Top
Home > Lead Story > उपराष्ट्रपति बोले - साइबर लड़ाई जीतने के लिए ज्ञान की शक्ति जरूरी

उपराष्ट्रपति बोले - साइबर लड़ाई जीतने के लिए ज्ञान की शक्ति जरूरी

उपराष्ट्रपति बोले - साइबर लड़ाई जीतने के लिए ज्ञान की शक्ति जरूरी
X

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने कहा है कि नए जमाने में साइबर लड़ाई के युग में नए दुश्मन को केवल ज्ञान की शक्ति से ही जीता जा सकता है।

दिल्ली के विज्ञानभवन में आयोजित ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलपमेंट (बीपीआर एंड डी) के 48वें स्थापना दिवस पर सभा को संबोधित करते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा कि हमें हजारों मील दूर बैठे हैकर्स से देश की सुरक्षा को होने वाले खतरे के खिलाफ तैयार होना होगा। इस अवसर पर गृह राज्यमंत्री किरेन रिजीजू और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

उन्होंने कहा कि बीपीआर एंड डी से उभरती हुई नई दौर के राष्ट्रीय सुरक्षा खतरों का मुकाबला करने के लिए पुलिस कार्यप्रणाली में सर्वोत्तम प्रथाओं, नीतियों और प्रक्रियाओं विकसित करना चाहिए।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि पुलिस बलों के ज्ञान और योग्यता और सुधार और कार्यान्वयन की हमारी क्षमता काफी महत्व रखती है। उन्होंने कहा कि समृद्ध भारत की ही तरह हमें सुरक्षित भारत भी चाहिए और भारत सुरक्षित तभी होगा जब भारत सक्षम बनेगा।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि भारत सरकार ने साइबर हमलों को रोकने के लिए विभिन्न उपाय किए हैं। उन्होंने कहा कि साइबर स्पेस में नए दुश्मन का मुकाबला करने के लिए सरकारी बिल्डिंग के पीछे रहने भर से काम नहीं चलेगा।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि सभी सुरक्षा एजेंसियों को मिल-जुल कर काम करना चाहिए और निजी क्षेत्र के साथ एक काम करने लायक तंत्र स्थापित करने के लिए भी काम करना चाहिए।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि सरकार और निजी क्षेत्र को आधुनिक युद्ध के खतरों सहित भविष्य की चुनौतियों के लड़ने के लिए पुलिस को मजबूत करना होगा। उन्होंने कहा कि देश के सभी पुलिस बलों को साइबर फोरेंसिक तकनीकों और साइबर-हमले का सामना करने या साइबर अपराध की जांच करने के लिए खुद को तैयार करना होगा।

Updated : 2018-08-27T22:04:48+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top