Top
Home > देश > राजस्थान में भाजपा अंगद का पांव, कोई नहीं उखाड़ सकता

राजस्थान में भाजपा अंगद का पांव, कोई नहीं उखाड़ सकता

राजस्थान में भाजपा अंगद का पांव, कोई नहीं उखाड़ सकता

जयपुर। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कार्यकर्ताओं में जीत का मंत्र फूंकते हुए कहा है कि भाजपा राजस्थान में अंगद का पांव है, इसे कोई उखाड़ नहीं सकता है। भारतीय जनता पार्टी को हराना आसान नहीं है।

अमित शाह मंगलवार को जयपुर के सूरज मैदान में आयोजित पार्टी के शक्ति केंद्र सम्मेलन में आए संयोजकों और पदाधिकारों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राजस्थान वीरों की भूमि है। राणा प्रताप, वीर सांगा, दुर्गादास, पन्नाधाय, मीराबाई की भूमि है। हम राणा प्रताप के चेतक की तरह अजेय हैं, यहां का कार्यकर्ता समर्पित होकर काम करता है इसलिए हमें हराना नामुमकिन है।

शाह ने राजधानी में मोती डूंगरी गणेशजी की पूजा अर्चना कर अपने एक दिवसीय दौरे की शुरुआत की। उन्होंने कार्यकर्ताओं को अजेय भारत, नए भारत का नारा देते हुए कहा कि हम नव भारत का निर्माण करना चाहते हैं। हम चाहते हैं कि हर घर में बिजली हो, पानी हो, शौचालय हो, हर खेत को पानी मिले, किसान को उपज को वाजिब दाम मिले। पिछले 70 साल में कई सरकार आईं, कोई काम नहीं हुआ, लेकिन भाजपा सरकार ने आते ही गरीबों, मजदूरों, किसानों, महिलाओं, युवाओं की सत्तर साल की मांगों को पूरा किया।

शाह ने कांग्रेस और उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी जमकर निशाने साधे। उन्होंने कहा कि देश में कितने ही साल राज करने के बावजूद देश की जनता की फिक्र नहीं करना कांग्रेस की फितरत रही है। भाजपा ने सरकार बनाने वाली जनता का दर्द समझकर कई जनहित की योजनाएं शुरू की है। उन्होंने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा, राहुल बाबा जयपुर आए थे और जीत का दावा कर रहे थे। मुंगेरीलाल के सपने देखने से उन्हें कोई नहीं रोक सकता है, लेकिन वे 2014 से इतिहास उठाकर देख लें। 2014 में तीस साल बाद कोई गैर कांग्रेसी पूर्ण बहुमत की सरकार आई और उसके बाद भाजपा की जीत की यात्रा शुरू हुई। महाराष्ट्र, हरियाणा, झारखंड, कश्मीर, मणिपुर, नागालैंड, मेघालय, हिमाचल प्रदेश, गोवा, गुजरात, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में भारी जीत दर्ज की। उन्होंने सलाह देते हुए कहा कि राहुल बाबा दूरबीन से देखने से जीत हासिल नहीं होती। जिस पार्टी के पास भाजपा का कार्यकर्ता है उसे कोई नहीं हरा सकता। भाजपा का बूथ कार्यकर्ता ठान ले तो जीत नामुमकिन नहीं है। उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि जिस पार्टी का एजेंडा नहीं है, नीति नहीं है। उसे चुनाव लड़ने का अधिकार नहीं है। जिस पार्टी में नेता कौन हो, यह तय नहीं है, उसका भविष्य कैसा होगा यह आप लोग समझ सकते हैं। शाह ने कहा कि भाजपा के नेता नरेन्द्र मोदी है और हम उनके नेतृत्व में चुनाव लड़ते हैं। कांग्रेस के जीत के सपने हैं जो नींद खुलते ही टूट जाते हैं। जहां पुरुषार्थ नहीं होता वहां लक्ष्य हासिल नहीं होता।

उन्होंने नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजनशिप का जिक्र करते हुए कहा कि असम में बांग्लादेशी घुसपैठियों की समस्या थी। हमने एक प्रक्रिया शुरू की और चालीस लाख घुसपैठियों की लिस्ट बनाई, लेकिन कांग्रेस ने विरोध किया। शाह ने कहा कि आतंकवादी देश में घुस आते हैं। जयपुर, मुंबई, अहमदाबाद में धमाके करते हैं, सैंकडों मासूम लोग मर जाते हैं, लेकिन कांग्रेस को केवल अपने वोट बैंक की चिंता है। उन्होंने कहा कि देश में एक भी बांग्लादेशी घुसपैठिये को देश में रहने नहीं देंगे, बांग्लादेशी घुसपैठियों को देश से चुन चुन कर निकालेंगे। साथ ही उन्होंने स्पष्ट किया कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान से हिंदू, सिख और बौद्ध धर्म के लोग भी यहां आए हैं, लेकिन वे घुसपैठिए नहीं हैं, शरणार्थी हैं और भारत सरकार उन्हें नागरिकता देगी।

राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर शाह ने कहा कि ये चुनाव किसी विधायक का नहीं, मंत्री का नहीं है और न ही किसी मुख्यमंत्री का चुनाव है। ये चुनाव भाजपा का चुनाव है, इसके हर कार्यकर्ता का चुनाव है। ये चुनाव आपका अपना चुनाव है, इसलिए पूरी ताकत के साथ चुनाव में लगना है। हमें केवल भारत माता की मूर्ति को मन में बैठा लेना है और उसी के लिए यह चुनाव जीतना है। उन्होंने कहा कि राजस्थान की विजय ऐसी होनी चाहिए कि दूसरे राज्यों में जब राजस्थान में भाजपा की जीत की खबर विरोधी पार्टियां देखे तो वो अपनी ही छाती कूट कर मर पड़े। ऐसा कुछ नहीं किया है नरेन्द्र मोदी सरकार ने, ऐसा कुछ नहीं किया है वसुंधरा राजे की सरकार ने, जिससे आपको शर्मिन्दा होने या सिर झुकाने की जरूरत पड़े। सीना ठोक कर भाजपा का कार्यकर्ता आम जनता से वोट मांग सकता है। भाजपा की सरकार ने देश की जनता के साथ उसका हमदर्द बन कर काम किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के चंगू-मंगू, हम्प्टी-डम्प्टी जो इसे हमारा अहंकार कहते हैं, उन्हें अहंकार और आत्म विश्वास में अंतर मालूम नहीं है। कांग्रेस अध्यक्ष को सलाह दी कि आंख मूंदकर और कान बंद कर काम नहीं होगा, हमने विकास किया है और इसी के सहारे हम वापस चुनाव में जीतेंगे।

अमित शाह ने कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा कि 2019 के चुनाव में नरेन्द्र मोदी को पीएम बनाना है। इन चुनावों में एक ऐसी नींव भाजपा की डलेगी, जो अगले 50 सालों तक देश में बरकरार रहेगी। 2019 में एक बार फिर से नरेन्द्र मोदी की सरकार बनेगी, क्योंकि ये देश की जनता का फैसला होगा।

Updated : 2018-09-12T00:42:41+05:30

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top