Top
Home > Lead Story > हैदराबाद एनकाउंटर पर पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार बोले - कानून ने अपना काम किया

हैदराबाद एनकाउंटर पर पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार बोले - कानून ने अपना काम किया

हैदराबाद एनकाउंटर पर पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार बोले - कानून ने अपना काम किया

नई दिल्ली। हैदराबाद में एक पशु चिकित्सक के साथ बलात्कार और फिर उसकी हत्या कर देने के सभी चारों आरोपी शुक्रवार सुबह पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारे गए। बीते दिनों महिला वेटनरी डॉक्टर से रेप और हत्या मामले के सभी चारों आरोपियों को पुलिस ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया, जिसका शव अब भी घठनास्थल पर है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, जल्द ही पुलिस आरोपियों के डेडबॉडी को पोस्ट मार्टम के लिए ले जाएगी। बता दें कि इस संबंध में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि घटना सुबह साढ़े छह बजे की है। जांच के लिए पुलिस आरोपियों को घटनाक्रम की पुनर्रचना के लिए घटनास्थल पर ले गई थी। तेलंगाना पुलिस ने एकाउंटर पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपना स्टैंड भी रखा है।

- घटनास्थल से तेलंगाना पुलिस की प्रेस कॉन्फ्रेंस

- साइबराबाद के कमिश्नर वीसी सज्जनार ने कहा कि मैं सिर्फ यही कह सकता हूं कि कानून ने अपना काम किया।

वीसी सज्जनार ने कहा कि हमें संदेह है कि आरोपी कर्नाटक में कई अन्य मामलों में भी शामिल थे, जिनकी जांच चल रही है।

-साइबराबाद के कमिश्नर वीसी सज्जनार ने एनकाउंटर पर कहा कि आज पुलिस आरोपियों को क्राइम स्पॉट पर जांच के वास्ते लाई थी। तभी आरोपियों ने पुलिस पर लाठी से हमला कर दिया। उन्होंने हमसे हथियार भी छीन लिए और पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने उन्हें चेतावनी दी और सरेंडर करने को कहा। मगर वे लगातार फायरिंग करते रहे। तब हमने भी जवाबी फायरिंग की और वे एनकाउंटर में मारे गए।

-साइबराबाद के कमिश्नर वीसी सज्जनार ने एनकाउंटर पर कहा कि हमने आरोपियों से दो हथियार भी बरामद कर लिए हैं। आरोपियों के शव को स्थानीय सरकारी अस्पताल में भेजा गया है। एनकाउंटर के दौरान आरोपियों के साथ करीब दस पुलिसवाले थे। हमने घठनास्थल से पीड़ित का मोबाइल फोन भी बरामद किया है।

- मोहम्मद आरिफ ने सबसे पहले की फायरिंग- कमिश्नर सज्जनार

वीसी सज्जनार ने कहा कि आरोपियों ने दो पुलिसवालों की बंदूकें छीनीं और उन पर फायरिंग की भी कोशिश की। हमने भी फायरिंग की और कुछ देर बाद वे हमें मृत अवस्था में मिले। उन्होंने कहा कि आरोपी मोहम्मद आरिफ ने सबसे पहले फायरिंग की, जिसमें एक सब इंस्पेक्टर और एक कॉन्स्टेबल घायल हो गया, जिसका इलाज चल रहा है।

- तेलंगाना पुलिस की ओर से वीसी सज्जनार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हमने सबूतों के आधार पर आरोपियों को पकड़ा। आरोपियों ने पुलिस पर हमला किया और पत्थर भी फेकें। साथ ही आरोपियों ने पिस्तौल छीनकर फायरिंग की।

- हैदराबाद में एनकाउंटर पर तेलंगाना पुलिस का बयान- हथियार छीनकर आरोपियों ने हमला किया। जवाबी कार्रवाई में चारों आरोपी ढेर हुए।

-हैदराबाद गैंगरेप और मर्डर केस के चारों आरोपियों के एनकाउंटर पर तेलंगाना पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। तेलंगाना पुलिस की ओर से साइबराबाद के सीपी वीसी सज्जनार ने कहा कि 4 और 5 दिसंबर को हमने आरोपियों को पुलिस कस्टडी में लेने के बाद पूछताछ की।

-पुलिस एनकाउंटर में मारे गए चारों आरोपियों की लाशें अब भी घटनास्थल पर मौजूज हैं।

-पुलिस अधिकारी की मानें तो ''उन्होंने (आरोपियों) पुलिस से हथियार छीने और पुलिस पर गोलियां चलाईं। आरोपियों ने भागने की कोशिश की जिसके बाद पुलिस ने जवाब में गोलियां चलाईं। इस दौरान चारों आरोपी मारे गए। अधिकारी ने बताया कि इस घटना में दो पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। हैदराबाद में पशु चिकित्सक युवती से बलात्कार और उसकी हत्या कर देने के चारों आरोपियों की आयु 20 से 24 वर्ष थी। उनमें से एक लॉरी चालक था और बाकी हेल्पर थे। उन्हें 29 नवंबर को गिरफ्तार किया गया था। आरोपियों ने बलात्कार के बाद युवती की गला दबाकर हत्या कर दी थी और बाद में शव को जला दिया था। उन्हें सात दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया था।

-आरोपियों के मुठभेड़ में मारे जाने की खबर पर कुछ लोगों ने खुशी जताई है जबकि कुछ लोगों ने इस कार्रवाई पर चिंता व्यक्त की है। आरोपियों के मुठभेड़ में मारे जाने से मृतका का परिवार खुश है और इसके लिए उन्होंने पुलिस तथा तेलंगाना सरकार का शुक्रिया भी अदा किया।

-मृतका के पिता ने कहा, ''हमने टीवी पर देखा कि वे मुठभेड़ में मारे गए। हम खुश हैं। लोग भी खुश हैं। मैं मुठभेड़ के लिए तेलंगाना सरकार और पुलिस का शुक्रिया अदा करता हूं। मैं हमारे साथ खड़े रहे सभी लोगों का शुक्रिया करता हूं। उसकी बहन ने उम्मीद जताई कि इस मुठभेड़ से महिलाओं के खिलाफ ऐसे अपराध करने वालों में डर उत्पन्न होगा। उन्होंने कहा, '' हम खुश हैं। हमें इसकी उम्मीद नहीं थी। हमें लगा था कि उन्हें अदालत के जरिए फांसी मिलेगी।

गौरतलब है कि दिल्ली में 23 वर्षीय पैरा-चिकित्सक छात्रा निर्भया के साथ दिसम्बर 2012 में सामूहिक बलात्कार किया गया था और कुछ दिन इलाज के बाद उसने सिंगापुर के एक अस्पताल में दम तोड़ दिया था। निर्भया के माता-पिता ने हैदराबाद की महिला से बलात्कार और उसकी हत्या करने के आरोपियों के मारे जाने पर खुशी जताई।

Updated : 6 Dec 2019 12:18 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top