Top
Home > Lead Story > वेंकैया नायडू ने कहा - रक्षाबंधन एकता व मानवता का उत्सव, हमें भुला देने चाहिए आपसी मतभेद

वेंकैया नायडू ने कहा - रक्षाबंधन एकता व मानवता का उत्सव, हमें भुला देने चाहिए आपसी मतभेद

वेंकैया नायडू ने कहा - रक्षाबंधन एकता व मानवता का उत्सव, हमें भुला देने चाहिए आपसी मतभेद
X

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उनके आवास पर जाकर रविवार को राखी बांधी। रक्षाबंधन से जुड़े कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा कि रक्षाबंधन का पर्व एकजुटता, एकता व मानवता का उत्सव है।

ट्वीटर के माध्यम से रक्षाबंधन से जुड़ी तस्वीरें साझा कर उपराष्ट्रपति ने कहा, ''रक्षा बंधन के अवसर पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज मेरे आवास पर राखी बांधी। पत्नी उषा नायडू ने इस अवसर पर सुषमा के साथ शुभकामनाएं साझा कीं।''

इसके बाद उपराष्ट्रपति ने 100 से अधिक स्कूली छात्राओं से राखी बंधवाई। उन्होंने कहा कि रक्षा बंधन भाइयों और बहनों के बीच अदृश्य बंधन का प्रतीक है। बच्चों उनके अभिभावकों और अन्य उपस्थिति लोगों को संबोधित करते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा कि रक्षा बंधन एकजुटता, एकता व मानवता का उत्सव है। रक्षा बंधन को भाई-चारे से जोड़ते हुए नायडू ने कहा कि रक्षाबंधन में हम सबको आपस में जोड़ने वाले बांधन से जोड़ लेना चाहिए। हमें ऐसी राखी बांधनी चाहिए जिसमें सहानुभूति, करुणा, समझ और प्रशंसा का अदृश्य चमकदार धागा हो। हम सभी मतभेदों को मिटा दें जो हमारे सामाजिक ताने-बाने को बिगाड़ने में लगे हैं। उन्होंने अपील की कि हमें अपनी समृद्ध संस्कृति के मानवीय और सामंजस्यपूर्ण विचारों को आधार बनाकर अपना भविष्य तैयार करना चाहिए।

Updated : 2018-08-26T19:42:43+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top