Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > दहशत में कॉलोनीवासी, नहीं पकड़ा गया तेंदुआ

दहशत में कॉलोनीवासी, नहीं पकड़ा गया तेंदुआ

दहशत में कॉलोनीवासी, नहीं पकड़ा गया तेंदुआ
X

वन विभाग ने ढूंढने के लिए ट्रैप कैमरे और तीन टीमें लगाई

मध्य स्वदेश संवाददाता भोपाल

राजधानी के त्रिलंगा क्षेत्र स्थित आकाशगंगा कॉलोनी में तेेंदुए की दहशत बरकरार है। दूसरे दिन भी वन विभाग की टीम तेेंदुए को पकड़ने में नाकाम रही है। हालांकि तेंदुए को पकड़ने के लिए वन विभाग ने ट्रैप कैमरों के साथ ही तीन टीमें भी लगाई हैं, साथ ही तीन पिंजरे भी लगाए गए हैं, लेकिन तेंदुए का कहीं भी पता नहीं चल पा रहा है।

राजधानी में समय-समय पर जंगली जानवर दस्तक देते रहे हैं। कई बार केरवा क्षेत्र में टाईगर देखे गए हैं। एक टाईगर एक बार शहर में भी घुस गया था। अब त्रिलंगा क्षेत्र में तेंदुए ने लोगों की जान आफत में डाल रखी है। हालांकि पिछले दो दिनों में तेंदुए द्वारा किसी का भी शिकार नहीं किया गया है, लेकिन लोगों में उसके कारण दहशत का माहौल है। तेंदुए को पकड़ने के लिए वन विभाग का अमला तैनात है और रात-रात भर जागकर उसकी सर्चिंग भी कर रहा है, लेकिन इसके बाद भी तेंदुए का कहीं भी पता नहीं चल पा रहा है।

मोरवन से दी शहर में दस्तक

राजधानी में घुसे तेंदुए के मोरवन से शहर में घुसने की आशंकाएं व्यक्त की जा रही है। वन विभाग को भी यही अंदेशा है कि तेंदुआ मोरवन से यहां पर आया है। हालांकि मोरवन में ही जंगली जानवरों के लिए पर्याप्त मात्रा में खाना है। विभागीय अधिकारी यह भी कह रहे हैं कि जो तेंदुआ शहर में घुसा है वह अपनी मां से बिछड़कर घुस गया है। इस कारण डरा हुआ है।

तीन पिंजरे भी लगाए

वन विभाग की टीम ने तेंदुए को पकडऩे के लिए तीन पिंजरे भी लगा रखे हैं। दो पिंजरे मोरवन में लगाए गए हैं तो वहीं एक पिंजरा स्वर्ण जयंती पार्क में रखा गया है। इन पिंजरों में बकरों को भी बांधा गया है, लेकिन इसके बाद भी तेंदुआ नहीं पकड़ में आया है। इसी तरह तीन टीमें भी तैनात की गईं हैं और ट्रैप कैमरों से भी तेंदुए की निगरानी की जा रही है।

Updated : 2019-02-17T21:33:09+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top