Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > ये मेरा लाड़ ही है जो मुझे भांजे भांजियों से जोड़े रखता है : शिवराज

ये मेरा लाड़ ही है जो मुझे भांजे भांजियों से जोड़े रखता है : शिवराज

सीएम शिवराज सिंह ने टॉपर छात्र छात्राओं को दी स्वर्णशारदा स्कॉलरशिप , ग्वालियर की खुशबू शर्मा सहित 58 छात्राएं और 12 छात्र सम्मानित

ये मेरा लाड़ ही है जो मुझे भांजे भांजियों से जोड़े रखता है : शिवराज
X

भोपाल/ ग्वालियर । मध्यप्रदेश विधानसभा के सभागार में सोमवार को आयोजित एक समारोह में प्रदेश के टॉपर छात्र और छात्राओं को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सम्मानित किया। प्रदेश के इलेक्ट्रॉनिक न्यूज चेनल आईबीसी24 द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्वालियर की खुशबू शर्मा सहित प्रदेश के 52 जिलों की 58 टॉपर छात्राओं और 10 संभागों के 12 टॉपर छात्रों को स्वर्णशारदा स्कॉलरशिप प्रदान की। कार्यक्रम में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी गई और श्रद्धांजलि स्वरूप " गीत नया गाता हूँ " की प्रस्तुति दी गई जिसमें अटल जी की कविताओं की संगीतमयी प्रस्तुति दी गई।


मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सबसे पहले अटल जी को याद किया और कहा कि शिक्षा की अलख जगाने के लिए अटल जी ने हमेशा प्रेरित किया इसलिए आज मैं इस कार्यक्रम के आयोजक को बधाई देता हूँ। उन्होंने कहा कि मेरे लिए सबसे ज्यादा खुशी का पल वो होता है जब मैं अपने भांजे भांजियों से मिलता हूँ , ये मेरा लाड़ ही है जो मुझे इनसे जोड़े रखता है। मैं किसी भी कार्यक्रम में जाता हूँ तो बच्चों से हाथ मिलाता हूँ क्योंकि ये देश का भविष्य हैं। सीएम ने कहा कि पैसे के कारण प्रतिभा कुंठित नहीं हो ये राज्य सरकार का धर्म है और मेरी ड्यूटी है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे मप्र विधानसभा अध्यक्ष सीतासरण शर्मा ने कहा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने हमेशा प्रदेश के विकास की चिंता की है। खासकर बेटियों के लिए वे शुरू से ही चिंतित रहे इसीलिए बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा दिया जो आज प्रदेश की पहचान है उन्होंने कहा कि राजनेता यदि कोई विजन देता है और उस पर खुद चलना प्रारंभ करता है तो फिर समाज उस पर चलना शुरु कर देता है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक विजन देखा बेटी पढ़ाओ, तो बेटों ने कहा कि बेटे क्यों नहीं। मुख्यमंत्री ने फिर शुरु किया बेटे-बेटी पढ़ाओ। इसे आईबीसी24 ने आगे बढ़ाया है। जानकारी मिली है कि गोयल ग्रुप बस्तर में एक स्कूल चला रहा है। हिंसा पीड़ित परिवारों के बच्चों को पढ़ा रहा है। यह भी जानकारी मिली कि रायपुर में भी एक स्कूल है जहां यह ग्रुप 400 बच्चों को मुफ्त शिक्षा दे रहा है। इसके लिए उन्होंने समूह को बधाई दी . कार्यक्रम में विशेष रूप से मौजूद आध्यात्मिक गुरु पवन सिन्हा ने छात्र-छात्राओं को टिप्स दिए। और उनकी शंकाओं के समाधान किया और लक्ष्य निर्धारित करने के तरीके भी बताये।

इस मौके पर मौजूद गोयल ग्रुप और आईबीसी24 के चेयरमैन सुरेश गोयल ने अतिथियों और मौजूद सभी लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि यह इस आयोजन का चौथा वर्ष है। हमें 4 दिन पहले ही ऐसा आघात पहुंचा है जिससे हम कभी नहीं उबर पाएंगे। अटलजी के देहावसान के बाद सारा देश उन्हें याद कर रहा है। इसलिए हमने बेटियों के सम्मान का यह कार्यक्रम अटलजी को समर्पित किया है। आईबीसी24 परिवार उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करता है। श्री गोयल ने बताया कि स्वर्ण शारदा स्कॉलरशिप के तहत साल 2017 -18 की 12 वीं की परीक्षा में अपने-अपने जिले से टॉप करने वाली एक-एक छात्रा को 50 -50 हजार रुपए की छात्रवृत्ति और प्रदेश में टॉप करने वाली छात्रा को 1 लाख रुपए की छात्रवृत्ति और टॉपर छात्रा के स्कूल को 1 लाख रुपए की प्रोत्साहन राशि प्रदान की गई। वहीं प्रदेश के दस संभागों के टॉपर छात्रों को 50 - 50 हजार रुपए की छात्रवृत्ति प्रदान की गई। उन्होंने कार्यक्रम में सम्मानित होने वाले छात्राओं को शुभकामनाओं के साथ आशीर्वाद दिया।

Updated : 2018-08-21T00:04:53+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top