Home > Lead Story > प्रधानमंत्री ने लांच किया E-RUPI, जानिए क्या है ये? क्या मिलेगा लाभ?

प्रधानमंत्री ने लांच किया E-RUPI, जानिए क्या है ये? क्या मिलेगा लाभ?

प्रधानमंत्री ने लांच किया E-RUPI, जानिए क्या है ये? क्या मिलेगा लाभ?
X

नईदिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वर्चुअल माध्यम से E-RUPI लांच किया। E-RUPI डिजिटल भुगतान के लिए एक कैशलेस और संपर्क रहित साधन है। यह एक क्यूआर कोड या एसएमएस स्ट्रिंग-आधारित ई-वाउचर है, जो लाभार्थियों के मोबाइल पर पहुंचाया जाता है। इसे जिसे नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया यानी NPCI ने विकसित किया है।

प्रधानमंत्री ने कहा की आज देश डिजिटल गवर्नेंस को एक नया आयाम दे रहा है। e-RUPI वाउचर देश में डिजिटल ट्रांजेक्शन को, DBT को और प्रभावी बनाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाने वाला है।सरकार ही नहीं, अगर कोई सामान्य संस्था या संगठन किसी के इलाज में, किसी की पढ़ाई में या दूसरे काम के लिए कोई मदद करना चाहता है तो, वो कैश के बजाय e-RUPI दे पाएगा। इससे सुनिश्चित होगा कि उसके द्वारा दिया गया धन, उसी काम में लगा है, जिसके लिए वो राशि दी गई है।

उन्होंने आगे कहा की e-RUPI, एक तरह से Person के साथ-साथ Purpose Specific भी है। जिस मकसद से कोई मदद या कोई बेनिफिट दिया जा रहा है, वो उसी के लिए प्रयोग होगा, ये e-RUPI सुनिश्चित करने वाला है।आज, केंद्र सरकार डीबीटी के माध्यम से 300 से अधिक योजनाओं का लाभ प्रदान कर रही है। 1,35,000 करोड़ रुपये सीधे किसानों के खातों में ट्रांसफर किए गए हैं।

भारत ने पिछले 7 वर्षों में अपने विकास को जो गति दी है, उसमें प्रौद्योगिकी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। क्या हमने सोचा था कि हमारी कारें सिर्फ FASTags के साथ टोल-बूथों को पार करेंगी?क्या हमने कल्पना की थी कि एक हस्तशिल्प निर्माता अपने शिल्प को दिल्ली में कार्यालयों में भेजता है? तकनीक ने इसे संभव बनाया है!क्या हमने सोचा था कि हमारे दस्तावेज भी हमारी जेब में होंगे? डिजिलॉकर ने इसे संभव बनाया है! आज यह संभव हो गया है!

उन्होंने आगे कहा की आरोग्य सेतु सबसे ज्यादा डाउनलोड किए जाने वाले ऐप में से एक है। CoWin पोर्टल भी भारतीयों के टीकाकरण में काफी मदद कर रहा है। अगर हमने तकनीक का इस्तेमाल नहीं किया होता, तो निर्बाध प्रमाणीकरण संभव नहीं होता।भारत आज दुनिया को दिखा रहा है कि टेक्नोलॉजी को adopt करने में, उससे जुड़ने में वो किसी से भी पीछे नहीं हैं। Innovations की बात हो, service डिलीवरी में टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल हो, भारत दुनिया के बड़े देशों के साथ मिलकर ग्लोबल लीडरशिप देने की क्षमता रखता है।

E-RUPI क्या है?

E-RUPI डिजिटल भुगतान के लिए एक कैशलेस और संपर्क रहित साधन है। यह एक क्यूआर कोड या एसएमएस स्ट्रिंग-आधारित ई-वाउचर है, जो लाभार्थियों के मोबाइल पर पहुंचाया जाता है। इस एकमुश्त भुगतान प्रणाली के उपयोगकर्ता सेवा प्रदाता के पास कार्ड, डिजिटल भुगतान ऐप या इंटरनेट बैंकिंग एक्सेस के बिना वाउचर को भुनाने में सक्षम होंगे।इसे नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने अपने UPI प्लेटफॉर्म पर वित्तीय सेवा विभाग, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के सहयोग से विकसित किया है।

E-RUPIबिना किसी भौतिक इंटरफेस के डिजिटल तरीके से लाभार्थियों और सेवा प्रदाताओं के साथ सेवाओं के प्रायोजकों को जोड़ता है। यह यह भी सुनिश्चित करता है कि लेन-देन पूरा होने के बाद ही सेवा प्रदाता को भुगतान किया जाए। प्रकृति में प्री-पेड होने के कारण, यह किसी मध्यस्थ की भागीदारी के बिना सेवा प्रदाता को समय पर भुगतान का आश्वासन देता है। कल्याण सेवाओं की लीक-प्रूफ डिलीवरी सुनिश्चित करने की दिशा में यह एक क्रांतिकारी पहल होने की उम्मीद है।

इसका उपयोग आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, उर्वरक सब्सिडी आदि जैसी योजनाओं के तहत मातृ एवं बाल कल्याण योजनाओं, टीबी उन्मूलन कार्यक्रमों, दवाओं और निदान के तहत दवाएं और पोषण सहायता प्रदान करने के लिए योजनाओं के तहत सेवाएं देने के लिए भी किया जा सकता है। यहां तक ​​कि निजी क्षेत्र भी अपने कर्मचारी कल्याण और कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी कार्यक्रमों के हिस्से के रूप में इन डिजिटल वाउचर का लाभ उठा सकते हैं।

E-RUPI के कार्पोरेट्स को लाभ -

निजी क्षेत्र अपने कर्मचारी कल्याण और कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी कार्यक्रमों के हिस्से के रूप में ई-आरयूपीआई वाउचर का उपयोग कर सकते हैं। आपका कार्यालय यात्रा, भोजन, स्वास्थ्य देखभाल आदि को कवर करने के लिए E-RUPIवाउचर जारी कर सकता है

E-RUPI से अस्पतालों को कैसे होगा फायदा?

E-RUPI की पेशकश करने वाले अस्पतालों के लिए निम्नलिखित लाभ हैं -

आसान और सुरक्षित - वाउचर सत्यापन कोड के माध्यम से अधिकृत है।

परेशानी मुक्त और संपर्क रहित भुगतान संग्रह - नकद या कार्ड को संभालने की आवश्यकता नहीं है।

त्वरित भुगतान प्रक्रिया - वाउचर को कुछ चरणों में भुनाया जा सकता है और पूर्व-अवरुद्ध राशि के कारण कम गिरावट।

E-RUPI के साथ कौन से बैंक लाइव हैं?

  • ऐक्सिस बैंक
  • बैंक ऑफ बड़ौदा
  • केनरा बैंक
  • एचडीएफसी बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • इंडसइंड बैंक
  • इंडियन बैंक
  • Kotakbank
  • पंजाब नेशनल बैंक
  • भारतीय स्टेट बैंक
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया

Updated : 2021-08-02T17:16:48+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top