Top
Home > Lead Story > जम्मू कश्मीर में विदेशी दल का दौरा कल, प्रधानमंत्री से की मुलाकात

जम्मू कश्मीर में विदेशी दल का दौरा कल, प्रधानमंत्री से की मुलाकात

जम्मू कश्मीर में विदेशी दल का दौरा कल, प्रधानमंत्री से की मुलाकात

नई दिल्ली।जम्मू कश्मीर के हालात का जायजा लेने के लिए भारत आए यूरोपीय संसद के नवनिर्वाचित सदस्यों के प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की। यह प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को जम्मू कश्मीर जाएगा।

यूरोपीय संसद के सदस्यों ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से उनके सात लोक कल्याण मार्ग स्थित आवास पर मुलाकात की। प्रधानमंत्री ने अपने कार्यकाल की शुरुआत में ही सांसदों के भारत के साथ संबंधों को महत्व देने के लिए उनकी सराहना की।

प्रतिनिधिमंडल में फ्रांस, ब्रिटेन, जर्मनी, इटली, पोलैंड और बेल्जियम आदि देशों से यूरोपीय संसद के लिए हाल में चुने गए सांसद शामिल हैं।

यूरोपीय प्रतिनिधिमंडल अपनी जम्मू कश्मीर यात्रा के दौरान स्थानीय प्रशासन और लोगों से मिलेगा। वह जम्मू कश्मीर के राज्यपाल से भी मुलाकात करेगा।

यूरोपीय संसद के एक सदस्य ने बताया कि प्रतिनिधिमंडल कल जम्मू कश्मीर जा रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने प्रतिनिधिमंडल को राज्य में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के विषय में विस्तार से बताया है लेकिन वह जम्मू कश्मीर के जमीनी हालात जानने के इच्छुक है और स्थानीय लोगों से बातचीत करना चाहते हैं।

प्रधानमंत्री ने यूरोपिय संसद के प्रतिनिधिमंडल को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हें आशा है कि जम्मू कश्मीर सहित देश के विभिन्न हिस्सों की यात्रा उनके लिए उपयोगी रहेगी।

जम्मू कश्मीर की यात्रा से प्रतिनिधिमंडल को जम्मू, कश्मीर और लद्दाख के क्षेत्र की सांस्कृतिक और धार्मिक विविधता की बेहतर समझ मिलेगी। साथ ही उन्हें क्षेत्र के विकास और सरकार की प्राथमिकताओं के बारे में उनका समझ बेहतर होगी।

मोदी ने पाकिस्तान की ओर इशारा करते हुए कहा कि आतंक को समर्थन या प्रायोजित करने वाले, ऐसी गतिविधियों व संगठनों का समर्थन करने वालों और नीति के रूप में आतंकवाद का उपयोग करने वालों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिए।

विश्व समुदाय को आतंकवाद को कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति अपनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि यूरोपीय संघ के साथ भारत का संबंध साझा हितों और लोकतांत्रिक मूल्यों के प्रति प्रतिबद्धता पर आधारित है। उन्होंने कहा कि निष्पक्ष और संतुलित बीटीआईए (भारत यूरोपिए संघ के बीच वाणिज्य समझौता) का जल्द निष्कर्ष सरकार के लिए प्राथमिकता है।

क्षेत्रीय और वैश्विक मामलों पर यूरोपीय संघ के साथ जुड़ाव को मजबूत करने की आवश्यकता के बारे में बात करते हुए प्रधानमंत्री ने आतंकवाद से लड़ने के लिए करीबी अंतरराष्ट्रीय सहयोग के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने वैश्विक साझेदारी के रूप में अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन के विकास के बारे में भी बताया।

Updated : 28 Oct 2019 3:26 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top