Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > एडीजी मिश्रा के पिता की जांच के लिए डॉक्टरों की टीम होगी तैनात

एडीजी मिश्रा के पिता की जांच के लिए डॉक्टरों की टीम होगी तैनात

एडीजी मिश्रा के पिता की जांच के लिए डॉक्टरों की टीम होगी तैनात
X

तीन सरकारी एलोपैथिक एवं तीन आयुर्वेदिक डॉक्टर करेंगे जांच, 23 फरवरी को सौंपा जाएगा जांच प्रतिवेदन

प्रशासनिक संवाददाता भोपाल

एडीजी राजेंद्र कुमार मिश्रा के पिता कुलमणि मिश्रा की जांच अब तीन एलोपैथिक विशेषज्ञ डॉक्टर एवं तीन आयुर्वेदिक डॉक्टर करेंगे। जांच के बाद मप्र राज्य मानव अधिकार आयोग को जांच प्रतिवेदन सौंपा जाएगा। फिलहाल पुलिस महानिदेशक ने आयोग को अपनी प्रारंभिक जांच रिपोर्ट सौंप दी है। इसके बाद आयोग ने पुलिस महानिदेशक को निर्देश दिए हैं कि डॉक्टरों की टीम तैनात करके जांच कराई जाए और 23 फरवरी तक जांच प्रतिवेदन आयोग को सौंपा जाएगा।

एडीजी राजेंद्र कुमार मिश्रा के पिता कुलमणि मिश्रा का इस समय घर में ही इलाज चल रहा है। आयुर्वेदिक पद्धति से उनका इलाज कराया जा रहा है। पिछले दिनों यह मामला संज्ञान में आया था कि एडीजी मिश्रा अपने पिताजी का इलाज अपने बंगले पर ही करवा रहे हैं, जबकि बसंत अस्पताल द्वारा उनको मृत घोषित करके प्रमाण पत्र भी दिया जा चुका है। इसके बाद भी वे अपने पिताजी को जिंदा मानकर उनका इलाज करवा रहे हैं। एडीजी मिश्रा ने पिता की देखरेख के लिए जवानों को भी तैनात कराया था, लेकिन जवानों का स्वास्थ्य भी खराब होने लगा था और बंगले में बदबू भी आने लगी थी। बाद में मामला उजागर हुआ तो मानव अधिकार आयोग ने भी इसमें हस्तक्षेप किया और पुलिस महानिदेशक से तीन दिनों में रिपोर्ट तलब की।

आयोग ने दिए अधिकार

एडीजी राजेंद्र कुमार मिश्रा ने पहले कई वरिष्ठ अधिकारियों को यह कहते हुए इस मामले में हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया था कि यह उनका व्यक्तिगत एवं पारिवारिक मामला है। इसके बाद गृह विभाग के प्रमुख सचिव सहित कई वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने इस मामले में अपनी चुप्पी साध ली थी। अब मानवाधिकार आयोग ने इस मामले में पुलिस अधिकारियों को मानव अधिकार संरक्षण अधिनियम 1993 की धारा (3) विनियम 1996 के नियम 12 तथा दंड प्रक्रिया संहिता 1973 धारा 100 द्वारा प्रदत्त शक्तियों के प्रयोग करने के लिए अधिकृत किया है। इन शक्तियों के बाद अब पुलिस अधिकारी एवं चिकित्सा विशेषज्ञों की टीम उस भवन में प्रवेश करने एवं जरूरी कार्रवाई करने के लिए अधिकृत रहेगी।

एसपी स्तर के अधिकारी करेंगे जांच

आयोग ने पुलिस महानिदेशक को निर्देश दिए हैं कि इस मामले में पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारी को जिम्मेदारी सौंपी जाए, जो गांधी मेडिकल कॉलेज के डीन या सीएमएचओ भोपाल से संपर्क करके एलोपैथिक डॉक्टर एवं आयुर्वेदिक डॉक्टरों की टीम तैनात करें। ये टीम जरूरी पुलिस बल के साथ 74 बंगला स्थित एडीजी राजेंद्र कुमार मिश्रा के घर जाएं और उनके पिता की जांच करें, ताकि स्थिति का पता चल सके।

तीन बिंदुओं पर होगी जांच

अब आयोग ने पुलिस महानिदेशक को निर्देश दिए हैं कि वे तीन बिंदुओं पर जांच करके जांच प्रतिवेदन आयोग को सौंपे। मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष जस्टिस नरेंद्र कुमार जैन ने निर्देशों में कहा है कि क्या समाचार पत्र में दर्शाए एडीजी राजेंद्र कुमार मिश्रा के पिता कुलमणि मिश्रा का निधन हो चुका है? समाचार पत्र में राजेंद्र कुमार मिश्रा के हवाले से छापा गया है कि उनके पिता को बसंल अस्पताल से लाने के बाद नाड़ी वैद्य द्वारा नाड़ी चलना बताया गया। इसके बाद आयुर्वेदिक पद्धति से उनका इलाज चलना बताया गया। इस संबंध में दोनों गठित विशेषज्ञ डॉक्टरों की समिति परीक्षण कर अपना अभिमत दे और यदि कुलमणि मिश्रा का निधन हो चुका है तो यह स्पष्ट करें कि परीक्षण करने के कितने समय बाद उनका निधन हुआ है।

Updated : 2019-02-19T22:26:24+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top