Top
Home > Lead Story > अरुणाचल के 34वें स्थापना दिवस पर शाह बोले - पूर्वोत्तर से धारा 371 कोई नहीं हटा सकता

अरुणाचल के 34वें स्थापना दिवस पर शाह बोले - पूर्वोत्तर से धारा 371 कोई नहीं हटा सकता

अरुणाचल के 34वें स्थापना दिवस पर शाह बोले - पूर्वोत्तर से धारा 371 कोई नहीं हटा सकता

इटानगर। अरुणाचल समेत पूर्वोत्तर से धारा 371 को कोई नहीं हटा सकता और न ही इसको हटाया जाएगा। कुछ लोगों द्वारा यह अफवाह फैलाया गया था कि धारा 370 को हटाने के बाद सरकार 371 को भी हटाया जाएगा।

ये बातें गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने राजधानी इटानगर के आईजी पार्क में मनाये जा रहे 34वें राज्य स्थापना दिवस का शुभारंभ करते हुए कही। इस दौरान उन्होंने कहा कि जब से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार केंद्र की सत्ता में आयी है, तब से अरुणाचल प्रदेश और पूर्वोत्तर भारत के विकास को लेकर काफी ध्यान दिया जा रहा है क्योंकि पूर्वोत्तर के विकास के बिना देश का विकास नहीं हो सकता।अरुणाचल समेत पूर्वोत्तर भारत की कला, संस्कृति और परंपरा को को बचाए रखना केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है‌। अरुणाचल प्रदेश के 27 मेजर और 100 सब जनजातियों की विभिन्न परंपराओं और कला, संस्कृति को सहेजने का काम किया जा रहा है। इन सभी जनजातियों की रक्षा करना हमारी जिम्मेदारी है। भाजपा सरकार पूर्वोत्तर राज्य की समस्याओं का समाधान करने में लगी है। यहां से आतंकवादी, उग्रवादी जैसी समस्या को हल करना है। राज्य को समस्या मुक्त करके विकास में लाना है। जब इन सारी समस्याओं का समाधान होगा, तभी पूर्वोत्तर राज्यों का विकास तेज गति से आगे बढ़ेगा।

अरुणाचल प्रदेश के विकास के बारे में शाह ने कहा कि अरुणाचल प्रदेश में सड़क विकास के लिए लगभग 500 करोड़ रुपये की परियोजना पर काम चल रहा है जिससे राज्य के पूरे जिले सड़कों से जुड़ जायेंगे। शाह ने आश्वासन दिया कि अगले 2020-21 तक पूर्वोत्तर की सभी राजधानियों को हवाई मार्ग से जोड़ दिया जाएगा। अरुणाचल प्रदेश की राजधानी के पास होलंगी के ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट के बारे में बताते हुए कहा कि बहुत जल्द राजधानी ईटानगर भी हवाई मार्ग से जुड़ जाएगा।

अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू की प्रशंसा करते हुए कहा कि अरुणाचल प्रदेश भ्रष्टाचार मुक्त राज्य बन जाएगा और खांडू के नेतृत्व में राज्य विकास के रास्ते तेजी से आगे बढ़ेगा। इससे पहले उन्होंने इस मौके पर अरुणाचल प्रदेश के लोगों को शुभकामनाएं दी। साथ ही उन्हें इस अवसर पर आमंत्रित करने पर धन्यवाद दिया।

उल्लेखनीय है कि अरूणाचल प्रदेश की स्थापना 20 फरवरी, 1987 में हुई थी। शाह ने अरुणाचल समेत पूरे पूर्वोत्तर में भाजपा नीत नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा किए गए कार्यों के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी। इस मौके पर शाह ने विधायकों के लिए बनाए गए नए आवासीय परिसर, तोमो रिबा स्वास्थ्य एवं चिकित्स विज्ञान संस्थान में स्थापित 256 स्लाइस सीटी स्कैनर, नाहरलगुन के लेखी गांव में बने इंटर स्टेट ट्रक टर्मिनल, अरुणाचल प्रदेश राज्य सचिवालय की लाइटिंग प्रणाली और वरिष्ठ अधिकारियों के लिए इटानगर के चिम्पू में बने आवास का उद्घाटन किया। साथ ही राजधानी इटानगर के कचरे को उठाने के लिए विशेष रूप से 184 वाहनों को भी औपचारिक रूप से लांच किया।

इस अवसर पर राज्यपाल ब्रिगेडियर (सेवानिवृत) डॉ. बीडी मिश्रा, मुख्य मंत्री पेमा खांडू, केंद्रीय खेल एवं युवा मामलों के मंत्री किरन रिजिजू, केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह, असम सरकार के वित्त आदि मामलों के मंत्री व नेडा के संयोजक डॉ. हिमंत विश्वशर्मा, अरुणाचल के उप मुख्यमंत्री चोना मीन आदि मौजूद थे।

अरुणाचल प्रदेश स्थापना दिवस के अवसर पर रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया जिसमें विभिन्न जनजातियों के कलाकारों ने मनमोहक नृत्य प्रस्तुत कर उपस्थित लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

Updated : 2020-02-21T19:39:34+05:30
Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top