Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > कांग्रेस में प्रत्याशी चयन से पूर्व ही सामने आई अंतर्कलह

कांग्रेस में प्रत्याशी चयन से पूर्व ही सामने आई अंतर्कलह

कांग्रेस नेता ने सिंधिया के समक्ष किया दावेदार का विरोध

कांग्रेस में प्रत्याशी चयन से पूर्व ही सामने आई अंतर्कलह
X

ग्वालियर। विधानसभा चुनाव को लेकर भले ही अभी प्रत्याशियों की घोषणा नहीं की गई हो, लेकिन इससे पूर्व ही कांग्रेस में अंतर्कलह खुलकर सामने आने लगी है, जिसके चलते रविवार को ग्वालियर प्रवास पर आए प्रदेश चुनाव प्रचार अभियान समिति के संयोजक एवं सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के सामने ही कांग्रेस नेता ने ग्वालियर दक्षिण विधानसभा क्षेत्र के एक संभावित दावेदार के नाम पर अपना विरोध दर्ज करा दिया।

अपने पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत सांसद सिंधिया रविवार को जब महाराजपुरा स्थित विमानतल से बाहर आए तो वहां मौजूद कांग्रेसजनों ने उनकी अगवानी की। इसी दौरान सिंधिया के वाहन में बैठते समय विमानतल पर उपस्थित कांग्रेस नेता सुरेशचन्द्र तिवारी उर्फ पिंकी पण्डित ने ग्वालियर दक्षिण विधानसभा से टिकट के लिए दावेदारी जता रहे कांग्रेस नेता किशन मुद्गल के नाम को लेकर अपना विरोध दर्ज कराया। पिंकी ने सिंधिया से कहा कि किशन मुद्गल का कोई जमीनी आधार नहीं है, इसलिए उन्हें टिकट देना पार्टी के लिए नुकसानदेह साबित होगा। यदि ब्राह्मण कोटे से आप मुद्गल के नाम पर विचार कर रहे हैं तो उनकी जमानत जब्त हो जाएगी। उनसे बेहतर आप प्रवीण पाठक, रश्मि पवार शर्मा, सुनील शर्मा, सुरेन्द्र शर्मा, अशोक शर्मा जैसे किसी नेता को टिकट दें क्योंकि इनका ब्राह्मण समाज के साथ ही पार्टी व आमजन के बीच मजबूत जमीनी पकड़ है। बहरहाल सिंधिया के समक्ष एकाएक इस तरह का विरोध होने से विमान तल पर अजीब माहौल निर्मित हो गया। वहीं इस घटनाक्रम से सिंधिया भी सकते में आ गए। हालांकि उन्होंने पिंकी पण्डित को समझाते हुए कहा कि अभी किसी का कोई नाम फाइनल नहीं हुआ है। तुम चिंता मत करो। तुमने जो नाम बताए हैं, उन पर भी विचार हो रहा है और टिकट सिर्फ जिताऊ प्रत्याशी को ही दिया जाएगा, साथ ही सिंधिया ने पार्टी में बढ़ती अंतर्कलह पर अंकुश लगाने के लिए यह हिदायत भी दी कि टिकट चाहे जिसे भी मिले, हम सबको एकजुट होकर पार्टी के लिए प्रचार-प्रसार करना है क्योंकि पार्टी जब सत्ता में आएगी, तब ही सबका भला होगा। बहरहाल सिंधिया की इस सीख का कांग्रेसजन कितना पालन करते हैं? यह तो प्रत्याशी घोषित होने के बाद ही सामने आएगा, लेकिन सूची जारी होने से पहले ही जिस तरह से कार्यकर्ताओं ने विरोध करना शुरू कर दिया है। यदि उस पर अंकुश नहीं लगा तो निश्चित तौर पर पार्टी को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

दिल्ली में डेरा डालने पहुंचेंगे दावेदार

प्रत्याशियों की रायशुमारी के लिए दिल्ली में सोमवार-मंगलवार को स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक होना है, जिसमें शामिल होने के लिए सांसद सिंधिया रविवार रात में ही ट्रेन द्वारा दिल्ली के लिए प्रस्थान कर गए। वहीं स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक के बाद बुधवार को केन्द्रीय चुनाव समिति की बैठक होना है। इसके बाद ही प्रत्याशियों की घोषणा की जाएगी। चूंकि यह सारी सूचना टिकट के लिए दावेदारी जता रहे कांग्रेस नेताओं को भी है, जिससे अधिकांश सभी दावेदारों ने इन तीन दिनों के लिए दिल्ली में डेरा डालने की तैयारी कर ली है। दरअसल इन दावेदारों का मानना है कि उनकी अनुपस्थिति में उनका कोई प्रतिद्वंदी किसी तरह उनके नम्बर कम नहीं करा दे, जिससे उनका टिकट कट जाए। इस तरह की किसी भी अनहोनी की आशंका के चलते ही अधिकांश दावेदार दिल्ली में डेरा डालने की तैयारी में जुटे हुए हैं। इनमें से कुछ दावेदार तो रविवार को ही दिल्ली के लिए कूच कर गए, जिनमें ग्वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र के मुन्नालाल गोयल व मितेन्द्र, ग्वालियर दक्षिण विधानसभा क्षेत्र से किशन मुद्गल व ग्वालियर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र से रामवरन सिंह गुर्जर आदि शामिल हैं।

भूखे-प्यासे कांग्रेसजन करते रहे सिंधिया की प्रतीक्षा

रविवार को सिंधिया के आगमन की सूचना पाकर उनका स्वागत करने के लिए कांग्रेसजन सुबह से ही महाराजपुरा स्थित विमान तल पर पहुंचना शुरू हो गए थे, लेकिन सिंधिया अपने पूर्व घोषित कार्यक्रम से लगभग पांच घण्टे देरी से ग्वालियर पहुंचे। चूंकि विमान तल के आसपास खाने-पीने का कोई सामान भी नहीं मिलता है। ऐसे में कांग्रेसजन भूखे-प्यासे सिंधिया की प्रतीक्षा करते नजर आए। यहां बता दें कि निर्धारित कार्यक्रम के तहत सिंधिया रविवार को दोपहर 12.30 बजे विशेष विमान से ग्वालियर आने वाले थे, जो लगभग पांच घण्टे बाद शाम सवा पांच बजे आए। चूंकि ग्वालियर-चम्बल अंचल के टिकट वितरण में सिंधिया की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी, जिससे टिकट के दावेदार बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं के साथ विमान तल पर सिंधिया की अगवानी करने पहुंचे थे, जो दिन भर भूखे-प्यासे विमान तल पर डटे रहे। बहरहाल सिंधिया आते ही कुछ समय के लिए जयविलास पैलेस गए, जहां कुछ देर रुकने के बाद दुर्ग स्थित सिंधिया स्कूल के कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे। तत्पश्चात् रात में कांग्रेस नेता संजीव गुप्ता लक्ष्मीगंज रोड, चेंबर ऑफ कॉमर्स के मानसेवी सचिव डॉ. प्रवीण अग्रवाल, धर्मेन्द्र शर्मा बलवंत नगर और सुधीर मण्डोलिया थाटीपुर के यहां शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंचे।

Updated : 2018-10-22T18:47:42+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top