Top
Home > देश > पुलवामा के गुनहगार बख्शे नहीं जाएंगे : प्रधानमंत्री

पुलवामा के गुनहगार बख्शे नहीं जाएंगे : प्रधानमंत्री

पुलवामा के गुनहगार बख्शे नहीं जाएंगे : प्रधानमंत्री
X

यवतमाल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने फिर कहा है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले से पूरा देश आहत है। जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी। जनता विश्वास रखे कि इस हमले के गुनहगार बख्शे नहीं जाएंगे। पुलवामा के गुनहगारों को कब, कहां और कैसे सजा देनी है, यह हमारे जवान ही तय करेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को महाराष्ट्र के यवतमाल जिले के पांढरकवड़ा में आयोजित रैली में कहा कि पुलवामा हमले के बाद से जनता आक्रोशित है। इस कायराना हमले में महाराष्ट्र के जवान भी शहीद हुए हैं, लेकिन इन जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी। नापाक आतंकियों ने जो गुनाह किया है, उसकी सजा उन्हें मिलकर रहेगी। हम आतंकी और उनके आकाओं को बक्शने वाले नहीं है। आतंक के गुनहगारों को सजा देने के लिए हमारे जवान तत्पर हैं। जवानों को सरकार ने पूरी छूट दे रखी है। अब वही फैसला करेंगे कि किसे, कैसे और कहां सजा देना है।इस अवसर पर केन्द्रीय भूतल परिवहन एवं जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी, केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री हंसराज अहीर, राज्यपाल सी. विद्यासागर राव और मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस समेत कई प्रमुख नेता मौजूद थे।

पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के 40 जवानों को प्रधानमंत्री ने रैली के दौरान श्रद्धांजलि देने के लिए कुछ क्षण का मौन भी रखा।

मोदी ने इस दौरान आदिवासी छात्रों के लिए 'एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय' का उद्घाटन किया और प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) के तहत कुछ लाभार्थियों को मकानों की चाबियां भी सौंपीं। प्रधानमंत्री ने अजनी-पुणे हमसफर एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ किया।

इसके पहले, शनिवार सुबह नागपुर पहुंचे प्रधानमंत्री का एयरपोर्ट पर राज्यपाल राव, केन्द्रीय मंत्री गडकरी, मुख्यमंत्री फडणवीस ने स्वागत किया। इसके बाद प्रधानमंत्री हेलिकॉप्टर से पांढरकवड़ा पहुंचे।

प्रधानमंत्री ने वर्ष 2014 में स्थानीय ग्राम दाभड़ी में हुई 'चाय पे चर्चा' कार्यक्रम का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने किसानों को दिए हुए आश्वासन पूरे किए हैं। बीते साढ़े चार वर्षों में सरकार ने सैकड़ों परियोजनाओं का प्रारंभ किया है। उन्होंने भरोसा दिलाया कि किसान, ग्रामीण और पिछड़ों के कल्याण के लिए सरकार वचनबद्ध है। उन्होंने सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत यवतमाल जिले में तीन हजार मकानों का काम पूरा हो चुका है। प्रधानमंत्री ने कुछ लाभार्थियों को मकानों की चाबियां भी सौंपीं।

प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के झांसी में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा था, "आतंकी संगठनों और उनके सरपरस्‍तों को मैं कहना चाहता हूं कि वे बहुत बड़ी गलती कर चुके हैं, बहुत बड़ी कीमत उनको चुकानी पड़ेगी। मैं देश को भरोसा देता हूं कि हमले के पीछे जो ताकते हैं, इस हमले के पीछे जो भी गुनहगार हैं, उन्‍हें उनके किए की सजा अवश्‍य मिलेगी।"

Updated : 2019-02-16T18:33:06+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top