Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > आराधना में यदि आंसू आ जाये तो समझो प्रभु आपके पास है : पंडित दुबे

आराधना में यदि आंसू आ जाये तो समझो प्रभु आपके पास है : पंडित दुबे

रोकड़िया सरकार धाम हनुमान मंदिर पर चल रही है संगीतमयी श्रीमदभागवत कथा में पांचवे दिन कृष्ण नामकरण, पूतना वध, मटकी फोड़ कालिया मर्दन आदि की कथा का चित्रण हुआ

ग्वालियर। छत्री बाजार स्थित श्रीरोकड़िया सरकार धाम हनुमान मंदिर पर चल रही सात दिवसीय संगीतमयी श्रीमदभागवत कथा के पांचवे दिन शनिवार कथा व्यास पंडित आशीष दुबे ने श्रोताओं से कहा कि आज समय की सबके पास कमी है लेकिन हमें ईश्वर को रोज नियमित समय देना चाहिए। आज की कथा में कृष्ण नामकरण, पूतना वध, कालिया मर्दन, गौ चरण,गोवर्धन पूजाकंस वध आदि की कथाओं का वर्णन किया गया।

होशंगाबाद के मरोड़ा से आये भागवताचार्य कथा व्यास पंडित आशीष दुबे ने कल की कथा को आगे बढ़ाते हुए कहा कि आज जिससे से भी बात करो उसके पास समय नहीं हहि। कुछ लोग तो वाकई में व्यस्त हो सकते हैं लेकिन कुछ बिन्स बात के भी व्यस्त रहते हैं, लेकिन हम कितने भी व्यस्त रहें हमें रोज िसजवार के लिए समय निकालना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि आराधना करते समय आपकी आँखों में आंसू आ जाएँ तो समझ लेना कि ईश्वर आपके पास ही हैं। और निश्चित ही आपको उनका आशीर्वाद मिलने वाला है। उन्होंने कहा कि हमें जीवन में कोई नियम अवश्य पालना चाहिए, माथे पर तिलक अवश्य लगाना चाहिए वो बुरी नजर से बचाता है और हमारे आज्ञा चक्र को नियंत्रित रखता है।

आज की कथा में पंडित आशीष दुबे ने कृष्ण नामकरण, पूतना वध, शकटासुर वध, तृणावर्त वध, कंस वध, कालिया मर्दन, गोवर्धन पूजा, शिवजी आगमन, मटकी फोड़ आदि की कथा का वर्णन किया। ग्वालियर के प्रसिद्द दाना परिवार द्वारा आयोजित की रही श्रीमदभागवत कथा 15 जनवरी से 21 जनवरी तक दिन में 12 बजे से तीन बजे तक आयोजित की जा रही है । कथा के मुख्य यजमान श्रीमती कुसुम सक्सेना, जानेमाने साहित्यकार एवं कवि सतीश "अकेला" और उनकी पत्नी श्रीमती शशि सक्सेना हैं।

Updated : 19 Jan 2019 12:40 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top