ट, आरोली निवासी 28 वर्षीय युवक, दीनदयाल नगर निवासी 54 वर्षीय शासकीय कर्मचारी व उनकी 52 वर्षीय पत्नी एवं लक्ष्मीगंज निवासी 53 वर्षीय व्यक्ति सहित भिण्ड निवासी एक 26 महिला शामिल है, जिसका कमलाराजा अस्पताल में प्रसव हुआ है। जयारोग्य के न्यूरोसर्जरी में पदस्थ फिजियोथैरेपिस्ट ने बताया कि वह विभाग के डॉ. अविनाश शर्मा के साथ राउण्ड पर जाते थे और आठ जून को भी वह मरीजों को देखने वार्ड गए थे। इतना ही नहीं फिजियोथैरेपिस्ट वार्ड के करीब 30 से 35 मरीजों के साथ ही कई जूनियर चिकित्सकों के सम्पर्क में भी रहे हैं। इधर न्यूरोसर्जरी के प्रभारी विभागाध्यक्ष डॉ. आर.एल.एस. सेंगर का कहना है कि फिजियोथैरेपिस्ट किन-किन के सम्पर्क में रहे हैं, इसकी जानकारी जुटाई जा रही है। साथ ही वार्डों में भर्ती मरीजों को भी अलग रखा जाएगा और पांच दिन बाद जांच कराई जाएगी।

बुखार व गले में जकडऩ होने पर कराई जांच

फिजियोथैरेपिस्ट को पिछले दिनों गले में जगडन होने के साथ ही बुखार आया था। इसलिए उन्होंने अपने विभाग के चिकित्सकों जानकारी दी। चिकित्सकों ने उन्हें कोल्ड ओपीडी जाकर जांच कराने के लिए कहा तो उन्हें कोरोना निकला।

मत्स्य विभाग में पदस्थ है संक्रमित

दीनदयाल नगर डी सेक्टर निवासी 54 वर्षीय व्यक्ति शिवपुरी मत्स्य विभाग में उप-यंत्री हैं। उप-यंत्री 27 मई को शिवपुरी ड्यूटी पर गए थे। वहां से लौटने के कुछ दिनों बाद उन्हें बुखार आया तो उन्होंने अपनी और अपनी 52 वर्षीय पत्नी की जांच कराई। जिसमें दोनों की कोरोना संक्रमित निकले हैं। उन्होंने बताया कि उनके साथ कार्यालय के अन्य चार लोग भी सम्पर्क में रहे हैं। जबकि उनके घर उनकी 27 वर्षीय बेटी भी रहती है, जिसकी जांच कराई जाएगी।

गुना गया था व्यापारी

लक्ष्मीगंज निवासी 53 वर्षीय व्यापारी अपने व्यापार के सिलसिले में 26 मई को गुना गया था और वापस लौट आया। यहां आने के कुछ दिनों बाद उन्हें बुखार आने लगा। इस पर उन्होंने चिकित्सक को दिखाया तो उनकी कोरोना की जांच कराई गई। लेकिन जांच रिपोर्ट आने से पहले ही व्यक्ति का स्वास्थ्य बिगडऩे लगा तो परिजन बुधवार की दोपहर जयारोग्य चिकित्सालय लेकर पहुंचे और मेडिसिन विभाग में भर्ती कराया। रिपोर्ट में कोरोना आने पर व्यापारी को सुपर स्पेशलिटी में शिफ्ट किया गया।

एपी एक्सप्रेस में सवार होकर आया संक्रमित

इधर हस्तिनापुर आरोली निवासी 28 वर्षीय युवक दिल्ली गुडग़ांव में नौकरी करता है। युवक एपी एक्सप्रेस ट्रेन से सोमवार-मंगलवार की रात को स्टेशन पर उतरा और रात स्टेशन पर गुजारने के बाद सुबह जयारोग्य में जांच के लिए पहुंचा। जहां नमूना देखर वह अपने गांव चला गया। युवक के परिवार के करीब 20 सदस्य हैं, जिनके सम्पर्क में वह रहा है।

ऑपरेशन से बेटी को दिया जन्म

इधर गोरमी निवासी 26 वर्षीय महिला को प्रसव के लिए आठ जून को कमलाराजा अस्पताल में रैफर किया गया था। यहां आने पर उसी दिन महिला का ऑपरेशन से प्रसव कराया गया और महिला ने बच्ची को जन्म दिया। महिला के साथ उसके ससुर व सास भी अस्पताल में रुके हुए हैं। वहीं महिला को कोरोना संक्रमित सामने आने के बाद ऑपरेशन करने वाले चिकित्सकों को क्वारेन्टाइन कर दिया गया है।

Updated : 2020-06-14T07:03:49+05:30

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top