Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > एमपी में ट्रांसपोर्टर्स की हड़ताल शुरू

एमपी में ट्रांसपोर्टर्स की हड़ताल शुरू

-अनिश्चितकालीन हड़ताल पर भी जा सकते हैं ट्रांसपोर्टर्स

एमपी में ट्रांसपोर्टर्स की हड़ताल शुरू
X

भोपाल। मध्यप्रदेश में राज्य सरकार डीजल पर वैट बढ़ाने, पुराने वाहनों पर एकमुश्त लाइफ टाइम टैक्स, आरटीओ के टोल बैरियर पर हो रहे भ्रष्टाचार के खिलाफ प्रदेश के ट्रांसपोर्टर्स शनिवार को सांकेतिक हड़ताल पर चले गए हैं। इनका कहना है कि अगर सरकार ने उनकी मांगों पर ध्यान नहीं दिया तो वे अनिश्चितकालीन हड़ताल पर भी जा सकते हैं। इस हड़ताल को पेट्रोल-डीजल टैंकरों के संचालकों ने भी अपना समर्थन दिया है।

ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के प्रवक्ता प्रवीण अग्रवाल ने बताया कि प्रदेशभर के ट्रांसपोर्टर पुराने वाहनों पर एकमुश्त लाइफ टाइम टैक्स और आरटीओ के टोल बैरियर पर हो रहे भ्रष्टाचार से परेशान हैं। सरकार ने डीजल पर टैक्स भी बढ़ा दिया है, जिससे ट्रांसपोर्टर्स को भारी नुकसान हो रहा है। अपनी विभिन्न मांगों के लिए वे गत दिनों मुख्यमंत्री कमलनाथ से मिले थे, लेकिन उन्होंने हमारी मांगों पर ध्यान ही नहीं, इसलिए यह हड़ताल की जा रही है। एसोसिएशन के आह्वान पर प्रदेशभर के ट्रांसपोर्टर्स शनिवार को सांकेतिक हड़ताल पर हैं।

भोपाल ट्रांसपोर्ट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक मालपानी ने बताया कि वे इस हड़ताल में शामिल हो रहे हैं। शनिवार शाम के एसोसिएशन के दफ्तर में ट्रक संचालक एकत्रित होकर आगे की रणनीति बनाएंगे। पेट्रोल-डीजल पर पांच फीसदी वैट बढ़ाए जाने के बाद ट्रक ऑनर्स एसोसिएशन और ट्रांसपोर्टर्स ने राज्य सरकार से कहा है कि वह इसमें राहत दें। उन्होंने बताया कि ट्रांसपोर्टर्स ने अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का मन बनाया है। शाम की बैठक में रणनीति बनाने के बाद यह अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू होगी। इसके लिए शुक्रवार से ही ट्रांसपोर्टरों ने माल की बुकिंग बंद कर दी थी। आंध्रप्रदेश सहित दक्षिण भारत के एसोसिएशन भी मध्यप्रदेश की बुकिंग नहीं ले रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि हड़ताल अगर लम्बी चलती है तो आम लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। फल-सब्जी, किराना और अन्य सामान ट्रकों से ही शहरों में आता है। पेट्रोल-डीजल टैंकरों के भी हड़ताल में शामिल होने से दो दिन बाद प्रदेशभर में पेट्रोल-डीजल की सप्लाई भी प्रभावित हो सकती है।

Updated : 5 Oct 2019 7:57 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top