Top
Home > Lead Story > चौथी औद्योगिक क्रांति में भारत देगा अभूतपूर्व योगदान

चौथी औद्योगिक क्रांति में भारत देगा अभूतपूर्व योगदान

चौथी औद्योगिक क्रांति में भारत देगा अभूतपूर्व योगदान
X

नई दिल्ली/स्वदेश वेब डेस्क। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को यहां कहा कि चौथी औद्योगिक क्रांति के दौर में भारत पीछे नहीं रहेगा और इस दौर को अभूतपूर्व योगदान देगा। प्रधानमंत्री आज यहां दिल्ली में विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) के चौथे औद्योगिक क्रांति केन्द्र के उद्घाटन अवसर पर बोल रहे थे।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को यहां कहा कि औद्योगिकी क्रांति के पहले दो चरण में भारत गुलामी के दौर से गुजर रहा था। तीसरे दौर में स्वतंत्रता के बाद की स्थितियों से निपटने में व्यस्थ था लेकिन चौथी औद्योगिक क्रांति में भारत पीछे नहीं रहेगा।

उन्होंने कहा कि चौथे औद्योगिक क्रांति के इस दौर में भारत का अपरिवर्तनीय और सकारात्मक बदलाव लाएगा। इस दौर में कृत्रिम बुद्धिमत्ता, मशीन शिक्षण, इंटरनेट, ब्लॉकचेन और डेटा होल्ड जैसे कई क्षेत्र भारत के लिए नए अवसर लेकर आए हैं।

अपने कार्यकाल से जुड़ी उपलब्धियों का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि टेलीकॉम क्षेत्र में बड़े बदलाव आए हैं। इस दौरान लोग ज्यादा डेटा का इस्तेमाल कर रहे हैं और वह भी बेहद सस्ती दरों में।

प्रधानमंत्री ने कहा कि तकनीकी विकास का रोजगार पर विपरीत प्रभाव पड़ने वाला है। इसको ध्यान में रखते हुए सरकार कौशल विकास पर विशेष ध्यान दे रही है।

उन्होंने कहा कि चौथी औद्योगिक क्रांति में वास्तव में मानव जीवन के वर्तमान और भविष्य को बदलने की क्षमता है। उन्होंने कहा कि सैन फ्रांसिस्को, टोक्यो और बीजिंग के बाद दुनिया में इस तरह के चौथे केंद्र का उद्घाटन भविष्य में बड़ी संभावनाओं के द्वार खोलता है।

Updated : 2018-10-12T04:38:14+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top