Top
Home > Lead Story > संसद : अगर आपकी तरह सोचते तो आर्टिकल 370 नहीं हटता - पीएम मोदी

संसद : अगर आपकी तरह सोचते तो आर्टिकल 370 नहीं हटता - पीएम मोदी

संसद : अगर आपकी तरह सोचते तो आर्टिकल 370 नहीं हटता - पीएम मोदी

नई दिल्ली। संसद के बजट सत्र का छठा दिन है। संसद सत्र में आज यानी गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लाए गए धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा कर रहे हैं। इसके बाद लोकसभा से धन्यवाद प्रस्ताव को पारित कराया जाएगा। बाद में राज्यसभा से भी इसको पारित कराना होगा। गौरतलब है कि राष्ट्रपति के अभिभाषण को बिना किसी संशोधन के पारित कराने की जिम्मेदारी सरकार की होती है। इसके अलावा, नागरिकता संशोधन कानून, एनआरसी और रोजगार जैसे मुद्दों पर कांग्रेस, वामदल, टीएमसी, बसपा और सपा केंद्र सरकार को घेरने की कोशिश करेंगे।

पीएम मोदी ने कांग्रेस सरकार पर तंज कसा और कहा कि हम भी आप लोगों के रास्ते पर चलते, तो शायद 70 साल के बाद भी इस देश से अनुच्छेद 370 नहीं हटता, आपके ही तौर तरीके से चलते, तो मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक की तलवार आज भी डराती। उन्होंने कहा कि आपकी ही सोच के साथ चलते तो राम जन्मभूमि आज भी विवादों में रहती।आपकी ही सोच अगर होती, तो करतापुर साहिब कोरिडोर कभी नहीं बन पाता। आपके ही के तरीके होते, आपका ही रास्ता होता, तो भारत-बांग्लादेश विवाद कभी नहीं सुलझता।

पीएम मोदी ने कहा कि एक स्वर ये उठा है कि सरकार को सारे कामों की जल्दी क्यों है? हम सारे काम एक साथ क्यों कर रहे हैं? सर्वेश्वर दयाल सक्सेना जी ने अपनी कविता में लिखा है कि-

लीक पर वे चलें,

जिनके चरण दुर्बल और हारे हैं,

हमें तो जो हमारी यात्रा से बने,

ऐसे अनिर्मित पथ ही प्यारे हैं

राष्ट्रपति के अभिभाषण पर पीएम मोदी ने कहा कि यह देश को दिशा देने वाला अभिभाषण है। लोकसभा में पीएम मोदी ने कहा कि माननीय राष्ट्रपति जी ने न्यू इंडिया का विजन अपने अभिभाषण में प्रस्तुत किया है। 21वीं सदी के तीसरे दशक का माननीय राष्ट्रपति जी का वक्तव्य हम सभी को दिशा व प्रेरणा देने वाला और देश के लोगों में विश्वास पैदा करने वाला है।

Updated : 2020-02-06T20:10:39+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top