Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > मप्र में कोरोना पीक से नीचे आने लगा, मुख्यमंत्री ने की उच्च स्तरीय बैठक

मप्र में कोरोना पीक से नीचे आने लगा, मुख्यमंत्री ने की उच्च स्तरीय बैठक

मप्र में कोरोना पीक से नीचे आने लगा,  मुख्यमंत्री ने की उच्च स्तरीय बैठक
X

भोपाल। कोरोना की शुरूआत पर ही इलाज प्रारंभ कर दिए जाने से यह पूर्ण रूप से ठीक हो जाता है, परंतु विलंब घातक हो सकता है। अतः थोड़े भी लक्षण दिखने पर तुरंत जाँच की जाए तथा जाँच के समय ही व्यक्ति को मेडिकल किट भी दे, जिससे कि उपचार प्रारंभ हो सके। लापरवाही बिल्कुल न करें, थोड़े लक्षण दिखते ही इलाज लें। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीएम निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना कोर ग्रुप के सदस्यों के साथ बैठक करते हुए कही है। बैठक में संबंधित मंत्रीगण तथा अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि घर-घर सर्वे कर मरीजों की पहचान की जाए तथा सर्दी, जुकाम बुखार आदि लक्षण होने पर मेडिकल किट देकर इलाज प्रारंभ कर दिया जाए। "अर्ली डिटेक्शन एंड क्योर" की रणनीति पर चलते हुए हम प्रत्येक कोरोना मरीज़ को स्वस्थ कर सकते हैं। एक अध्ययन के अनुसार मध्यप्रदेश में कोरोना पीक से नीचे आ रहा है। वहीं, चौहान ने निर्देश दिए कि होम आइसोलेशन में उपचाररत मरीजों को दिन में कम से कम एक बार डॉक्टर आवश्यक रूप से फ़ोन करके सलाह दें।

88,511 एक्टिव प्रकरण

यहां बैठक में मुख्‍यमंत्री चौहान को अधिकारियों द्वारा बताया गया कि प्रदेश में अब कोरोना के 88 हजार 511 एक्टिव प्रकरण हैं। पिछले 24 घंटे में एक्टिव प्रकरणों में 2285 की कमी आई है, 12 हजार 379 नए प्रकरण आए हैं, वहीं 14 हजार 562 मरीज़ ठीक हुए हैं। हमारी पॉजिटिविटी रेट 20.3% हो गई है तथा साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट 22% है।

प्रदेश अब पीक से नीचे आ रहा है कोरोना

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर डॉ. महेंद्र अग्रवाल द्वारा किए गए केस प्रेडिक्शन के अनुसार मध्यप्रदेश अपने कोरोना पीक पर पहुँच गया है। अब मामले कम हो रहे हैं। उन्‍होंने बताया कि प्रदेश में ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति निरंतर हो रही है। प्रदेश को 589 एमटी ऑक्सीजन का कोटा मिल रहा है। 30 अप्रैल को 465 एमटी, एक मई को 489 एमटी ऑक्सीजन सप्लाई रही तथा दो मई के लिए 503 एमटी आपूर्ति का अनुमान है। सुलेमान ने यह भी बताया कि प्रदेश के सभी जिलों में कुल 58 नए ऑक्सीजन प्लांट लगाये जा रहे हैं। इस पर मुख्यमंत्री चौहान ने कार्य इस कार्य को तेज गति दिए जाने के आवश्‍यक निर्देश अधि‍कारियों को दिए।

Updated : 2021-05-01T21:19:59+05:30

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top