Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > शाला के सामने है शराब की दुकान, कैसे सुरक्षित रहेंगी बेटियां

शाला के सामने है शराब की दुकान, कैसे सुरक्षित रहेंगी बेटियां

शाला के सामने है शराब की दुकान, कैसे सुरक्षित रहेंगी बेटियां
X

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना व सशक्त समाज- सुरक्षित शहर पर प्रशिक्षण आयोजित

राजनीतिक संवाददाता भोपाल

हमारे समुदाय में एक स्कूल के सामने ही शराब की दुकान है ऐसे में हमारी बेटीयां सुरक्षित नहीं हो सकती, जब तक कि हम इन समस्याओं का समाधान न हो जाए। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना व सशक्त समाज-सुरक्षित शहर पहल के अतंर्गत आयोजित हुए प्रशिक्षण के दौरान प्रतिभागियों की तरफ से ऐसे सवाल सुनने को मिले।

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना एवं सशक्त समाज-सुरक्षित शहर पहल के अधीनस्थ भोपाल शहर में सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों की सहायिका, कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता एवं आंगनवाड़ी द्वारा बस्ती स्तर पर बनाए गए शौर्या दल के सदस्यों का प्रशिक्षण एवं उन्मुखीकरण का आयोजन आंगनवाड़ी केन्द्र पर ही हो रहा है।

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान का संचालन महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के द्वारा किया जा रहा है जबकि सशक्त समाज एवं सुरक्षित शहर पहल का संचालन भोपाल आधारित स्वयंसेवी संस्थाओं एवं युनिसेफ के सहयोग से किया जा रहा है। बुधवार 6 जनवरी को आरंभ संस्था द्वारा चांदबड़ परियोजना के सेमरा सेक्टर के एकतापुरी में स्थित 6 आंगनवाड़ी केन्द्र की सहायिका, कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी द्वारा बस्ती स्तर पर बनाए गए शौर्या दल के सदस्यों के प्रशिक्षण का आयोजन किया गया जिसमें लगभग 50 प्रतिभागी शामिल हुए। संस्था से अमरजीत कुमार सिंह एवं विजय यादव के द्वारा प्रतिभागियों को बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के संबंध में व बच्चों से जुड़े अन्य मुद्दों पर जानकारी प्रदान की।

Updated : 2019-02-06T22:57:24+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top