Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > 10 आईपीएस देखेंगे सुरक्षा, पड़ोसी जिलों से मंगाए 2 हजार पुलिसकर्मी

10 आईपीएस देखेंगे सुरक्षा, पड़ोसी जिलों से मंगाए 2 हजार पुलिसकर्मी

10 आईपीएस देखेंगे सुरक्षा, पड़ोसी जिलों से मंगाए 2 हजार पुलिसकर्मी
X

राहुल की किसान सभा के लिए भोपाल का पुलिस बल अपर्याप्त

विशेष संवाददाता भोपाल

मध्यप्रदेश में कमलनाथ की सरकार बनने के बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की सभा के लिए भोपाल में मौजूद पुलिस बल कम पड़ गया है। इस कारण 2000 पुलिस कर्मी पड़ोसी राज्यों से बुलवाए जा रहे हैं। कार्यक्रम की सुरक्षा एवं व्यवस्था भारतीय पुलिस सेवा के 10 अधिकारियों की देखरेख में रहेगी। वहीं शहर की जनता को अधिक परेशानी से बचाने के लिए शहर के प्रवेश मार्गों का यातायात भी परिवर्तित किया गया है।

पुलिस महानिरीक्षक भोपाल झोन जयदीप प्रसाद और उप पुलिस महानिरीक्षक इरशाद बली ने गुरूवार को प्रेस से चर्चा करते हुए बताया कि चूंकि कार्यक्रम में अतिविशिष्ट एवं कई विशिष्ट गणमान्यजन की उपस्थिति रहनी है। इस कारण पुलिस और प्रशासन ने सुरक्षा-व्यवस्था के उचित प्रबंध किए हैं। पुलिस महानिरीक्षक श्री प्रसाद ने बताया कि शहर की चारों दिशाओं से सभा में शामिल होने आने वाले कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के वाहनों को निर्धारित किए जा रहे मार्ग से होते हुए जंबूरी मैदान तक लाया जाएगा। विविध मार्गों से आने वाले 70 प्रतिशत वाहन वायपास से पटेल चौक होते हुए जंबूरी मैदान के वायीं तरफ के मैदान पर खड़े कराए जाएंगे। इसी प्रकार तीस प्रतिशत वाहनों को जंबूरी मैदान के दांयी तरफ लाया जाएगा। श्री प्रसाद ने बताया कि कार्यक्रम 2 घेटे अर्थात 2:15 बजे से 4:15 बजे तक रहेगा। सभा स्थल पर भी लोगों को परेशानी न हो इस कारण वहां भी आयोजकों द्वारा निर्धारित किए गए पास के अनुसार प्रवेश और बाहर निकलने की अनुकूल व्यवस्था की गई है। कार्यक्रम स्थल पर किसी को भी बैग अथवा अन्य सामग्री ले जाने की अनुमति नहीं होगी। सहायक पुलिस अधीक्षक (यातायात) अरविंद दुबे ने बताया कि कार्यक्रम में 250 तक बसें और करीब 2000 कार आने की संभावना है।

आधा दर्जन से अधिक श्रेणी के होंगे पास

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के किसान सम्मेलन के लिए कांग्रेस ने अलग-अलग आधा दर्जन दर्जन से अधिक श्रेणी के पास दिए हैं। इनमें अति विशिष्ट मंच, अति विशिष्ट पूर्व सांसद, अति विशिष्ट, मंत्री, मीडिया, पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों के लिए अलग-अलग पास जारी किए गए हैं। इन पास के हिसाब से ही पुलिस कार्यक्रम स्थल पर पहुंचने का मार्ग और द्वार निर्धारित करेगी। पुलिस का दावा है कि कमलनाथ के शपथ ग्रहण समारोह की तरह इस बार अव्यवस्था नहीं होगी।

Updated : 2019-02-07T21:19:00+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top