Top
Home > Lead Story > मॉब लिंचिंग : जरूरत पड़ने पर लाऐंगे नया कानून - राजनाथ सिंह

मॉब लिंचिंग : जरूरत पड़ने पर लाऐंगे नया कानून - राजनाथ सिंह

बिहार सरकार सिफारिश करे तो बालिका गृह मामले की सीबीआई जांच को केंद्र तैयार : राजनाथ सिंह

मॉब लिंचिंग : जरूरत पड़ने पर लाऐंगे नया कानून - राजनाथ सिंह
X

नई दिल्ली। देश में मॉब लिंचिंग(भीड़ की हिंसा) की बढ़ती घटनाओं की निंदा करते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने एक बार फिर कहा कि इस मामले पर सरकार गंभीर है। इसकी जांच के लिए एक उच्चस्तरीय कमेटी भी बनाई गई है, जो 4 सप्ताह में अपनी रिपोर्ट देगी। उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर सरकार ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए नया कानून लेकर आएगी। राजनाथ सिंह ने मंगलवार को लोकसभा में मॉब लिंचिंग पर की गई चर्चा का जवाब देते हुए यह आश्वासन दिया।

लोकसभा में सांसदों की चिंता पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए गृहमंत्री ने कहा कि इसे रोकने के लिए राज्य सरकारों को निर्देश दिए जा चुके हैं। सरकारें ऐसी घटनाओं पर कड़ी कार्रवाई भी कर रही हैं।

इससे पहले लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने सदन में अलवर में लिंचिंग का मुद्दा उठाया और कहा कि इस मामले में पुलिस भी आरोपियों के साथ शामिल थी। उन्होंने कहा कि सचिव स्तर की जांच से कुछ होने वाला नहीं है बल्कि इसके लिए सुप्रीम कोर्ट के किसी न्यायाधीस को मामले की जांच सौंपी जानी चाहिए।

अलवर में रकबर की हत्या पर विपक्षी दलों ने सरकार को इसके लिए कड़े कदम उठाने को कहा है। तृणमूल कांग्रेस पार्टी (टीएमसी) सांसद सुदीप बंदोपाध्याय ने कहा कि यह हमारे लोकतांत्रिक प्रणाली के लिए खतरा है। उन्होंने कांग्रेस पर इस मामले में राजनीति करने का आरोप लगाया और कहा कि यह हाल ही में शुरू नहीं हुआ है बल्कि वर्षों से लिंचिंग की घटनाएं सामने आ रही हैं। उन्होंने कांग्रेस को निशाना साधते हुए कहा कि मॉब लिंचिंग की सबसे बड़ी घटना 1984 में हुई थी।

केंद्र सरकार बिहार के मुजफ्फरपुर स्थित बालिका गृह में लड़कियों के साथ यौन शोषण के मामले की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच करने को तैयार है। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि अगर बिहार सरकार इस मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश करती है तो सरकार केंद्रीय एजेंसी से जांच कराने को तैयार है।

मंगलवार को लोकसभा में शून्यकाल की कार्यवाही के दौरान कांग्रेस सांसद रंजीता रंजन ने मुजफ्फरपुर बालिका गृह में लड़कियों के साथ हुए यौन शोषण का मुद्दा उठाया। उन्होंने इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की| कांग्रेस सदस्य ने आशंका जताते हुए कहा कि जब तक मामले की जांच खत्म नहीं हो जाती है, लड़कियों को सुरक्षा मुहैया कराई जाए क्योंकि वह सुरक्षित नहीं हैं।

इससे पूर्व, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सांसद जय प्रकाश नारायण ने इस मामले को उठाते हुए कहा कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह में लड़कियों के साथ बलात्कार की घटना राष्ट्रीय शर्म की बात है। उन्होंने कहा कि गृहमंत्री को इस मामले का संज्ञान लेकर उचित कार्रवाई करनी चाहिए।

बीते सोमवार को मधेपुरा सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने भी इस मामले को लोकसभा में उठाया था। उन्होंने भी इस मामले की सीबीआई जांच कराए जाने की मांग की थी।

Updated : 2018-07-24T21:25:36+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top