Top
Home > Lead Story > मुख्यमंत्री कमलनाथ की स्वदेश समूह के राजनीतिक संपादक से विशेष बातचीत

मुख्यमंत्री कमलनाथ की स्वदेश समूह के राजनीतिक संपादक से विशेष बातचीत

मुख्यमंत्री कमलनाथ की स्वदेश समूह के राजनीतिक संपादक से विशेष बातचीत

कोरी घोषणाएं नहीं, जमीन पर किए बदलाव : कमलनाथ

भोपाल। कमलनाथ आज प्रदेश के ही नहीं, देश के उन प्रमुख नेताओ में से एक है जिन्होंने न केवल संसद के फ्लोर मैनेजमेंट में खुद को प्रमाणित किया है बल्कि राजनीतिक जमावट एवं प्रशासकीय क्षमता में भी खुद को साबित किया है। प्रदेश की राजनीति से दूर रहे कमलनाथ ने प्रदेश में एक साल के शासनकाल में यह दिखा दिया है कि वह बोलने में कम काम करने में अधिक विश्वास करते हैं। मध्यप्रदेश सरकार के एक वर्ष पूर्ण होने पर बेहद व्यस्तता के बीच आपने स्वदेश को एक विशेष भेंट दी। अपनी बातचीत में श्री कमलनाथ ने कहा कि वह सकारात्मक राजनीति में यकीन करते हैं और आज सरकार के गठन की वर्षगांठ की पूर्व संध्या पर सिर्फ विकास की ही बात करेंगे। कारण यही उनकी राजनीति का आधार हैं।

=सवाल: एक बेहद अनिश्चित वातावरण में स्थापित प्रदेश सरकार का आपके नेतृत्व में एक वर्ष हो रहा है। बधाई। लोकतंत्र में जनता ही मूल्यांकन करती है। आप स्वयं एक वर्ष के प्रदर्शन से कितना संतुष्ट हैं? प्रमुख उपलब्धियां क्या हैं ?

जवाब : धन्यवाद। हम जनता को अपने दिए गए वचनों को पूरा करने के लिए सरकार के गठन के पहले दिन से ही अपने कार्य में जुट गये थे। जहाँ तक हमारे प्रदर्शन का सवाल है, यह तो प्रदेश की जनता ही तय करेगी। हम तो केवल इतना ही कह सकते हैं कि हमने प्रदेश की जनता को दिये वचनों को पूरा करने के लिए पूरी ईमानदारी और प्रतिबद्धता के साथ कार्य किया है। जहां तक उपलब्धियों का प्रश्न है तो मैं यह कहना चाहूंगा कि हमने प्रदेश की जनता से जो भी वादे किये हैं वह पूरे किये हैं। हमने कोरी घोषणाएं नहीं की हैं बल्कि जमीनी स्तर पर प्रदेश के लोगों को लाभ मिले यह सुनिश्चित किया है। हम चाहते हैं हमारा काम स्वयं अपना प्रमाण दे। हमने प्रदेश के हित में नई नीतियों का निर्माण किया है, उद्योगों में आ रही अड़चनों को हमने दूर किया है। प्रदेश में विश्वास का वातावरण निर्मित किया है। किसानों की कर्जमाफी, आदिवासी हित के लिए नई नीतियां, उच्च शिक्षा और कौशल विकास पर विशेष ध्यान, सस्ती और सुलभ बिजली, शुद्ध के लिए युद्ध, नवीन पर्यटन नीति, औद्योगिक विकास पर विशेष ध्यान हमारी अब तक की उपलब्धियां हैं। अभी यह सिर्फ शुरुआत है, शीघ्र ही आपको और भी कई नये विकास से जुड़े कार्य प्रदेश में देखने को मिलेंगे। जैसा कि आपने कहा कि लोकतंत्र में जनता ही मूल्यांकन करती है तो उपलब्धियां और प्रदर्शन के बाद जनता पर ही मूल्यांकन छोड़ देना चाहिए।

सवाल : भाजपा ने प्रदेश में 15 साल राज किया। आप उनके कार्यकाल को एक मुख्यमंत्री के नाते कैसे देखते हैं ?

जवाब: भाजपा शासन काल के बारे में मैं कुछ नहीं कहना चाहूंगा। जो कहना था वह प्रदेश के मतदाता ने हमारी सरकार को चुनकर कह दिया। भाजपा सत्ता में रहते हुए और अब सत्ता के बाहर से भी केवल दिखावे की राजनीति करती है। खैर, इनके भ्रष्टाचार और कुशासन की बात करेंगे तो हमारा समय ही खराब होगा। हमें अब सकारात्मक रूप से आगे बढ़ते हुए नये सिरेे से मध्यप्रदेश की विकास गाथा लिखनी है। इस दिशा में पिछले एक वर्ष से हम कार्य कर रहे हैं। जब से हमारी सरकार बनी है, तब से हम प्रदेश की उन्नति के लिए संकल्पबद्ध होकर काम कर रहे हैं, कम समय में ही हमने प्रदेश वासियों की स्थिति सुधारने के लिए कई जनकल्याणकारी योजनाएं लागू की हैं तथा कई योजनाओं में सुधार के लिए बदलाव किए हैं। जिनके अच्छे परिणाम आज प्रदेश की जनता महसूस कर रही है। किसानों की कर्ज माफी, आम आदमी को सस्ती बिजली और श्रमिकों को सम्मान देने का काम हमने किया है। अभी तो एक साल ही हुआ है आने वाले चार सालों में आपको बदला हुआ मध्यप्रदेश देखने को मिलेगा, यह मेरा आपसे वादा है।

सवाल : केंद्र की राजनीति छोड़ आप प्रदेश के मुख्यमंत्री बनकर प्रदेश की राजनीति में सक्रिय हैं। एक साल के अंदर कई संभागों, जिलों के दौरे कर वहां की समस्याएं जानी ही हैं। क्या स्थिति है?

जवाब: जिन जिलों एवं संभागों में विकास कार्यों में बाधाएं आ रही थीं, उनके समाधान के निर्णय हमने लिये हैं। कई जिलों एवं विकास खण्डों में विभिन्न विकास कार्यों के लिए हमने राशि भी जारी की है। आदिम जाति बहुल इलाकों के लिए हमने विशेष योजनाएं बनाईं हैं। आदिमजाति और अनुसूचित जाति क्षेत्र के कृषकों के लिए हमने अनुदान राशि से जुड़ी योजनाएं बनाई हंै। प्रदेश में ''आपकी सरकार, आपके द्वार'' कार्यक्रम चलाया जा रहा है, जिसमें अधिकारीगण स्वयं गांवों में जाकर आमजन से मिलकर उनकी समस्याएं जान रहे हैं और उनके निराकरण के लिए कार्य कर रहे हैं।

Updated : 17 Dec 2019 10:15 AM GMT
Tags:    

Swadesh News ( 0 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top