Top
Home > Lead Story > आजादी के 67 साल में सिर्फ 65 एयरपोर्ट बने थे, हमने चार साल में 35 बनाये : प्रधानमंत्री

आजादी के 67 साल में सिर्फ 65 एयरपोर्ट बने थे, हमने चार साल में 35 बनाये : प्रधानमंत्री

देश के उड्डयन मानचित्र में जुड़ गया सिक्किम, प्रधानमंत्री ने सिक्किम के पहले और देश के 100 वें पाक्योंग हवाई अड्डे का उद्घाटन किया

गंगटोक/स्वदेश वेब डेस्क। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को पाक्योंग में नवनिर्मित हवाई अड्डे का उद्घाटन किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने पूर्व की सरकारों पर निशाना साधते हुए कहा कि आजादी के 67 साल में सिर्फ 65 एयरपोर्ट बने थे, हमने सवा चार साल में 35 बना दिए| प्रधानमंत्री के हाथों आज उद्घाटित यह हवाई अड्डा सिक्किम का पहला और देश का 100वां हवाई अड्डा है। इस हवाई अड्डे के उद्घाटन के साथ ही सिक्किम का नाम अब देश के उड्डयन मानचित्र में अंकित हो गया है। उद्घाटन समारोह में सिक्किम के राज्यपाल गंगा प्रसाद, मुख्यमंत्री पवन चामलिंग, केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु, केंद्रीय डोनर मंत्रालय के मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह, केंन्द्रीय राज्यमंत्री एसएस आहलुवालिया समेत सिक्किम सरकार के मंत्री, विधायक, मुख्य सचिव आदि उपस्थित थे।

हवाई अड्डे के उद्घाटन के बाद प्रधानमंत्री ने स्थानीय जेवियर्स स्कूल के खेल मैदान में आयोजित एक जनसभा को संबोधित किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपना संबोधन नेपाली भाषा में शुरू करते हुए सिक्किम के प्राकृतिक सुंदरता और सिक्किम के लोगों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि सिक्किम प्राकृतिक रूप में इतना सुंदर है कि यहां हर कोई आना चाहता है।

आज उद्घाटित पाक्योंग हवाई अड्डे के बारे में बोलते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आज का दिन केवल सिक्किम के लिए नहीं बल्कि देश के लिए कभी महत्वपूर्ण दिन है। इस हवाई अड्डे के उद्घाटन के साथ ही देश ने हवाई सेवा के क्षेत्र में सेंचुरी लगाया है। पाक्योंग हवाई अड्डा देश का 100वां हवाई अड्डा है।

उन्होंने कहा कि यह एयरपोर्ट सिक्किम के लोगों के जीवन को और आसान बनाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाएगा। देश के दूसरे हिस्सों में जाने और आने में सिक्किमवासियों को काफी परेशानी होती थी। लेकिन, अब इस एयरपोर्ट के कारण लोगों का सफर आसान हो जाएगा। उन्होंने कहा कि देश के सामान्य व्यक्ति भी हवाई सफर का आनंद ले सके, इसलिए भारत सरकार ने उड़ान योजना की शुरूआत की है। सरकार के इसी विजन और प्रयास के कारण ही आज रेलवे के एयरकंडीशन के समान खर्चे में हवाई सेवा उपलब्ध किया गया है।

उन्होंने कहा कि सिक्किम देशी और विदेशी पर्यटकों का प्रिय गंतव्य रहा है। यहां जनसंख्या से अधिक पर्यटक आते हैं|अब यह एयरपोर्ट शुरू हो गया है| इसलिए पर्यटकों के आगमन में और वृद्धि होगी। इसका फायदा स्थानीय युवाओं को भी मिलेगा। रोजगार के साधन बढ़ेंगे| प्रधानमंत्री ने पाक्योंग हवाई अड्डे के निर्माण कार्य को लेकर अभियंताओं और योजनाकारों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि अभियंताओं, कर्मचारियों और श्रमिकों ने वाकई में कमाल करके दिखाया है, इसके लिए सभी बधाई के पात्र हैं।

दूसरी ओर प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्वोत्तर के सभी राज्यों को पूर्वाधारों के साथ ही भावनात्मक रूप से जोड़ने के लिए किए जा रहे प्रयासों के बारे में प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि पिछले काफी समय वह खुद पूर्वोत्तर राज्यों का भ्रमण कर रहे हैं। केंद्रीय मंत्री पूर्वोत्तर राज्यों का लगातार रूप में दौरा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों में आज कई ऐसे कार्य हो रहा है जो आजादी के बाद पहली बार हो रहा है। सिक्किम समेत कई पूर्वोत्तर के राज्यों में पहली बार हवाई सेवा और रेलवे शुरू हो रहा है। कई राज्यों में बिजली तक पहली बार पहुंच रहा है।

पिछली सरकारों पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद 2014 तक (67 साल) केवल 65 एयरपोर्ट निर्मित हुए थे। लेकिन, एनडीए की सरकार ने पिछले चार सालों में 35 एयरपोर्ट का निर्माण किया। यदि उन्हें 35 एयरपोर्ट बनाना होता तो और 40 चालीस साल और लगा देते। लेकिन, हमने केवल चार सालों में इसे पूरा करके दिखा दिया। उन्होंने कहा कि हवाई चप्पल पहननेवाले एक सामान्य व्यक्ति को भी हवाई यात्रा कराने के लिए सरकार तीव्र गति में काम कर रही है।

इसके अतिरिक्त प्रधानमंत्री मोदी ने केंद्र सरकार द्वारा सिक्किम समेत पूर्वोत्तर राज्यों के विकास के लिए लागू किए जा रहे विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों के बारे में जानकारी दी। मुख्यमंत्री पवन चामलिंग द्वारा अपने संबोधन में रखे गए सिक्किम के लंबित राजनीतिक मांगों के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि उक्त मांगों को लेकर उनकी मुख्यमंत्री के साथ चर्चा होती रहती है| इसलिए इन विषयों का सार्वजनिक रूप में उल्लेख करने की आवश्यकता नहीं है। आज के कार्यक्रम को केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने भी संबोधित किया।

Updated : 2018-09-24T19:55:04+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top