Top
Home > Lead Story > राजस्थान : बूंदी की मेज नदी में बस गिरने से 24 लोगों की मौत, 5 घायल

राजस्थान : बूंदी की मेज नदी में बस गिरने से 24 लोगों की मौत, 5 घायल

-कोटा लालसोट मेगा हाईवे के पापड़ी गांव में हुई घटना -मुख्यमंत्री ने की दो-दो लाख रुपये सहायता देने की घोषणा

राजस्थान : बूंदी की मेज नदी में बस गिरने से 24 लोगों की मौत, 5 घायल

जयपुर। बूंदी जिले के लाखेरी थाना क्षेत्र में कोटा लालसोट मेगा हाईवे पर बुधवार सुबह तेज रफ्तार एक बस मेज नदी में जा गिरी। इस हादसे में 24 यात्रियों की मौत हो गई। पांच यात्री घायल हैं, उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सूचना पर पहुंची पुलिस और रेस्क्‍यू टीम ने तुरंत बचाव कार्य शुरू कर दिया। कलेक्टर अतर सिंह और पुलिस अधीक्षक शिवराज सिंह भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस मृतकों की पहचान कराने में लगी है।

पुलिस अधीक्षक शिवराज सिंह ने बताया कि बस में कुल 30 लोग सवार थे। हादसा होते ही चीख-पुकार मच गई। आसपास के लोग यात्रियों को बचाने के लिए नदी में कूद गए। उसके बाद पुलिस और रेस्क्‍यू टीम ने भी मौके पर पहुंचकर बचाव कार्य शुरू किया, लेकिन तब तक 24 यात्रियों की मौत हो चुकी थी। अधिकतर यात्री कोटा के दादाबाड़ी इलाके से सवाई माधोपुर अपने रिश्तेदारों के यहां मायरा भरने जा रहे थे। आज सुबह साढ़े 11 बजे तक नदी से 24 शव बरामद कर लिए गए हैं। पांच यात्री घायल हैं, उन्हें रेस्क्यू कर बाहर निकालने के बाद लाखेरी के चिकित्सालय में ले जाया गया, जहां से कोटा रेफर कर दिया गया है।

घायलों के मुताबिक कोटा दादाबाड़ी गणेश तालाब निवासी मुरली धोबी का परिवार सुबह एक निजी बस से सवाई माधोपुर नीम की चौकी निवासी बादाम के यहां मायरा लेकर जा रहे था। बादाम की बेटी प्रीति की बुधवार को होने वाली है। सुबह करीब पौने दस बजे कोटा लालसोट मेगा हाईवे के पापड़ी पुलिया पर अन्य वाहन को ओवरटेक करते समय बस चालक ने संतुलन खो दिया और पुल पर लगे सीमेंटेड पिलर तोड़ती हुई बस 70 फीट नीचे मेज नदी में गिर गई। घटना की सूचना पर लाखेरी और बड़ाखेड़ा थाना पुलिस मौके पर पहुंची।उससे पहले आस-पास के ग्रामीण बचाव और राहत कार्य में जुट गए थे।

पुलिस के अनुसार नदी में गिरने के बाद बस उलट गई, जिससे यात्रियों को बाहर निकलने का मौका नहीं मिला। जो यात्री तैरना जानते थे, उनकी जान भी नहीं बची। हादसे में चालक की लापरवाही सामने आई है। बताया जा रहा है कि बस की रफ्तार बहुत तेज थी। मामले की जांच की जा रही है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मेज नदी में मरने वाले सभी यात्रियों के आश्रितों को मुख्यमंत्री सहायता कोष से दो-दो लाख रुपये देने की घोषणा की है।

Updated : 2020-02-26T19:38:48+05:30
Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top