Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > ग्वालियर मेले में बिकने वाले वाहनों पर रोड टैक्स में 50 प्रतिशत छूट मंजूर

ग्वालियर मेले में बिकने वाले वाहनों पर रोड टैक्स में 50 प्रतिशत छूट मंजूर

कमलनाथ कैबिनेट की बैठक में लिया गया फैसला, सरकार ने गैर परिवहन यानों और छोटे परिवहन यानों को रोड टैक्स में 50 प्रतिशत की छूट दी

ग्वालियर। उत्तर भारत के बड़े मेलों में से एक होने का गौरव रखने वाले ग्वालियर व्यापार मेले का वैभव फिर से लौटेगा इसके सम्मिलित प्रयास लम्बे समय से किये जा रहे थे। मेले का मुख्य आकर्षण ऑटोमोबाइल सेक्टर बंद हो जाने के बाद से जहाँ मेले की रौनक कम हो गई थी वहीँ मेले की करोड़ों की आय भी प्रभावित हुई थी। लेकिन मुख्यमंत्री कमलनाथ की अध्यक्षता में आज हुई कैबिनेट की बैठक में मेले में बिकने वाले वाहनों पर रोड टैक्स में 50 प्रतिशत की छूट को मंजूरी प्रदान कर दी गई।

मध्यप्रदेश कैबिनेट की बैठक ने ग्वालियर व्यापार मेला 2018-19 के लिए रोड टैक्स पर छूट की घोषणा कर दी है। कैबिनेट के फैसले के अनुसार मध्यप्रदेश में पंजीकृत गैर परिवहन यानों तथा छोटे परिवहन यानों को मेला अवधि के दौरान विक्रय पर जीवन काल कर(रोड टैक्स) में 50 प्रतिशत की छूट सशर्त दी जाती है। कैबिनेट के इस फैसले के बाद दो पहिया और चार पहिया वाहन विक्रेताओं के चेहरे पर खुशी है। ग्वालियर ऑटो व्हीकल डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष हरिकांत समाधिया ने इसके लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का आभार जताया है। उन्होंने बताया कि ग्वालियर में सभी 15 -16 डीलर्स मेले में इस बार अपने दो पहिया और चार पहिया वाहन लेकर जायेंगे। जिसकी बिक्री से निश्चित ही हमें लाभ होगा और मेले का खजाना भी भरेगा। श्री समाधिया ने बताया कि कल से ही सभी व्यापारी अपने शोरूम बनाने की प्रक्रिया शुरू कर देंगे। उल्लेखनीय है कि मेला प्राधिकरण ने ऑटोमोबाइल सेक्टर के लिए दुकानों की मार्किंग कर दी है, प्राधिकरण ने इनके लिए 46 शोरूम लगाने की जगह उपलब्ध कराई है।

उल्लेखनीय है कि एक शताब्दी से ज्यादा पुराने रियासतकालीन ग्वालियर व्यापार मेले में लगने वाला ऑटोमोबाइल सेक्टर इसका आकर्षण हुआ करता था। मेले में दूसरे राज्यों तक के खरीदार वाहन खरीदने आते थे। 2003 तक मेले में बिकने वाले वाहनों की बिक्री पर राज्य सरकार वाणिज्यिक कर में 50 प्रतिशत की छूट देती थी। लेकिन उसके बाद सरकार ने ये छूट देना बंद कर दी , बाद में ऑटोमोबाइल व्यापारियों के दबाव के चलते सरकार ने परिवहन विभाग के माध्यम से 2008 में रोड टैक्स में मात्र 2 प्रतिशत की छूट दी। लेकिन इसका व्यापारियों को कोई विशेष लाभ नहीं हुआ जिसके बाद से ग्वालियर व्यापार मेले ऑटोमोबाइल सेक्टर लगना ही बंद हो गया।

इस बार फिर से इसे पुनर्जीवित करने के प्रयास किये गए कांग्रेस की सरकार बनने के बाद सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 22 दिसंबर को मुख्यमंत्री कमलनाथ को रोड टैक्स में 50 प्रतिशत छूट सरकार से दिलवाने के लिए पत्र लिखा। उन्होंने पत्र में लिखा कि वाहनों की बिक्री से मेला प्राधिकरण को बहुत आय होती थी जो पिछले कुछ वर्षों में कई गुना कम हो गई है। इस पत्र में 14 दिसंबर को मेला प्राधिकरण द्वारा परिवहन विभाग के प्रमुख सचिव को लिखे पत्र और व्यापारियों की संस्था चेंबर ऑफ कॉमर्स के मानसेवी सचिव द्वारा 20 दिसंबर को मुख्यमंत्री को लिखे गए पत्र का हवाला भी दिया गया। जिसके बाद परिवहन मंत्री गोविन्द राजपूत ने इस फाइल पर हस्ताक्षर कर कैबिनेट की मंजूरी के लिए भेज दिया और आज ये मुहर लग गई। वाहन विक्रेताओं के साथ साथ शहरवासियों की इस बहुप्रतीक्षित मांग पूरी होने के बाद अब उम्मीद जागी है कि इस साल मेले की आय में वृद्धि होगी अब ये आय कितने प्रतिशत बढ़ती है ये मेला अवधि समाप्त होने के बाद पता चलेगा।

केंद्रीय मंत्री तोमर और सांसद सिंधिया करेंगे मेले का शुभारम्भ

ग्वालियर व्यापार मेले का शुभारम्भ कल छह जनवरी को केंद्रीय मंत्री और ग्वालियर सांसद नरेंद्र सिंह तोमर और पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं गुना शिवपुरी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया संयुक्त रूप से करेंगे । शुभारम्भ समारोह एक्सपोर्ट फेसिलिटेशन सेंटर में अपरान्ह 11 बजे होगा । इस अवसर पर महापौर विवेक नारायण शेजवलकर, मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, मंत्री इमरती देवी , मंत्री लाखन सिंह, विधायक प्रवीण पाठक, विधायक भारत सिंह कुशवाह विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे । कार्यक्रम की अध्यक्षता क्षेत्रीय विधायक मुन्नालाल गोयल करेंगे ।


Updated : 5 Jan 2019 11:50 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top