Top
Home > Lead Story > केरल में बाढ़ पीड़ितों के लिए एक संकट खत्म, तो अब दूसरा शुरू

केरल में बाढ़ पीड़ितों के लिए एक संकट खत्म, तो अब दूसरा शुरू

केरल में बाढ़ पीड़ितों के लिए एक संकट खत्म, तो अब दूसरा शुरू
X

कोच्चि | केरल में बाढ़ का पानी घटने के बाद नयी तबाही सामने आ रही है | पानी के घटने के चलते बाढ़ पीड़ित लोग राहत कैम्पों से अब अपने घर लौट रहे हैं | पर उनके घरों के अंदर अब निकल रहे सांप और अन्य रेंगने वाले जीव जंतु से उनका जीना मुश्किल हो गया है । त्रिशूर जिले के चलाकुडी में एक घर मगरमच्छ भी मिला है | इधर बाढ़ पीड़ितों को राहत देने का सिलसिला जारी है | केरल के पीड़ितों के लिए गेट्स फाउंडेशन ने 6 लाख डॉलर देने की घोषणा की है |

इस बीच भाजपा के राज्यसभा सांसद आर के सिन्हा ने केरल के बाढ़ पीड़ितों को एक माह का वेतन दिया है और अपने संसदीय कोष से 10 लाख रुपये अतिरिक्त मदद करने की घोषणा की है | केरल में आई भीषण बाढ़ से मर्माहत राज्यसभा सांसद तथा भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता रवीन्द्र किशोर सिन्हा ने उपराष्ट्रपति एवं राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू को एक पत्र लिखकर बाढ़ पीड़ितों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की है | पत्र के माध्यम से सांसद सिन्हा ने अपने एक माह का वेतन और 10 लाख रुपए की राशि बाढ़ पीड़ितों के सहायतार्थ देने की जानकारी दे दी है |

बिल और मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने कहा है कि केरल की विनाशकारी बाढ़ से पीड़ितों को राहत एवं पुनर्विकास प्रयासों को मजबूती देने के लिए यूनिसेफ को 6,00,000 डॉलर दिए जाएंगे । गैर सरकारी संगठनों द्वारा विस्थापितों, बाढ़ प्रभावित लोगों के पुनर्विकास के लिए की जा रही पहल को मदद पहुंचाना है। वैश्विक विकास के अध्यक्ष क्रिस एलियास के हवाले से कहा गया, "बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन केरल में पिछली 100 सालों में आई सबसे भयंकर बाढ़ है और फेडरेशन प्रभावित हुए परिवारों के प्रति सहानुभूति प्रकट करता है ।

इस बीच केरल में बाढ़ के मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 31 अगस्त तक मुल्लापेरियार बांध में जलस्तर को 139.99 फुट पर बनाए रखने का आदेश सरकार को दिया है | दूसरी तरफ केरल में आई बाढ़ की तबाही के कारण बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए एक दिन की सैलरी दान देने का फैसला सुप्रीम कोर्ट के कर्मचारियों ने भी किया है |

Updated : 2018-08-25T04:01:25+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top