Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > ग्वालियर : कांग्रेस ने पलटी बाजी, पांच सीटों पर जमाया कब्जा, भाजपा को मिली केवल एक सीट

ग्वालियर : कांग्रेस ने पलटी बाजी, पांच सीटों पर जमाया कब्जा, भाजपा को मिली केवल एक सीट

ग्वालियर : कांग्रेस ने पलटी बाजी, पांच सीटों पर जमाया कब्जा, भाजपा को मिली केवल एक सीट
X

ग्वालियर/ स्वदेश वेब डेस्क। भाजपा का गढ़ कहे जाने वाले ग्वालियर जिले में भाजपा को कांग्रेस से करारी हार का सामना करना पड़ा है। यहाँ भाजपा को केवल एक सीट मिली है जबकि कांग्रेस ने पांच सीटों पर जीत दर्ज की है।

पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा के पास चार सीटें थी जबकि कांग्रेस के पास दो सीट थी। जिसे इस बार कांग्रेस ने पलटते हुए स्कोर 5 -1 कर दिया है। यानि इस बार कांग्रेस के पक्ष में पांच सीटें आईं हैं और भाजपा को केवल एक सीट मिली है। बड़ी बात ये है कि इस बार के चुनाव में जनता ने वर्तमान सांसद और मंत्रियों को हरा दिया केवल तीन वर्तमान विधायक जीते हैं जिनमें दो कांग्रेस के विधायक हैं।

मतगणना के बाद ग्वालियर ग्रामीण विधानसभा से भारत सिंह कुशवाह ने बीएसपी के साहब सिंह गुर्जर को 1322 वोटों से हराया। जबकि कांग्रेस के मदन कुशवाह तीसरे नंबर पर रहे। उल्लेखनीय है कि साहब सिंह कांग्रेस से बागी होकर बीएसपी से चुनाव लड़े थे। ग्वालियर दक्षिण विधानसभा का परिणाम चौंकाने वाला रहा। शुरुआत से आगे चल रहे भाजपा के मंत्री नारायण सिंह कुशवाह बिलकुल अंतिम समय में हार गए इन्हें कांग्रेस के युवा चेहरे प्रवीण पाठक ने मात्र 121 वोट से हरा दिया। प्रवीण की जीत रीकाउंटिंग के बाद हुई। उल्लेखनीय है कि नारायण सिंह 2003 से लगातार जीत रहे थे जबकि प्रवीण पाठक का ये पहला चुनाव था। ग्वालियर पूर्व विधानसभा का परिणाम भी अप्रत्याशित रहा। यहाँ कांटे की टक्कर रही। पहले आठ राउंड तक भाजपा के सतीश सिकरवार आगे रहे। एक समय उनकी लीड 6000 हो गई थी लेकिन आठवे राउंड के बाद उनके पिछड़ने का सिलसिला शुरू हुआ। और कांग्रेस के मुन्नालाल ने बढ़त बनाना शुरू की जो अंत तक रही। मुन्नालाल ने ये सीट 17851 वोटों से जीत ली। उल्लेखनीय है इस सीट से मंत्री माया सिंह का टिकट काटकर सतीश सिकरवार को टिकट दिया गया था।

ग्वालियर विधानसभा का मुकाबल बहुत कड़ा था । यहाँ से मंत्री जयभान सिंह पवैया और कांग्रेस के पूर्व विधायक प्रद्युम्न सिंह मैदान में थे। पवैया अपनी जीत निश्चित मानकर चल रहे थे लेकिन प्रद्युम्न ने पहले ही राउंड से उन्हें पीछे छोड़ा और आखिर तक उन्हें आगे नहीं निकलने दिया। प्रद्युम्न ने पवैया को यहाँ से 21044 वोटों से हरा दिया। डबरा विधानसभा से कांग्रेस विधायक इमरती देवी ने जिले की सबसे बड़ी जीत दर्ज की। हालाँकि उनकी जीत निश्चित मानी जा रही थी लेकिन इतनी बड़ी जीत की उम्मीद नहीं थी। इमरती देवी ने भाजपा के कप्तान सिंह सहसारी को 57446 वोट से हरा दिया। हो सकता है ये प्रदेश में कांग्रेस की बड़ी जीत में से एक हो। वहीं भितरवार विधानसभा से जनता ने मुरैना सांसद अनूप मिश्रा को नकार दिया । यहाँ कांग्रेस विधायक लाखन सिंह फिर से जीते हैं। उन्होंने सभी राउंड में अनूप मिश्रा से बढ़त बनाये रखी और आखिर में 12130 वोटों के अंतर से सीट जीत ली।

अभी तक का परिणाम ...

विधानसभा / प्रत्याशी

भाजपा

कांग्रेस

निर्दलीय / नोटा/ अन्य पार्टी

ग्वालियर ग्रामीण / भारत सिंह, जीते

5103338199

49516 (बसपा. साहब सिंह)

ग्वालियर दक्षिण / प्रवीण पाठक, जीते

28600 (नि. समीक्षा गुप्ता)

ग्वालियर पूर्व / मुन्ना लाल गोयल, जीते

7231490133-

ग्वालियर विधानसभा / प्रद्युम्न सिंह, जीते

7101192055-

डबरा विधानसभा / इमरती देवी, जीतीं

3315290598-

भितरवार विधानसभा / लाखन सिंह, जीते

5430966439-
दतिया से डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने राजेंद्र भर्ती को 2656 वोटों से हराया 
गोहद सीट से लाल सिंह आर्य 23989 वोटों से हारे 
 गुना से भाजपा प्रत्याशी गोपीलाल जाटव की 33667 वोटों से जीत 
मुरैना से रुस्तम सिंह की हुई हार 

Updated : 2018-12-30T02:08:09+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top