Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > आरएसएस कार्यालय को दोबारा सुरक्षा मुहैया कराएं कमलनाथ : दिग्विजय

आरएसएस कार्यालय को दोबारा सुरक्षा मुहैया कराएं कमलनाथ : दिग्विजय

आरएसएस कार्यालय को दोबारा सुरक्षा मुहैया कराएं कमलनाथ : दिग्विजय

भोपाल/स्वदेश वेब डेस्क। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस) के कार्यालय से सुरक्षा हटाने को लेकर राज्य के पूर्व सीएम एवं भोपाल सीट से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह का बयान सामने आया है। उन्होंने एक ट्वीट के जरिए कमलनाथ सरकार से आरएसएस कार्यालय को दोबारा सुरक्षा मुहैया कराने की अपील की है।

दरअसल मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सोमवार को भोपाल स्थित आरएसएस के मुख्यालय से सुरक्षा हटाने का आदेश दिया था। देर रात आरएसएस कार्यालय के समिधा भवन पर सुरक्षा में तैनात एसएएफ के जवानों को हटा लिया गया और सुरक्षा में तैनात जवानों के तंबू को उखाड़ लिया गया।

मंगलवार की सुबह कांग्रेस के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह ने सरकार के इस निर्णय पर आपत्ति जताते हुए ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, 'भोपाल राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कार्यालय से सुरक्षा हटाना बिल्कुल उचित नहीं है, मैं मुख्यमंत्री कमलनाथ जी से अनुरोध करता हूं कि तत्काल पुन: पर्याप्त सुरक्षा देने के आदेश दें'। मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिग्विजय सिंह दोनों ही पूर्व में संघ के आलोचक रहे हैं। ऐसे में अब लोकसभा चुनाव से पहले दिग्विजय का ये कदम चौंकाने वाला है।

उधर, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने भी सरकार के इस फैसले की निंदा करते हुए ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, 'भोपाल स्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यालय से सुरक्षा का हटाया जाना @OfficeOfKNath का बेहद ही निंदनीय कदम है। @INCMP द्वारा शायद फिर किसी हमले की योजना बनाई गई है। अगर किसी स्वयंसेवक को खरोंच भी आई तो कांग्रेस सरकार की ईंट से ईंट बजा दी जाएगी। @BJPyIndia @BJPyMP'।

उल्लेखनीय है कि भोपाल स्थित संघ कार्यालय समिधा मध्य क्षेत्र का मुख्यालय है। यहां पर 2009 से एसएएफ को तैनात किया गया था लेकिन समिधा के सामने लगा एसएएफ का टेंट सोमवार रात साढ़े नौ बजे हटना शुरू हो गया और रात 11 बजे तक सभी जवान अपना सामान लेकर चले गए। हालांकि जवानों को क्यों हटाया गया इस पर अभी सरकार या पुलिस की तरफ से कोई बयान नहीं आया।

Updated : 2019-04-02T15:15:29+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top