Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > कांग्रेस नए चेहरों पर खेलेगी दांव 30 फीसदी युवाओं को मिलेगा मौका

कांग्रेस नए चेहरों पर खेलेगी दांव 30 फीसदी युवाओं को मिलेगा मौका

कांग्रेस ने तय की टिकट देने की गाइड लाइन

कांग्रेस नए चेहरों पर खेलेगी दांव 30 फीसदी युवाओं को मिलेगा मौका
X

विशेष संवाददाता/भोपाल। प्रदेश में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस व भाजपा में प्रत्याशी चयन के लिए कवायद का दौर शुरु हो गया है। इस बार दोनो ही दलों का पूरा फाकस युवा व नए प्रत्याशियों पर बना हुआ है। यही वजह है कि सत्ता से बीते चौदह साल से दूर कांग्रेस ने समय से पहले प्रत्याशी चयन का पूरा काम कर लेने के लिए अभी से प्रयास कर रही है। इसी तरह से भाजपा प्रदेश में लगातार चौथी बार सत्ता पाने के लिए खराब परफॉर्मेंस और उम्र के नाम पर कुछ विधायकों के टिकट काटने की तैयारी कर रही है। इनकी जगह वह युवा व साफ छवि के नेताओं को टिकट देने की तैयारी में है। भाजपा जहां कम मतों से विजय होने वाले विधायकों को भी टिकट से वंचित करने की तैयारी मे हैं तो कांग्रेस भी लगातार दो चुनाव हार चुके नेताओं को इस बार टिकट से दूर रखने जा रही है।

यह दिए सुझाव

-30 फीसदी युवाओं को टिकट दिए जाएं।

-एक परिवार से एक व्यक्ति को टिकट दें।

-बड़े अंतर से हारने वालों को टिकट नहीं दें।

-टिकट में उम्र का बंधन नहीं हो।

-सिर्फ जिताऊ उम्मीदवार को टिकट दिया जाए।

-दूसरी पार्टियों से आए नेताओं को टिकट नहीं दें।

कांग्रेस की स्क्रीनिंग

कमेटी ने डाला डेरा

कांग्रेस में टिकट के लिए स्क्रीनिंग का काम शुरु हो गया है। इसकके लिए स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री, सदस्य नीता डिसूजा और अजय कुमार लल्लू ने भोपाल ने तीन दिनों तक यहा डेरा डाले रखा । इन नेताओं ने दावेदारो से वन-टू-वन चर्चा की। बताया जा रहा है कि कांग्रेस इस बार लगातार दो और तीन बार हारने वालों को टिकट नही देगी। स्क्रीनिंग कमेटी द्वारा विधानसभा क्षेत्रों और नेताओं की जमीनी हकीकत जानने का प्रयास भी किया गया । इस कमेटी द्वारा पूर्व सांसदों, पार्टी पदाधिकारियों और कार्यवाहक अध्यक्षों से भी मुलाकात भी की इनमें सुरेश पचौरी, नारायण सिंह आमलावे, सुरेन्द्र सिंह ठाकुर, सत्यनारायण पंवार, प्रतापभानु शर्मा, सूरजभान सोलंकी, बाबूलाल सोलंकी, सज्जन सिंह वर्मा, प्रेमचंद गुड्डू, विजयलक्ष्मी साधो, विश्वेश्वर भगत, जीतू पटवारी, सुरेन्द्र चौधरी सहित अन्य नेता शामिल थे। सबसे चर्चा करने के बाद कमेटी ने जो टिकट देने केलिए जो रिपोर्ट तैयार की है।

भाजपा काटेगी छह दर्जन विधायकों के टिकट

विधायकों की स्थानीय एंटी इंकम्बैंसी व लोगों की नाराजगी का सामना कर रही भाजपा इस बार करीब छह दर्जन विधायकों के टिकट काटने की तैयारी में है। मुख्यमंत्री और पार्टी के बड़े नेताओं के बीच इसको लेकर प्रारंभिक चर्चा हो गई है। सूत्रों की माने तो जिन विधायकों के टिकट काटने की तैयार है उसमे से 10 को इसकी जानकारी भी दी जा चुकी है। टिकट काटने का आधार विधायकों की खराब परफार्मेंस, संभागीय संगठन मंत्रियों की रिपोर्ट, उम्र और सेहत को बनाया गया है। पार्टी ने इन सीटों पर संभावित उम्मीदवार के लिए पैनल बनाने का काम भी शुरू कर दिया है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ने पहले ही विधायक दल की बैठक में साफ कर दिया था कि खराब परफार्मेंस वाले विधायकों को पार्टी टिकट नहीं देगी।

Updated : 2018-07-19T16:02:30+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top