Top
Home > Lead Story > F-16 को मार गिराने वाले अभिनंदन को मिलेगा 'भगवान महावीर अहिंसा' पुरस्कार

F-16 को मार गिराने वाले अभिनंदन को मिलेगा 'भगवान महावीर अहिंसा' पुरस्कार

F-16 को मार गिराने वाले अभिनंदन को मिलेगा भगवान महावीर अहिंसा पुरस्कार
X

नई दिल्ली। भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को 'भगवान महावीर अहिंसा' पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। वह अखिल भारतीय दिगंबर जैन महासमिति द्वारा शुरू किये गये 'भगवान महावीर अहिंसा पुरस्कार पाने वाले पहले व्यक्ति होंगे। संगठन के एक पदाधिकारी ने रविवार को यह जानकारी दी।

संगठन की महाराष्ट्र इकाई के संयोजक पारस लोहाडे ने यहां कहा कि संगठन के अध्यक्ष मणींद्र जैन नई दिल्ली में लड़ाकू विमान के पायलट को पुरस्कार प्रदान करने की घोषणा की। लोहाडे ने कहा कि इसी साल शुरू किये गये इस पुरस्कार के तहत 2.51 लाख रुपये का नकद पुरस्कार, एक स्मृति चिन्ह और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा। 17 अप्रैल को महावीर जयंती के अवसर पर वर्धमान को यह पुरस्कार दिया जाएगा।

भारतीय हवाई क्षेत्र का उल्लंघन करने वाले पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों को खदेड़ने के दौरान हवा में हुई लड़ाई के दौरान बीते 27 फरवरी को उनका मिग 21 बाइसन गिर गया था जिसके बाद पाकिस्तानी सेना ने उन्हें पकड़ लिया था। इससे पहले वर्धमान ने पाकिस्तान के एफ-16 विमान को मार गिराया था। अंतरराष्ट्रीय दबाव के बीच पाकिस्तान को उन्हें छोड़ना पड़ा। एक मार्च को देश का यह जाबांज योद्धा स्वदेश लौटा।

विंग कमांडर शुक्रवार (1 मार्च) रात भारतीय वायु सेना की उड़ान से रात 11 बजकर करीब 45 मिनट पर राष्ट्रीय राजधानी पहुंचे। वह अटारी-वाघा सीमा से भारत में आने के करीब ढाई घंटे बाद यहां पहुंचे। उन्हें पहले एयर फोर्स सेंट्रल मेडिकल एस्टैबलिशमेंट (एएफसीएमई) ले जाया गया। बाद में उन्हें आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल ले जाया गया।

पाकिस्तान में पकड़े जाने के बाद वर्धमान ने मुश्किल परिस्थितियों से निपटने में साहस का परिचय दिया जिसके लिए नेता, कूटनीतिक मामलों के विशेषज्ञ, पूर्व सैन्य कर्मी, मशहूर हस्तियां और आम जनता उनकी प्रशंसा कर रही है। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और वायु सेना प्रमुख बीएस धनोआ ने शनिवार को अलग अलग, वर्धमान से मुलाकात की जिस दौरान विंग कमांडर ने उन्हें बताया कि पाकिस्तान ने उन्हें कैद में रखने के दौरान मानसिक रूप से प्रताड़ित किया।

Updated : 3 March 2019 12:49 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top