Top
Home > Lead Story > ...अब एमपी का मतलब हो गया है "मैक्सिमम प्रोग्रेस" : नरेन्द्र मोदी

...अब एमपी का मतलब हो गया है "मैक्सिमम प्रोग्रेस" : नरेन्द्र मोदी

ग्वालियर की धरती को नमन करने आया हूँ, ये त्याग, तपस्या और शौर्य की धरती है

...अब एमपी का मतलब हो गया  है मैक्सिमम प्रोग्रेस :  नरेन्द्र मोदी
X

ग्वालियर/स्वदेश वेब डेस्क। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को ग्वालियर में आयोजित चुनावी सभा में कांग्रेस को खुले मंच से कई चुनौतियां दीं। उन्होंने एक एक कर कांग्रेस के झूठ गिनाये और एक एक कर केंद्र और प्रदेश सरकार की उपलब्धियां बताई । प्रधानमंत्री ने कहा पहले एमपी का मतलब हुआ करता था बीमारू राज्य लेकिन अब एमपी का मतलब है मैक्सिमम प्रोग्रेस।

ग्वालियर व्यापार मेले में आयोजित चुनावी सभा को देखकर प्रधानमंत्री भी गदगद हो गए। पीएम को सुनने के लिए भीड़ इतनी अधिक थी कि मैदान भी छोटा पद रहा था । ग्वालियर चम्बल संभाग से एक लाख से कही अधिक लोग सभा सुनने पहुंचे थे। अपने भाषण की शुरुआत प्रधानमंत्री ने इसी बात से की । उन्होंने कहा कि पिछली बार जब में 2014 में आया था तब इसके आधे भी लोग नहीं थे और अब जहाँ नजर दौड़ा रहा हूँ मुझे आप लोग ही दिखाई दे रहे हाथ में मोबाइल की टोर्च जलाये लोगों को देखकर कहा कि लगता है ग्वालियर वालों ने कांग्रेस को दिन में तारे दिखा दिए हैं।


भीड़ को देखकर पीएम ने कहा कि यहाँ देखकर दिल्ली में बैठे राजनीति के पंडितों को भी पता चल जायेगा कि हवा का रुख किस तरह है। उन्होंने रानी लक्ष्मी बाई, तात्या टोपे, राम प्रसाद बिस्मिल जैसे क्रांतिकारियों की धरती है। ये राजमाता से लोकमाता बनी विजयाराजे सिंधिया की कर्मस्थली है जिन्होंने कार्यकर्ताओं को मां का प्यार और स्नेह दिया। यहं से अटल जी की वाणी गली गली होकर देश फिर विश्व में गूंजी। यहीं से कुशाभाऊ ठाकरे जैसे महापुरुष निकले। मैं सभी को नमन करता हूँ।

उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम लिए बगैर कहा कि मैं सिंधिया परिवार के उन लोगों से पूछना चाहता हूँ जो इस समय कांग्रेस में हैनं कि आपातकाल के समय राजमाता जी ने ऐसा कौन सा अपराध किया था कि उन्हें 19 महीने जेल में यातना सहनी पड़ी। उन्होंने तंज कसा कि कांग्रेस की शुरू से ही एक सूत्र रहा है कि मैं नहीं तो और कोई नहीं। पीएम ने कहा कि कांग्रेस एक परिवार के लिए जीती है , एक परिवार के लिए जूझती है और देश का भविष्य भी दांव पर लगा देती है। उन्होंने जनता से पूछा कि क्या आप देश का भविष्य दांव पर लगने देंगे। पीएम ने कहा कि यहीं से संकल्प ले कि अब हिंदुस्तान में कहीं भी कांग्रेस को पैर नहीं रखने देंगे।

प्रधानमंत्री ने मंच से कांग्रेस को चुनौती दे कि आपके 55 साल और शिवराज के नेतृत्व वाली भाजपा की सरकार के 15 सालों की तुलना करके दिखाओ। पहले इसकी पहचान बीमारू राज्य की होती थी लेकिन अब यहाँ सबकुछ है बिजली, पानी, खाद, रोजगार सबकुछ है इसलिए अब एमपी का मतलब मैक्सिमम प्रोग्रेस हो गया है।

प्रधानमंत्री ने शिवराज सरकार की कृषि क्षेत्र, गरीबों को गाँव में घर देने में नंबर वन जैसी कई उपलब्धियां गिनाइं। प्रधानमंत्री ने केंद्र सरकार की कई कल्याणकारी योजनाये बताते हुए कहा कि आज जनता को इससे लाभ पहुंचा है। उन्होंने कहा कि आजकल कांग्रेस के लोग आठ अलग अलग नेता अलग अलग बातें करते हैं । लेकिन ध्यान रखिये आप छिंदवाड़ा में कुछ कहें और ग्वालियर में कुछ और सबको पता चल जाता है। राहुल गांधी का नाम लिए बिना प्रधानमंत्री ने कहा कि आज जिस पार्टी के मुखिया को ये नहीं पता कि मध्यप्रदेश में उनकी पार्टी का सिरमौर कौन होगा वो क्या किसी का भाग्य बदलेंगे। उन्होंने चुनौती दी कि यदि उनमें हिम्मत है तो मुख्यमंत्री कौन होगा उसका नाम घोषित करके दिखाएँ।

अपने संबोधन से पहले प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम में उपस्थित ग्वालियर, दतिया, भिंड और मुरैना के 20 प्रत्याशियों को मंच पर बुलाकर जनता से आशीर्वाद देने के लिए कहा । इससे पहले 200 कमल के फूलों की माला से सभी प्रत्याशियों ने प्रधानमंत्री का स्वागत किया।

स्वागत भाषण देते हुए केन्द्रीय मंत्री और ग्वालियर सांसद नरेन्द्र सिंह तोमर ने प्रधानमंत्री के आगमन को ग्वालियर के लिए सौभाग्यशाली बताया। उन्होंने कहा कि जबसे देश को आपका नेतृत्व मिला है तबसे दुनिया में भारत की साख बढ़ी है। श्री तोमर ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के कामों की तारीफ करते हुए कहा कि आज मध्य्प्रदेश ने जो प्रगति की है। वो आपके सहयोग के बिना संभव नहीं थी। क्योंकि जब प्रदेश में भाजपा की सरकार थी और केंद्र में कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार तो हमारे साथ बहुत पक्षपात होता था। उन्होंने कहा कि अबकी बार 200 सीटें पार का जो हमने लिया है वो अवश्य पूरा होगा। मंच पर कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा, प्रदेश की नगरीय विकास एवं आवास मंत्री माया सिंह, महापौर विवेक नारायण शेजवलकर , वरिष्ठ नेता बंसीलाल जी सहित प्रदेश और जिले के कई पदाधिकारी उपस्थित थे।

Updated : 2018-11-18T00:00:46+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top