Top
Home > Lead Story > नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने का संकल्प लें कार्यकर्ता : अमित शाह

नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने का संकल्प लें कार्यकर्ता : अमित शाह

- मध्य प्रदेश में विजय संकल्प बाइक महारैली के शुभारंभ मौके पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का आह्वान

नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने का संकल्प लें कार्यकर्ता : अमित शाह
X

उमरिया । देश को सुरक्षित कौन रख सकता है? देश के सम्मान और इसके गौरव को कौन बढ़ा सकता है? देश को दुनिया की सबसे तेज बढ़ती अर्थव्यवस्था और एक महाशक्ति कौन बना सकता है? क्या 23 पार्टियों का महागठबंधन ये काम कर सकता है? इन सभी सवालों का एक ही जवाब है और वो है-प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी। देश की सुरक्षा और उसके स्वाभिमान के लिए सभी कार्यकर्ता नरेन्द्र मोदी को एक बार फिर देश का प्रधानमंत्री बनाने का संकल्प लें। यह बात शनिवार को भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने प्रदेश के उमरिया में विजय संकल्प बाइक महारैली का शुभारंभ करते हुए कही। समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, महासचिव अनिल जैन, लोकसभा चुनाव प्रभारी स्वतंत्र देव सिंह, सह प्रभारी सतीश उपाध्याय, सांसद फग्गनसिंह कुलस्ते और सांसद ज्ञानसिंह आदि उपस्थित थे।

अभिनंदन को वंदन

भाजपा नेता शाह ने भाषण की शुरुआत पाकिस्तान के एफ-16 विमान को मार गिराने वाले शूरवीर विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान के स्वागत के साथ की। उन्होंने कहा, आज देश के अलग-अलग हिस्सों में एक करोड़ से ज्यादा पार्टी कार्यकर्ता बाइक महारैली में शामिल हुए।हम रिकॉर्ड के पचड़े में नहीं पड़ते, लेकिन यह भी विश्व रिकॉर्ड बनने जा रहा है कि मोदी को जिताने के लिए देशभर में एक करोड़ से ज्यादा मोटरसाइकलें एक साथ निकली हैं। ये कार्यकर्ता गांव-गांव, गली-गली जाएंगे।

हमारी राजनीतिक संस्कृति अलग

शाह ने कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व में बन रहे ठगबंधन और भारतीय जनता पार्टी में फर्क है। सारी पार्टियां जाति, धनबल, बाहुबल, परिवारवाद और तुष्टिकरण के आधार पर चुनाव लड़ती हैं। भाजपा लोकसंपर्क के आधार पर चुनाव लड़ती है। जब सरकार में रहें तब जनकल्याण और जब चुनाव में जाएं, तो जनसंपर्क ही भाजपा का तरीका है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने अलग राजनीतिक संस्कृति बनाई है। चाहे 22 करोड़ लाभार्थियों का संपर्क हो, कमल दीपावली हो, चाहे बाइक रैली हो। ये सभी अभियान लोकसंपर्क के लिए ही हैं और इनके माध्यम से हम 2019 के चुनाव के पहले हर मतदाता तक पहुंचेंगे।

चुनाव देश के लिए होना चाहिए

राष्ट्रीय अध्यक्ष शाह ने कहा कि लोकसंपर्क के दौरान हमें लोगों को यह बताना चाहिए कि चुनाव का मुद्दा क्या है? चुनाव क्यों होना चाहिए? क्या चुनाव सिर्फ इसलिए होना चाहिए कि किसी की उम्र बढ़ रही है और उसे प्रधानमंत्री बनना है? या सिर्फ इसलिए होना चाहिए कि कोई परिवार अपने शहजादे को गद्दी पर बिठाना चाहता है। क्या चुनाव इसलिए होना चाहिए कि कोई अपने परिवार को फिर से सत्ता में लाना चाहता है? उन्होंने कहा कि चुनाव देश के लिए होना चाहिए। भाजपा का मानना है कि चुनाव देश के 50 करोड़ गरीबों के जीवन में नया प्रकाश लाने के लिए होना चाहिए। चुनाव देश के अर्थतंत्र को गति देने के लिए होना चाहिए। चुनाव देश को महाशक्ति बनाने के लिए होना चाहिए। चुनाव देश के गौरव को बढ़ाने के लिए होना चाहिए। चुनाव देश की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए होना चाहिए। चुनाव पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए होना चाहिए।

70 साल में कुछ नहीं किया, अब...

शाह ने कहा कि देश की जनता ने 70 साल मिलावट वाले दलों का शासन देखा है, जिनमें से 55 साल राहुल बाबा के परिवार का शासन रहा है। लेकिन इन 70 सालों में कुछ नहीं हुआ। अब सारे विपक्षी नेता हमारी एयर फोर्स ने जो एयर स्ट्राइक की है, उस पर सवाल उठा रहे हैं। मैं पूछना चाहता हूं कि राहुल बाबा आप भी कम समय सत्ता में नहीं रह रहे हैं। देश में 30 साल से आतंकवाद है, लेकिन आप ने क्या किया? कभी आतंकवादियों को मुंहतोड़ जवाब दिया क्या? भाजपा नेता ने कहा कि राहुल बाबा हम पर राजनीतिकरण का आरोप लगाते हैं। इनमें हिम्मत नहीं थी देश के जवानों के खून का बदला लेने की। इनमें हिम्मत नहीं थी पाकिस्तान और आतंकियों को मुहतोड़ जवाब देने की। लेकिन प्रधानमंत्री ने ये संभव कर दिखाया है।

हम जान देने को तैयार

शाह ने कहा कि मैं देश के जवानों के पराक्रम पर सवाल उठाने वालों को बताना चाहता हूं कि पाकिस्तान को ये चार दिन बड़े भारी पड़े हैं। लेकिन देश जब संकट का सामना कर रहा हो, क्या ऐसी भाषा किसी को बोलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि राहुल बाबा हम भी विपक्ष में रहे हैं, लेकिन हमने पाकिस्तान को खुश करने वाली भाषा कभी नहीं बोली। देश पर हमला, मां भारती पर हमला है, ये सोच कर सरकार का समर्थन किया। लेकिन आप इस मुद्दे पर राजनीति कर रहे हो। ममता पूछती हैं स्ट्राइक हुई या नहीं। अखिलेश कहते हैं पुलवामा हमले की जांच होनी चाहिए। मैं कहना चाहता हूं वोट बैंक की राजनीति आपको मुबारक हो। हम तो भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता हैं, देश के लिए जान देने को भी तैयार हैं।

हमने कार्रवाई की, आपने क्या किया

अमित शाह ने कहा कि हमारे नेता प्रधानमंत्री मोदी आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं। 1990 से लेकर आज तक का रिकॉर्ड देख लें। हमारी सरकार के दौरान पिछले पांच सालों में सबसे ज्यादा आतंकवादी मारे गए हैं। जब भी देश पर हमला हुआ, जनता पर हमला हुआ, हमने गोली का जवाब गोले से दिया है। पहले उरी में हमला हुआ, हमने सर्जिकल स्ट्राइक के जरिए आतंकवादियों को संदेश दिया कि भारत के जवानों का खून व्यर्थ में नहीं बहाया जा सकता। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और अन्य सरकारें 70 सालों में कुछ नहीं कर पाईं, लेकिन हमारी सरकार ने वन रैंक-वन पेंशन, शहीद स्मारक जैसे काम किए। अलगाववादियों को विदेशों से मिलने वाली मदद बंद की। पाकिस्तान को अलग-थलग करने के कूटनीतिक प्रयास किए।

हर जगह मोदी के नारे

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पहले देश के प्रधानमंत्री कहीं जाते थे, तो चर्चा तक नहीं होती थी। अब हमारे प्रधानमंत्री जहां भी जाते हैं, हर जगह मोदी-मोदी के नारे सुनाई देते हैं। प्रधानमंत्री का संकल्प है कि आतंकवाद को खोद कर गाड़ देंगे। एयर स्ट्राइक के बाद पूरा देश गौरव से भरा है, लेकिन कुछ लोग मोदी से सवाल करते-करते भारत के गौरव पर सवाल उठा रहे हैं। चौहान ने कहा कि धिक्कार है कांग्रेस, मायावती, ममता, अखिलेश और चंद्रबाबू को। उन्होंने कहा, इतनी शर्म तो करो, कम से कम मोदी विरोध में भारत माता को कलंकित मत करो। उन्होंने कहा कि मोदी का विरोध करते-करते अब ये विपक्षी नेता भारत विरोधी हो गए हैं।

Updated : 2 March 2019 12:17 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top