Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > वाराणसी > वाराणसी : देश सरकार से नहीं संस्कार से बनता है - पीएम मोदी

वाराणसी : देश सरकार से नहीं संस्कार से बनता है - पीएम मोदी

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 1200 करोड़ की परियोजनाओं का शुभारंभ करने रविवार सुबह करीब 10:30 बजे लाल बहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा पहुंचे। वायुसेना के विशेष विमान से वाराणसी पहुंचे पीएम मोदी का स्वागत राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया। उनके साथ कई मंत्री भी मौजूद रहे।

राम मंदिर से जुड़ा एक और बड़ा फैसला सरकार ने किया है। अयोध्या कानून के तहत जो 67 एकड़ जमीन अधिगृहित की गई थी, वो भी पूरी की पूरी, नवगठित श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र को ट्रांसफर कर दी जाएगी। जब इतनी बड़ी जमीन होगी तो मंदिर की भव्यता और दिव्यता और बढ़ेगी: पीएम मोदी

श्रीराम मंदिर निर्माण का विषय दशकों से अदालत में लटका था। अब अयोध्या में भव्य राम मंदिर का मार्ग प्रशस्त हो चुका है। कुछ दिन पहले ही सरकार ने राम मंदिर निर्माण के लिए एक स्वायत्त ट्रस्ट- 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' के गठन करने की भी घोषणा की है। ये ट्रस्ट अयोध्या में भगवान श्रीराम की जन्मस्थली पर, भव्य और दिव्य श्रीराम मंदिर के निर्माण का काम देखेगा और सारे निर्णय लेगा:पीएम मोदी

नमामि गंगे अभियान के तहत 7 हजार करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट्स पर काम पूरा हो चुका है। 21 हज़ार करोड़ रुपए से अधिक के प्रोजेक्ट्स पर कार्य प्रगति पर है जिन प्रोजेक्ट्स पर काम चल रहा है उनको भी हम तेज़ी से पूरा करने का प्रयास कर रहे हैं: पीएम मोदी

देश में बड़े-बड़े अभियानों को सिर्फ सरकार के भरोसे नहीं चलाया जा सकता, इसके लिए जनभागिदारी बहुत आवश्यक है। बीते 5-6 वर्षों में अगर गंगाजल में अभूतपूर्व सुधार देखने को मिल रहा है तो इसके पीछे भी जनभागीदारी का बहुत महत्व है: पीएम मोदी

जिस प्रकार काशी और देश के युवाओं ने स्वच्छ भारत अभियान को देश के कोने-कोने में पहुंचाया है वैसे ही और संकल्पों को भी हमें देशभर में पहुंचाना है। मैंने लाल किले से भी आग्रह किया था कि हमें वो सामान खरीदने को प्राथमिकता देनी चाहिए जो लोकल में बना हो: पीएम मोदी

मठों द्वारा दिखाए रास्ते पर चलते हुए, संतों द्वारा दिखाए रास्ते पर चलते हुए, हमें अपने जीवन के संकल्प पूरे करने हैं और राष्ट्र निर्माण में भी अपना पूरा सहयोग करते चलना है: पीएम मोदी

जंगमवाड़ी मठ भावात्मक और मनोवैज्ञानिक रूप से वंचित साथियों के लिए प्रेरणा का माध्यम है। संस्कृत भाषा और दूसरी भारतीय भाषाओं को ज्ञान का माध्यम बनाते हुए, टेक्नॉलॉजी का समावेश आप कर रहे हैं, वो भी अद्भुत है: पीएम मोदी

भारत के पुरातन ज्ञान और दर्शन के सागर श्री सिद्धांत शिखामणि को 21वीं सदी का रूप देने के लिए मैं विशेष रूप से आपका अभिनंदन करता हूं: पीएम मोदी

भारत में राष्ट्र का ये मतलब कभी नहीं रहा कि किसने कहां जीत हासिल की, किसकी कहां हार हुई। हमारे यहां राष्ट्र सत्ता से नहीं, संस्कृति और संस्कारों से सृजित हुआ है, यहां रहने वालों के सामर्थ्य से बना है: पीएम मोदी

वीरशैव परंपरा वो है, जिसमें वीर शब्द को आध्यात्म से परिभाषित किया गया है। जो विरोध की भावना से ऊपर उठ गया है वही वीरशैव है। यही कारण है कि समाज को बैर, विरोध और विकारों से बाहर निकालने के लिए वीरशैव परंपरा का सदैव आग्रह रहा है: पीएम मोदी

जंगमबाड़ी मठ में रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा संस्कृति और संस्कृत की संगम स्थली में आप सभी के बीच आना, मेरा लिए बहुत बड़ा सौभाग्य है। बाबा विश्वनाथ के सानिध्य में, मां गंगा के आंचल में, संत वाणी का साक्षी बनने का अवसर बार-बार नहीं मिलता।

जंगमबाड़ी मठ में जगद्गुरु विश्वाराध्य गुरुकुल के जन्मशती समारोह के समापन कार्यक्रम में पहुंचे पीएम मोदी ने सिद्धांत शिखामणि ग्रंथ के 19 भाषाओं में अनुवाद और उसके मोबाइल एप का विमोचन किया।

पीएम मोदी ने जंगमवाड़ी मठ में संजीवनी समाधि स्थल की पूजा की।

जंगमवाड़ी मठ पहुंचे पीएम मोदी। कर्नाटक के सीएम ने गुलाब का फूल देकर किया स्वागत। यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद।

रविंद्रपुरी से होते हुए पीएम मोदी का काफिला शिवाला पहुंचा। वहां गुलाब की पंखुड़ियों से उनका स्वागत किया गया।

एयरपोर्ट से हेलीकॉप्टर से बीएचयू पहुंचने के बाद सड़क मार्ग से जंगमवाडी मठ के लिए पीएम मोदी रवाना। बीएचयू गेट से निकलते ही हर हर महादेव से उनका स्वागत किया गया।

वायुसेना के विशेष विमान से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पहुंचे। यहां पर उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम मोदी का स्वागत किया।

प्रधानमंत्री पड़ाव में आयोजित क्रार्यक्रम के दौरान 1195.29 करोड़ रुपये की 48 विकास परियोजनाओं का शुभारम्भ करेंगे। इसमें बीएचयू में 430 बिस्तर का सुपरस्पेशियलिटी अस्पताल व वैदिक विज्ञान केंद्र, कबीरचौरा में 100 बेड का मैटर्निटी विंग, लहरतारा-चौकाघाट फ्लाईओवर, काशी विश्वनाथ अन्न क्षेत्र सहित 34 प्रोजेक्ट का लोकार्पण शामिल है। इसके अलावा स्मार्ट सिटी, हेरिटेज डेवलपमेंट व आधा दर्जन सड़कों सहित 14 परियोजनाओं का शिलान्यास होना है।

पीएम पड़ाव में कार्यक्रम स्थल से देश की तीसरी निजी ट्रेन महाकाल एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाएंगे। इस ट्रेन का संचालन आईआरसीटीसी कर रही है। यह ट्रेन ज्योर्तिलिंग के तीन धार्मिक नगरों वाराणसी, उज्जैन और ओमकालेश्वर को जोड़ेगी। इसके अलावा प्रधानमंत्री बड़ालालपुर स्थित पं. दीनदयाल उपाध्याय हस्तकला संकुल में 'काशी एक रूप अनेक' नामक तीन दिवसीय कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगे। इसमें शिल्पकारों, बुनकरों और बेरोजगार युवकों को जॉब लेटर देंगे।

Updated : 2020-02-17T14:20:30+05:30
Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top