Top
Home > Lead Story > कश्मीर के लाल चौक पर तिरंगा फहरा सकते है अमित शाह

कश्मीर के लाल चौक पर तिरंगा फहरा सकते है अमित शाह

कश्मीर के लाल चौक पर तिरंगा फहरा सकते है अमित शाह

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर से धारा 370 खत्म होने के बाद केंद्र सरकार श्रीनगर सहित घाटी के अन्य इलाकों में स्वतंत्रता दिवस समारोह बड़े पैमाने पर आयोजित करने की योजना बना रही है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, 73वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर श्रीनगर के ऐतिहासिक लाल चौक पर तिरंगा फहराया जाएगा। वहीं दूसरी और चर्चा इस बात की भी है कि गृह मंत्री अमित शाह 15 अगस्त को श्रीनगर का दौरा करना चाहते हैं। गृह मंत्री 16-17 अगस्त को लद्दाख के दौरे पर जाने वाले हैं।

अमित शाह की श्रीनगर यात्रा के बारे में सरकार अभी कुछ नहीं कह रही है। सरकार का मानना है कि कश्मीर में स्थिति संवेदनशील है और जम्मू-कश्मीर पर लिए गए अपने फैसले को वह वह अपने जीत के रूप में नहीं पेश करना चाहती लेकिन भाजपा स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल चौक पर तिरंगा फहराया जाने को लेकर काफी उत्सुक है।

रिपोर्ट के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर में इस बार स्वतंत्रता दिवस बड़े पैमाने पर मनाने की तैयारी की जा रही है। कश्मीर के पंच एवं सरपंचों के बीच करीब 50 हजार तिरंगा वितरित किया गया है। लाल चौक पर तिरंगा फहराए जाने को लेकर सरकार अंतिम समय में कोई फैसला कर सकती है। लाल चौक पर तिरंगा फहराए जाने को लेकर दो तरह की बातें हैं-कुछ लोगों का मानना है कि यहां तिरंगा फहराना कश्मीरी जनभावना पर एक हमले के रूप में लिया जाएगा और लोगों को दूर करेगा।

वहीं दूसरी तरफ ऐसे लोग हैं जिनकी सोच है कि लाल चौक पर तिरंगा फहराए जाना अनुच्छेद 370 के खात्मे पर भावनात्मक मुहर लगाएगा। श्रीनगर स्थित शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में स्वतंत्रता दिवस समारोह की बड़ी तैयारी की जा रही है। जम्मू-कश्मीर पुलिस और अर्ध सैनिक बलों की टुकडिय़ां यहां परेड का रिहर्सल कर रही हैं। कश्मीर में सुरक्षा एवं शांति कायम रखने में सुरक्षाबलों की अहम भूमिका रही है। चूंकि, कश्मीर अब केंद्रशासित प्रदेश बन गया है इसलिए सुरक्षा बलों में इस बार अलग तरह का उत्साह एवं जोश देखा जा रहा है।

बता दें, 15 अगस्त के दिन लाल चौक पर सीआरपीएफ तिरंगा फहराती आई है और साल 1992 में मुरली मनोहर जोशी और भाजपा कार्यकर्ता नरेंद्र मोदी ने लाल चौक पर तिरंगा फहराकर पाकिस्तान एवं अलगाववादियों को यह संदेश दिया कि कश्मीर भारत का है और यहां राष्ट्रध्वज फहराने से उन्हें कोई नहीं रोक सकता।

गौरतलब है कि हाल ही में पिछले सप्ताह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की 2.0 सरकार ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा दी। जम्मू-कश्मीर में धारा 370 के कमजोर करने के बाद आज नौंवां दिन है। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के दौरान जम्मू कश्मीर के जिलों में धारा 144 लागू की गई थी। जम्मू कश्मीर अब केंद्र शासित प्रदेश बन चुका है और वहां धीरे-धीरे हालात सामान्य हो रहे हैं। वहीं अब जम्मू जिले से धारा 144 हटा दी गई है।

Updated : 13 Aug 2019 2:14 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top