Top
Home > Lead Story > राज्यसभा 250वां सत्र : स्थायित्व और विविधता इस सदन की सबसे बड़ी विशेषता - मोदी

राज्यसभा 250वां सत्र : स्थायित्व और विविधता इस सदन की सबसे बड़ी विशेषता - मोदी

राज्यसभा 250वां सत्र : स्थायित्व और विविधता इस सदन की सबसे बड़ी विशेषता - मोदी

नईदिल्ली / वेब डेस्क। भारतीय राज्यसभा संसद के 250वें सत्र में प्रधानमंत्री मोदी ने संबोधित करत हुए कहा कि स्थायित्व और विविधता इस सदन की सबसे बड़ी विशेषता है। स्थायित्व इसलिए क्योंकि राज्य सभा कभी भंग नहीं होती। विविधता इसलिए महत्वपूर्ण है कि क्योंकि यहां राज्यों का प्रतिनिधित्व प्राथमिकता है, भारत की अनेकता में एकता की ताकत यहां नजर आती है। उन्होंने कहा कि पहले के दिनों में विरोधाभाव कम था लेकिन अब संघर्ष ज्यादा है। इसके साथ ही उन्होंने ऊपरी सदन में कई महत्वपूर्ण बातें रखी।गौरतलब है की संसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू हो चुका है। जो की संसद का शीतकालीन सत्र 13 दिसंबर तक चलेगा।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को सर्वदलीय बैठक में कहा कि सरकार सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है। लंबित मुद्दों के सकारात्मक ढंग से समाधान और प्रदूषण, अर्थव्यवस्था व किसानों से जुड़े मसलों पर सभी दलों के साथ मिलकर काम करेंगे। राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद प्रधानमंत्री के इस आश्वासन से सहमत नहीं दिखे। उन्होंने कहा कि सदन में बात जब बेरोजगारी, आर्थिक मंदी और किसानों की स्थिति की होती है तो तब सरकार अलग रुख अपनाती है। उन्होंने कहा कि विपक्ष आर्थिक सुस्ती एवं बेरोजगारी जैसे मुद्दे पर सरकार से जवाब मांगेगा।


Updated : 2019-11-19T16:10:56+05:30
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top