Top
Home > Lead Story > हंदवाड़ा मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर, सीआरपीएफ के इन्स्पेक्टर सहित चार जवान शहीद

हंदवाड़ा मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर, सीआरपीएफ के इन्स्पेक्टर सहित चार जवान शहीद

हंदवाड़ा मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर, सीआरपीएफ के इन्स्पेक्टर सहित चार जवान शहीद
X

जम्मू। हंदवाड़ा मुठभेड़ में शुक्रवार को सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया वहीं इस दौरान घायल सीआरपीएफ के इन्स्पेक्टर सहित चार जवानों ने अस्पताल में इलाज के समय दम तोड़ दिया। शहीद जवानों में सीआरपीएफ के इन्स्पेक्टर, एक जवान व पुलिस के दो जवान शामिल हैं। इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों के सात जवान घायल हो गए जिनमें से चार ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया जबकि तीन का इलाज जारी है।

कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा के बाबागुंड गांव में शुक्रवार सुबह हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया। इस दौरान घायल सात जवानों में से सीआरपीएफ के एक इन्स्पेक्टर, एक जवान व पुलिस के दो जवान शहीद हो गये।

गुरुवार देर रात जिले के हंदवाड़ा के बाबागुंड गांव में आतंकियों की मौजूदगी की पुख्ता सूचना के आधार पर सेना की 22 आरआर, एसओजी तथा सीआरपीएफ की 92 बटालियन के एक संयुक्त दल ने पूरे क्षेत्र को घेर आतंकियों की दबिश के लिए तलाशी अभियान शुरू किया। तलाशी अभियान के दौरान सुरक्षाबलों ने उस स्थान को घेर लिया जहां पर आतंकी छिपे थे। सुरक्षाबलों को पास आता देख आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। शुक्रवार सुबह तक चली इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन के दो आतंकियों को मार गिराया।

सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच रात भर चली मुठभेड़ के दौरान एक आतंकी मारा गया और दूसरा मलबे में छिप गया। सुरक्षा बलों ने दोनों आतंकियों को मरा समझ तलाशी अभियान शुरू किया तभी मलबे में छिपा आतंकी बाहर निकला और उसने सुरक्षा बलों पर फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें सीआरपीएफ के दो जवान और जम्मू-कश्मीर पुलिस के दो जवान शहीद हो गये।

सुरक्षाबलों के अनुसार घाटी में करीब 60 आतंकी सक्रिय हैं जिनमें 35 पाकिस्तानी हैं। पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड गाजी राशिद को मार गिराने से शुरू हुआ सुरक्षाबलों का अभियान जैश के आतंकियों को खत्म करने तक चलेगा।

मुठभेड़ के दौरान दो आंतकियों की मौत की खबर जैसे ही क्षेत्र में फैली हिंसक झड़पें शुरू हो गईं। स्थानीय युवा सड़कों पर उतर आए तथा वहां मौजूद सुरक्षाबलों पर पथराव व प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। इस दौरान प्रर्शनकारियों ने सुरक्षाबलों के खिलाफ नारेबाजी भी की। सुरक्षाबलों ने प्रदर्शनकारियों की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे व बल प्रयोग किया जिसके बाद हिंसक झड़पें शुरू हो गई। इन हिंसक झड़पों में तीन प्रदर्शनकारी घायल हो गए। घायलों को तुरन्त पास के अस्पताल पहुंचाया गया जहां पर डाक्टरों ने दो प्रदर्शनकारियों की गंभीर हालत को देखते हुए उन्हें हंदवाड़ा अस्पताल रेफर कर दिया। इस दौरान वसीम अहमद मीर साागीपपाेरा हंदवाडा ने दम तोड़ दिया।

Updated : 1 March 2019 3:30 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top