Top
Home > Lead Story > दिल्ली इलेक्शन में भाजपा ने क्यों नहीं दिया एक भी मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट, जानें वजह

दिल्ली इलेक्शन में भाजपा ने क्यों नहीं दिया एक भी मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट, जानें वजह

दिल्ली इलेक्शन में भाजपा ने क्यों नहीं दिया एक भी मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट, जानें वजह

नई दिल्ली। दिल्ली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रमुख और उत्तर पूर्वी दिल्ली के सांसद मनोज तिवारी ने पार्टी के चुनाव अभियान, शाहीन बाग में चल रहे विरोध प्रदर्शन, उनकी पार्टी के सांसदों द्वारा भड़काऊ नारे और बयान, भाजपा की 21 साल के बाद सत्ता में लौटने की संभावनाओं के बारे में हिंदुस्तान टाइम्स से बात की।

तिवारी से जब पूछा गया कि भाजपा 'सबका साथ, सबका विकास' की बात करती है। 1993 के बाद यह पहली बार है कि भाजपा ने दिल्ली चुनाव में कोई मुस्लिम उम्मीदवार नहीं उतारा है। क्यों? मुस्लिम उम्मीदवार हमें जीतने पर भी मदद नहीं करते हैं। हमारे पास केंद्र में मुस्लिम समुदाय के मंत्री हैं। हमें उन्हें राज्य सभा और विधान परिषदों के माध्यम से लाना है। हमने उन्हें कई बार टिकट दिए हैं, लेकिन वे हमें जीतने में मदद नहीं करते हैं।

शाहीन बाग में हो रहे आंदोलन के खिलाफ कार्रवाई न करने को लेकर पूछे गए सवाल पर तिवारी ने कहा कि चुनाव आयोग पहले ही उन्हें सजा दे चुका है। लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि चुनाव आयोग को शाहीन बाग में नारे लगाए जाने के बारे में विचार करना चाहिए।अमानतुल्ला खान, मणिशंकर अय्यर, शशि थरूर जैसे नेता वहां भाषण दे रहे हैं। मैं ईसी से निवेदन करना चाहता हूं कि उनके खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए।

मनोज तिवारी ने कहा कि अरविंद केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री हैं। लोग धरने पर बैठे हैं और 50 दिनों से पूरे क्षेत्र को रोके हुए हैं, लेकिन उन्होंने इस क्षेत्र का दौरा नहीं किया है। क्या उन्हें लोगों से अपील नहीं करनी चाहिए? लेकिन वह कहते हैं कि वे शाहीन बाग के साथ हैं। इसका मतलब है कि वह दिल्ली शाहीन बाग बनाना चाहते हैं।

Updated : 4 Feb 2020 6:26 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top