Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > इंदौर घटनाक्रम: मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा किसी भी दोषी को नहीं छोड़ा जायेगा

इंदौर घटनाक्रम: मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा किसी भी दोषी को नहीं छोड़ा जायेगा

इंदौर घटनाक्रम: मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा किसी भी दोषी को नहीं छोड़ा जायेगा

भोपाल। इंदौर के सिलावटपुरा में बुधवार को स्थानीय लोगों ने स्वास्थ्य विभाग की टीम पर हमला कर दिया था। जिसके बाद आज प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे वारियर्स को विश्वास दिलाया की वह और प्रदेश सरकार उनके साथ है।

मुख्यमंत्री ने आज एक वीडियो जारी कर कहा की कोरोना के खिलाफ लड़ने वाले डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, आशा, उषा कार्यकर्ता, राजस्व अमला, नगरीय निकाय के कर्मचारी आप सभी कोरोना के खिलाफ लड़ाई जारी रखें, आपकी संपूर्ण सुरक्षा हमारी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना इंदौर में हुई है, उस घटना में शामिल सभी अराजक तत्वों को किसी भी कीमत में नहीं छोड़ा जाएगा। उन्होंने सभी को विश्वास दिलाया की सरकार आपके साथ है, सभी की सुरक्षा की जायेगी।

उन्होंने कहा की ऐसे लोग मूठी भर है , आपके पीड़ित और मानवता को बचाने के कार्य में जोभी व्यक्ति बढ़ा डालेगा। उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने आगे कहा की लोगों की जिंदगी बचाने के लिए जरुरी है की आप अपने कार्य को करते रहे, आपकी कर्तव्यनिष्ठा को प्रणाम करता हूँ। मैं और पूरा प्रदेश आपके साथ है।

पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है कुछ को गिरफ्तार किया गया है और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई हो रही है। सीएम ने कहा ऐसे लोग मुट्ठी भर हैं। सीएम ने कहा पीड़ित मानवता को बचाने के लिए आपके काम में कोई बाधा डालेगा तो कार्रवाई होगी तो ऐसे लोगो को किसी कीमत पर नहीं छोड़ेंगे। वीडियो संदेश में सीएम ने कहा कि लोगों की जिंदगी के लिए जरूरी है आप अपने काम में जुटे रहे, आपकी कर्तव्यनिष्ठा को प्रणाम साथ ही उन्होंने कहा कि मैं और पूरा प्रदेश आपके साथ है।

दरअसल, बुधवार को इंदौर के टाट पट्टी बाखल इलाके में कोरोना वायरस से संदिग्ध एक बुजुर्ग महिला का मेडिकल चेकअप करने के लिए स्वास्थ्य कर्मियों की टीम, जिसमें डॉक्टर, नर्स और आशा कार्यकर्ता शामिल थे, लाने आई थी, जिसका वहां के लोगों ने विरोध किया और लोगों ने पथराव कर दिया। उन्होंने लाठी-डंडों से उनका पीछा किया और फिर किसी तरह स्वास्थ्यकर्मियों की टीम जान बचाते भागी। बता दें कि यह घटना ऐसे वक्त में हुई है जहां पूरा देश डॉक्टरों के लिए तालियां बजा रहा है और उनके योगदान को सराह रहा है, मगर वहीं कुछ लोग इन्हें गालियां भी दे रहे हैं और पत्थर भी मार रहे हैं।

Updated : 2020-04-03T11:58:28+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top