Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > अस्पतालों में दवाओं की कमी मिली, तो नपेंगे जिम्मेदार अधिकारी

अस्पतालों में दवाओं की कमी मिली, तो नपेंगे जिम्मेदार अधिकारी

अस्पतालों में दवाओं की कमी मिली, तो नपेंगे जिम्मेदार अधिकारी
X

मंत्री तुलसी सिलावट ने किया जबलपुर जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण

प्रशासनिक संवाददाता भोपाल

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तुलसीराम सिलावट ने कहा है कि सिविल सर्जन और जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को सभी अस्पतालों में सभी दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें जबलपुर जिला चिकित्सालय के औचक निरीक्षण में पूरी दवाएं नहीं मिलने की मरीजों से शिकायत प्राप्त हुई थी। मंत्री सिलावाट ने मौके पर ही संबंधित मरीजों को दवाइयां उपलब्ध करवाई और निर्देश दिए कि अस्पतालों में अब दवाइयों की कमी नहीं रहना चाहिए। दवाइयों की कमी मिलने पर सिविल सर्जन और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सीधे जिम्मेदार होंगे।

मंत्री तुलसी सिलावट ने रानी दुर्गावती चिकित्सालय (एलगिन) और जिला चिकित्सालय (विक्टोरिया) का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने अस्पताल परिसर में मिली गंदगी पर नाराजगी जाहिर की। चिकित्सालय के वार्ड ओपीडी आदि में पर्याप्त साफ-सफाई थी। उन्होंने कहा कि जैसी सफाई चिकित्सालय के अंदर है, वैसी बाहर भी होनी चाहिए। सभी ठंडे पानी की मशीनों में आरो लगाएं। चिकित्सालय की पानी की टंकियों की नियमित सफाई की जाए। मंत्री सिलावट ने ओपीडी रजिस्ट्रेशन काउण्टर और दवाई वितरण कक्ष में लम्बी लाइन को देखकर कहा कि काउण्टर बढ़ाए जाएं। उल्लेखनीय है कि मंत्री तुलसी सिलावट राजधानी के भी सरकारी चिकित्सालयों का आकस्मिक निरीक्षण कर चुके हैं, लेकिन सरकारी चिकित्सालयों की स्थिति जस की तस है।

स्वास्थ्य विभाग में 1065 डॉक्टर्स की भर्ती शुरू

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तुलसीराम सिलावट ने कहा है कि सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों के रिक्त पदों को जल्दी भरा जाएगा। भर्ती की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। मंत्री सिलावट ने बताया कि सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों के रिक्त पदों की जानकारी संकलित कर उनको भरने के लिए त्वरित कार्यवाही शुरू कर दी गई। भर्ती के पहले चरण में 1065 डॉक्टर्स की भर्ती की जा रही है। मंत्री सिलावट ने बताया कि राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा भर्ती की कार्यवाही शुरू करते हुए पात्र आवेदकों से 5 मार्च तक ऑनलाइन आवेदन करने के लिए विज्ञापन जारी कर दिया गया है। सभी रिक्त पदों को भरने में कुछ समय जरूर लगेगा, लेकिन अस्पतालों में सभी रिक्त पदों को भरा जाएगा। चिकित्सकों के साथ-साथ पैरामेडीकल स्टॉफ के पदों पर भी शीघ्र ही भर्ती की जाएगी।

Updated : 2019-02-16T22:26:12+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top