Top
Home > Lead Story > मैरी कॉम ने सबको पीछे छोड़ा, जानें पूरा मामला

मैरी कॉम ने सबको पीछे छोड़ा, जानें पूरा मामला

मैरी कॉम ने सबको पीछे छोड़ा, जानें पूरा मामला

नई दिल्ली। भारत में खेलों ने पिछले कुछ वर्षों में काफी ऊंचाइयां हासिल की हैं। चाहे वह व्यूअरशिप का मामला हो या लोगों के जीवन का हिस्सा बनने का, भारत में विभिन्न खेलों ने इन दोनों ही क्षेत्रों में काफी सफलता हासिल की है। भारत में अब लोगों की दिलचस्पी सिर्फ क्रिकेट देखने के अलावा बॉक्सिंग, बैडमिंटन, टेनिस, फुटबॉल और इस तरह के अन्य खेलों में भी जगी है। लोग न सिर्फ इन खेलों को खेल रहे हैं और देख रहे हैं बल्कि इनसे जुड़े विश्व स्तरीय खिलाड़ियों के बारे में जानना भी चाहते हैं। लोग इन खिलाड़ियों के संघर्षों के बारे में जानकर और इससे प्रेरणा लेकर अपने जीवन में भी कुछ अच्छाा करने की कोशिश कर रहे हैं।

शायद यही कारण है कि 6 बार की विश्व चैंपियन वुमन बॉक्सर एमसी मैरीकॉम एक सर्वे में भारत की सबसे प्रशंसित महिला करार दी गई हैं। मैरीकॉम ने इस सूची में शीर्ष स्थान हासिल करते हुए दीपिका पादुकोण, लता मंगेशकर और सुषमा स्वराज जैसे नामों को पीछे छोड़ा है। ब्रिटेन की सर्वे एजेंसी यूगॉव ने यह अध्ययन किया है। इस सर्वे एजेंसी की ओर से जारी किए गए 'मोस्ट अड्माइअर्ड इंडियन वुमन' की लिस्ट में मैरी कॉम 10.36% के स्कोर के साथ पहले स्थान पर हैं। दूसरे स्थान पर भारत की पहली महिला आईपीएस और वर्तमान में पुडुचेरी की उप राज्यपाल किरण बेदी दूसरे स्थान पर हैं। लता मंगेशकर तीसरे, सुषमा स्वराज चौथे और दीपिका पादुकोण पांचवें स्थान पर हैं।

एमसी मैरी कॉम ने 6 बार महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप का खिताब जीतने के अलावा, साल 2014 के एशियन गेम्स और 2018 के कॉमनवेल्थ गेम्स की स्वर्ण पदकधारी, 2016 रियो ओलंपिक की कांस्य पदकधारी भी हैं। मैरी कॉम अर्जुन अवॉर्ड, पद्म श्री अवॉर्ड, राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड से भी सम्मानित हो चुकी हैं और वर्तमान में राज्य सभा की सदस्य हैं। उन्होंने इस सर्वे पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए ट्वीट भी किया है। मैरी कॉम ने ट्वीट में लिखा है, 'क्या सच में ऐसा है? मुझे विश्वास नहीं हो रहा। बढ़िया, धन्यवाद।'

Updated : 27 Sep 2019 2:41 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top