Latest News
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > एलिवेटेड रोड के भोपाल में खुले टेंडर, अब कागजों की होगी जांच

एलिवेटेड रोड के भोपाल में खुले टेंडर, अब कागजों की होगी जांच

जुलाई में शुरु होगा रोड का काम

एलिवेटेड रोड के भोपाल में खुले टेंडर, अब कागजों की होगी जांच
X

ग्वालियर,न.सं.। शहर के ट्रैफिक को नई रफ्तार देने के लिए प्रस्तावित एलिवेटेड रोड का टेंडर शुक्रवार को भोपाल में खुल गए है। इसमें 8 लोगों ने भाग लिया है, इसके लिए अब विभाग फार्मो के दस्तावेजों की जांच करेगा। यह प्रक्रिया एक सप्ताह मेें पूरी की जाएगी। बताया जा रहा है कि जुलाई माह में पहले चरण का काम शुरु किया जाएगा।

बता दे कि केंद्र सरकार से प्रशासनिक स्वीकृति मिलने के साथ ही 406 करोड़ रुपए का फंड पहले ही जारी किया जा चुका है और प्रदेश सरकार ने भी अपने हिस्से का करीब 41 करोड़ का फंड जारी कर दिया।

829 करोड़ की लागत से दो चरणों में एलिवेटेड रोड का निर्माण कार्य किया जाएगा। इसमें पहले चरण में रानी लक्ष्मीबाई समाधि से लेकर ट्रिपल आइटीएम तक की रोड बनेगी, जबकि दूसरी फेज में गिरवाई से लेकर रानी लक्ष्मीबाई समाधि स्थल तक सडक़ का निर्माण किया जाएगा।

30 माह का प्रस्तावित समय

एलिवेटेड रोड का पहला चरण टेंडर निकलने के बाद करीब 30 माह लेगा। पीडब्ल्यूडी ने यह आकलित समय निकाला है। वहीं इतना ही समय दूसरे फेज में भी लगेगा।

यातायात का दबाव हो जाएगा कम

14.7 किलोमीटर लंबे एलिवेटेड रोड बनने के बाद यहां से गुजरने वाले वाहन 20 से 25 मिनट के अंदर अपना सफर पूरा कर सकेंगे। इसके साथ ही एलिवेटेड रोड बनने से चार शहर का नाका से फूलबाग तक के मौजूदा मार्ग पर 60 प्रतिशत तक यातायात का दबाव कम होगा।

एलीवेटेड रोड बनने की प्रक्रिया को इस तरह समझें

- पहले चरण में लक्ष्मीबाई समाधि से ट्रिपल आइटीएम तक सडक़ बनाई जाएगी।

- 6.5 किलोमीटर में 200 से 225 पिलर खड़े किए जाएंगे।

- मेट्रो की तर्ज पर निर्माण कार्य किया जाएगा और पिलर खड़े होते ही सडक़ बिछाई जाएगी।

- 14.7 किलोमीटर लंबे इस एलीवेटेड रोड पर विद्युत की व्यवस्था भी होगी।

- एलीवेटेड रोड में फोर लेन सडक़ का निर्माण किया जाएगा।

- एलीवेटेड रोड में सडक़ों के बीच डिवाइडर भी लगाए जाएंगे।

- सुरक्षा के लिए एलीवेटेड रोड के दोनों ओर मजबूत दीवार भी बनाई जाएगी।

- प्रथम फेज में लक्ष्मीबाई कॉलोनी, हजीरा, सागरताल पर एलीवेटेड रोड को मुख्य मार्गों से जोड़ा जाएगा, जिससे लोग इस पर आसानी से आ जा सके।

- प्रथम फेज का कार्य लगभग 30 माह में पूर्ण कर लिया जाएगा।

- दूसरे चरण में लगभग 200 पिलर बनाए जाएंगे।

- हनुमान बांध के ऊपर से होते हुए एलीवेटेड रोड सीधे गिरवाई से निकलकर सीधे हाइवे से मिलाई जाएगी।

- 2.5 मीटर की दूरी पर पिलर खड़े किए जाएंगे।

- 829 करोड़ रुपये में बनाई जाएगी एलीवेटेड रोड।

इनका कहना है

एलिवेटेड रोड के लक्ष्मीबाई समाधि स्थल से ट्रिपल आईटीएम तक बनाने के लिए शुक्रवार को 353 करोड़ के टेंडर खोले जा चुके हैं। इसमें 8 फर्मों ने भाग लिया।

जीवी मिश्रा

कार्यपालन यंत्री पीडब्ल्यूडी

Updated : 2022-06-02T18:13:44+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top