Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > माखनलाल विश्वविद्यालय के राजनीतिकरण के विरोध में विद्यार्थी परिषद ने किया प्रदर्शन

माखनलाल विश्वविद्यालय के राजनीतिकरण के विरोध में विद्यार्थी परिषद ने किया प्रदर्शन

माखनलाल विश्वविद्यालय के राजनीतिकरण के विरोध में विद्यार्थी परिषद ने किया प्रदर्शन
X

मध्य स्वदेश संवाददाता भोपाल

माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के कुलपति जगदीश उपासने को जबरदस्ती त्यागपत्र दिलाए जाने एवं विश्वविद्यालय का राजनीतिकरण किए जाने का आरोप लगाते हुए आखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने बुधवार 20 फरवरी को विश्वविद्यालय परिसर में प्रदर्शन किया एवं राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा।

प्रदर्शनकारी विद्यार्थियों का आरोप था कि विश्वविद्यालय में जांच कमेटी द्वारा विश्वविद्यालय के 2003 से लेकर 2018 तक के कार्यों की जांच राजनीति से प्रेरित है। जांच समिति के सदस्यों के नामों से स्पष्ट झलकता है कि यह जांच पहले से तय निर्णय को लेने के लिए की जा रही है एवं जांच समिति के दो सदस्य राजनीतिक पार्टी के सक्रिय कार्यकर्ता एवं प्रवक्ता हैं। विश्वविद्यालय के अधिनियम के अनुसार मध्य प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव को जांच के समिति गठित करने का कोई अधिकार नहीं है। व्यवस्था के अनुसार जांच का निर्णय महापरिषद का होना चाहिए।

प्रदर्शनकारी छात्र-छात्राओं का आरोप था कि विश्वविद्यालय के अंदर राजनीतिक तत्वों का प्रभाव है तथा शिक्षा के मंदिर कहे जाने वाले विश्वविद्यालय में राजनीतिक हस्तक्षेप हो रहा है। इस प्रकार के निर्णय छात्र हितों के विरुद्ध एवं पत्रकारिता की स्वतंत्रता पर भी लांछन लगाने का प्रयास है। प्रदर्शन में भोपाल महानगर मंत्री, हितांशु श्रीवास्तव, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य बंटी चौहान, महानगर सह मंत्री सुश्री पूजा पाल, भाग संयोजक अभिषेक त्रिपाठी, भाग संयोजक पियूष शर्मा, भाग संयोजक आयुष पाराशर समेत कई कार्यकर्ता एवं विश्वविद्यालय के छात्र उपस्थित रहे।

आधा घंटे अंदर नहीं घुस सके छात्र

बुधवार की दोपहर 1:30 बजे विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता विश्वविद्यालय के छात्रों के साथ विश्वविद्यालय पर पहुंचे जहां उन्हें विश्वविद्यालय के अंदर जाने से रोक दिया गया। लगभग आधा घंटा कार्यकर्ताओं को द्वार पर ही रोकने के बाद उन्हें अंदर जाने दिया गया जहां पर विश्वविद्यालय परिसर में कार्यकर्ताओं ने मध्य प्रदेश सरकार एवं विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी और प्रदर्शन किया। छात्रों की मांग थी कि ज्ञापन सौंपने हेतु उन्हें कुलपति से मिलने दिया जाए। लेकिन कुलपति की अनुपस्थिति में परिषद के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य, बंटी चौहान ने उनसे फोन पर बात की एवं विश्वविद्यालय के कुलसचिव को ज्ञापन सौंपा। कुलसचिव ने सभी मुद्दों पर विचार करने का आश्वासन छात्रों को दिया।

राजनीतिकरण नहीं रुका तो प्रदेश स्तरीय प्रदर्शन

ज्ञापन सौंपते हुए विद्यार्थी परिषद के बंटी चौहान ने कहा कि यदि प्रदेश कांग्रेस सरकार विश्वविद्यालयों के राजनीतिकरण पर रोक नहीं लगाती है तो ऐसा होने पर विद्यार्थी परिषद पूरे प्रदेश में उग्र आंदोलन करेगी। भोपाल महानगर मंत्री हितांशु श्रीवास्तव ने कहा कि यदि मध्य प्रदेश सरकार माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय में राजनीतिक हस्तक्षेप पर रोक नहीं लगाती है तो विद्यार्थी परिषद भोपाल लगातार उग्र आंदोलन करने पर बाध्य होगी एवं इसकी पूर्ण जिम्मेदारी मध्य प्रदेश सरकार की होगी।

Updated : 2019-02-20T21:18:02+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top